1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. domiciles will get preference in tata steel trade apprentice know who will get the benefit smj

टाटा स्टील के ट्रेड अप्रेंटिस में डोमिसाइल वालों को मिलेगी वरीयता, जानें किसको मिलेगा लाभ

टाटा स्टील प्रबंधन ने ट्रेड अप्रेंटिस, 2021 के लिए झारखंड और ओड़िशा के डोमिसाइल को वरीयता देने का फैसला लिया है. पिछले दिनों JMM ने स्थानीय व मूलवासियों की शत-प्रतिशत बहाली की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था. वहीं, बाहरी अभ्यर्थियों की बहाली को लेकर विरोध भी जताया था.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
टाटा स्टील ने ट्रेड अप्रेंटिस में झारखंड और ओड़िशा के डोमिसाइल को वरीयता देने का फैसला लिया.
टाटा स्टील ने ट्रेड अप्रेंटिस में झारखंड और ओड़िशा के डोमिसाइल को वरीयता देने का फैसला लिया.
फाइल फोटो.

Tata Steel Jobs, Jharkhand News (विकास श्रीवास्तव, जमशेदपुर) : टाटा स्टील ने ट्रेड अप्रेंटिस, 2021 बैच को लेकर स्पष्टीकरण जारी किया है. प्रबंधन द्वारा जारी पत्र में स्पष्ट किया गया है कि यह भर्ती टाटा स्टील के झारखंड और ओड़िशा में माइनिंग और मैन्युफैक्चरिंग लोकेशन के लिए है. इसमें झारखंड और ओड़िशा के डोमिसाइल (अधिवास) को वरीयता दी जायेगी. टाटा स्टील के चीफ, कॉरपोरेट कम्युनिकेशन (इंडिया एंड एसईए) सर्वेश कुमार द्वारा जारी पत्र में इसकी जानकारी दी गयी है.

मालूम हो कि अप्रेंटिस में स्थानीय, मूलवासियों की शत-प्रतिशत बहाली की मांग को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने कंपनी गेट पर प्रदर्शन किया था. प्रदर्शन के दौरान बाहरी (दूसरे प्रदेश) अभ्यर्थियों की बहाली का भी विरोध किया गया है. इसी को देखते हुए कंपनी ने डोमिसाइल वालों को वरीयता देने के संबंध में फैसला लेते हुए पत्र जारी किया है.

इधर, आवेदन करने की तिथि को 10 अगस्त से बढ़ा कर 15 तक कर दिया गया है. टाटा स्टील ने ट्रेड अप्रेंटिस (अपरेंटिस संशोधन अधिनियम, 2014 के तहत) 2021 बैच की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किये हैं. जिसके लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त, 2021 कर दी गयी है.

प्रशिक्षण के बाद ऐसे हो सकती है नियुक्ति

नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT), केंद्र सरकार द्वारा संचालित ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट (AITT) में उत्तीर्ण होने और सफलतापूर्वक सभी प्रशिक्षण पूरा करने पर उम्मीदवार को रिक्ति के आधार पर और व्यावसायिक आवश्यकता के अनुसार रोटेटिंग वर्किंग शिफ्टों (शिफ्ट A, B, C और जेनरल शिफ्ट) में टाटा स्टील (माइंस समेत) के किसी भी लोकेशन में या टाटा स्टील की समूह कंपनियों में से किसी एक में रखा जा सकता है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें