1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. jharkhand health minister banna gupta filed complaint against mla saryu rai grj

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने विधायक सरयू राय के खिलाफ दायर किया शिकायतवाद, ये है पूरा मामला

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के प्रेस सलाहकार संजय ठाकुर ने बताया कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं. भ्रामक और बेबुनियाद आरोप के खिलाफ आज सोमवार को मंत्री बन्ना गुप्ता की ओर से विधायक सरयू राय के खिलाफ जिला न्यायालय में शिकायतवाद दर्ज करवाया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता
Jharkhand News: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता
ट्विटर

Jharkhand News: झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने जमशेदपुर के जिला न्यायालय में पूर्व मंत्री एवं विधायक सरयू राय के खिलाफ शिकायतवाद दायर किया है. इस बात की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री के प्रेस सलाहकार सह पीए संजय ठाकुर ने बताया कि विधायक सरयू राय को एक कानूनी नोटिस भेजा गया था, जिसमें उनके द्वारा लगाये गये आरोपों पर स्वास्थ्य मंत्री से माफी मांगने की बात कही गई थी. नोटिस में कहा गया था कि नोटिस मिलने के तीन दिनों के अंदर सरयू राय, मंत्री बन्ना गुप्ता से माफी नहीं मांगते हैं, तो उनके खिलाफ लीगल एक्शन लिया जाएगा.

कोर्ट में आपराधिक मुकदमा दायर

स्वास्थ्य मंत्री के प्रेस सलाहकार संजय ठाकुर ने बताया कि सत्यमेव जयते. सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं. गलत, भ्रामक और बेबुनियाद आरोप के खिलाफ आज सोमवार को मंत्री बन्ना गुप्ता की ओर से जिला न्यायालय में शिकायतवाद दर्ज करवाया गया है. कोर्ट में मंत्री बन्ना गुप्ता ने मानहानि को लेकर आईपीसी की धारा 499 और 500 के तहत आपराधिक मुकदमा दायर किया है. गौरतलब है कि प्रोत्साहन राशि में कथित अनियमितता को लेकर सरयू राय ने मंत्री बन्ना गुप्ता पर आरोप लगाए थे, जबकि स्वास्थ्य विभाग ने प्रेस रिलीज जारी कर स्पष्ट किया था कि इस मामले में कोई वित्तीय अनियमितता नहीं हुई है और पूरे मामले में नियमानुसार कार्रवाई की गई है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया था स्पष्ट

स्वास्थ्य मंत्री के प्रेस सलाहकार संजय ठाकुर के अनुसार इस मामले में मंत्री बन्ना गुप्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पूरी प्रक्रिया प्रमाणित डॉक्यूमेंट्स के साथ प्रस्तुत किया था और स्थिति स्पष्ट की थी. साथ ही उन्होंने इस मामले में गंदी राजनीति होने के बाद स्वयं एवं मंत्री कोषांग के सभी कर्मियों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि को वापस करने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दे दिया था.

रिपोर्ट: संदीप

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें