1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. birsa fun city water park in galudih at east singhbhum closed till further orders know what is the reason smj

पूर्वी सिंहभूम के गालूडीह में बिरसा फन सिटी वाटर पार्क अगले आदेश तक के लिए बंद, जानें क्या है कारण

जमशेदपुर के गालूडीह बिरसा फन सिटी वाटर पार्क में हादसे के बाद प्रशासन ने इसे बंद कर दिया है. इस पार्क में एक युवक की मौत स्लाइडिंग टब से टकराने से हुई थी. वहीं, इस हादसे के बाद परिजन समेत मृतक के दोस्त काफी गुस्से में हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: गालूडीह के बिरसा वाटर पार्क में युवक की मौत के बाद मौके पर पहुंची पुलिस.
Jharkhand news: गालूडीह के बिरसा वाटर पार्क में युवक की मौत के बाद मौके पर पहुंची पुलिस.
प्रभात खबर.

Jharkhand News: पूर्वी सिंहभूम जिला अंतर्गत गालूडीह के बिरसा फन सिटी वाटर पार्क में हादसे में जमशेदपुर स्थित सिदगोड़ा के जॉन कैवर्त (30 वर्ष) की मौत हो गयी. दरअसल, स्लाइडिंग टब में सिर टकराने से मौत हो गयी. इस हादसे के बाद पुलिस प्रशासन ने वाटर पार्क को सील कर दिया है. गालूडीह थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

क्या है मामला

जॉन सिदगोड़ा के बागुनहातू रोड नंबर तीन का रहने वाला था. वह अपने दोस्तों के साथ वाटर पार्क आया था. दोस्तों ने बताया कि जॉन बड़े पुल में स्नान कर रहा था. इसी बीच स्लाइड से एक महिला पुल की ओर आयी, तभी जॉन उसी स्लाइड के आगे कूद गया, जिससे उसका सिर स्लाइडिंग टब से टकरा गया. सिर के पिछले हिस्से में गंभीर चोट लगी थी. अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उसने दम दोड़ दिया.

हादसे के बाद प्रशासन को पता चला सुरक्षा में है कमी

गालूडीह के बड़बिल स्थित बिरसा फन सिटी वाटर पार्क में हुए हादसे के बाद प्रशासन की नींद खुली. हादसे के बाद जांच के लिए पहुंची प्रशासनिक टीम ने वाटर पार्क में सुरक्षा की कमी एवं क्षमता से अधिक भीड़ लगने की बात कहकर पार्क को सील कर दिया. वहीं, इस मामले की पूरी जांच होने तक पार्क बंद रखने का आदेश दिया गया. घटना के बाद घाटशिला के एसडीओ सत्यवीर रजक, एसडीपीओ कुलदीप टोप्पो, कार्यपालक दंडाधिकारी जय प्रकाश करमानी, घाटशिला सीओ राजीव कुमार, घाटशिला थाना के प्रशिक्षु आइपीएस प्रवीन पुष्कर वाटर पार्क पहुंचे. पार्क में लगे 36 सीसीटीवी कैमरों में कुछ बंद पाये गये. घाटशिला सीओ राजीव कुमार ने खुद पार्क के कार्यालय में जाकर सीसीटीवी फुटेज को खंगाला. पुलिस ने सीसीटीवी के सीडीआर समेत सामान को पार्क से जब्त किया. घटनास्थल पर जांच के बाद कई कर्मचारियों से पूछताछ की.

पार्क सील होने से सैकड़ों लोग हुए परेशान

बताया गया कि वाटर पार्क सुबह 11 बजे से शाम साढ़े चार बजे तक चलता है. मंगलवार को हुए हादसा के बाद दोपहर तीन बजे वाटर पार्क को सील कर दिया गया. ऐसे में वहां अपनों संग मस्ती करने पहुंचे सैकड़ों लोग परेशान हो गये. इस दौरान पुलिस-प्रशासन ने सभी को समझाया. करीब आधा घंटा की मोहलत देकर सभी को वाटर पार्क से बाहर किया. कुछ देर पहले ही पार्क में आये लोगों के आधे पैसे वापस हुए. प्रशासन से कुछ लोगों ने कहा कि हम कुछ देर पहले ही पार्क में आये हैं. इसके बाद पुलिस-प्रशासन ने पार्क के कर्मियों से आधे पैसे वापस कराया. इसके बाद कइयों के पैसे लौटाये गये. वाटर पार्क के गेट में काफी देर तक पैसे लौटाने की मांग को लेकर जाम लगा रहा.

जॉन के दोस्तों ने कहा- हम मस्ती करने आये थे, सुरक्षा की कमी से जान गयी

सिदगोड़ा निवासी जॉन कैवर्त अपने छह दोस्तों के साथ वाटर पार्क में मस्ती करने गया था. हालांकि पार्क में सुरक्षा की कमी के कारण जॉन की मौत हो गयी. घटना के बाद शोक में डूबे दोस्तों एवं परिजनों ने कहा कि वाटर पार्क मालिक उचित मुआवजा दे, अन्यथा शव लेकर घर नहीं जायेंगे. शाम को शव का पोस्टमार्टम घाटशिला में हो गया. परिजन और दोस्त वाटर पार्क मालिक से उचित मुआवजा की मांग पर शव उठाने से इंकार करते हुए अस्पताल में बैठे रहे. देर शाम तक शव लेकर परिजन घर नहीं गये थे.

मजदूरी करता था जॉन, बच्चे एवं पत्नी को कौन देखेगा

परिजनों का कहना है वाटर पार्क की सुरक्षा में चूक से घटना हुई है. इसके जिम्मेदार पार्क मालिक हैं. मृतक गरीब है. उसके दो छोटे-छोटे बच्चे एवं पत्नी का क्या होगा. जॉन मजदूरी कर परिवार चलाता था. अब बच्चों और परिवार का गुजारा कैसे होगा. उचित मुआवजा मिलने शव नहीं उठायेंगे. सुबह 11 बजे वाटर पार्क पहुंचे थे जॉन व उसके दोस्त. जॉन के दोस्तों ने बताया कि वे लोग सुबह 11 बजे के बाद वाटर पार्क पहुंचे. टिकट लेकर वाटर पार्क के अंदर गये. वहां स्वीमिंग पुल में नहाने लगे. इस दौरान हादसा हो गया. उसे आनन-फानन में उठाकर पार्क के वाहन से निरामय हेल्थ केयर लाया गया. यहां स्थिति गंभीर देखते हुए चिकित्सक ने अनुमंडल अस्पताल रेफर कर दिया. अनुमंडल अस्पताल में चिकित्सा प्रभारी डॉ शंकर टुडू और रेश्मी बाड़ा ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया.

वाटर पार्क में सुरक्षा नहीं, जांच के बाद कार्रवाई होगी

घाटशिला के एसडीओ सत्यवीर रजक और एसडीपीओ कुलदीप टोप्पो ने बताया कि यह वाटर पार्क सुरक्षा मानकों को पूरा नहीं करता है. यहां क्षमता से अधिक भीड़ होती है. बाउंसर और सुरक्षा गार्ड की कमी है. घटना की जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी.

Prabhat Khabar App: देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढे़ं यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए प्रभात खबर ऐप.

FOLLOW US ON SOCIAL MEDIA
Facebook
Twitter
Instagram
YOUTUBE

Posted By: Samir Ranjan.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें