1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. 25th anniversary of prabhat khabar tata settles city prabhat khabar decorated prt

प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ : टाटा ने शहर बसाया, प्रभात खबर ने सजाया

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ
प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ
Prabhat Khabar

जब से प्रभात खबर ने शहर में दस्तक दी, तब से इसका मुरीद हूं. इसने शहर को एक नयी दिशा देने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है. सभी समाज की तहजीब व उसके रहन-सहन, पर्व-त्योहार पर ओजपूर्ण कवरेज देकर समाज को जोड़ने का काम किया है.

-हाजी हिदायतुल्लाह खान, प्रदेश अध्यक्ष, मुस्लिम फ्रंट

प्रभात खबर ने शहर की संस्कृति काे बड़े शहरों के रूप में दिखाने का काम किया. यहां के लोगों की समस्याएं और उम्मीदें अखबार पर काफी हद तक निर्भर हैं. प्रभात खबर ने सभी वर्ग-समुदायों के बीच आपसी मेल-मिलाप का माहौल कायम करने की दिशा में अग्रत्तर भूमिका निभायी.

-शकील आजमी, आरटीआइ कार्यकर्ता

प्रभात खबर में सभी विषयों पर अच्छी और रोचक जानकारियों से परिपूर्ण खबरें लोगों को पढ़ने काे मिल जाती हैं, जिसकी वजह से शिक्षा, समाज, विज्ञान, अविष्कार से जुड़े लोगों व प्रतिभाआें को नयी तकनीक की जानकारियां मिलती हैं. यह बहुत ही विश्वनीय खबर अपने पाठकों को देता है.

-डॉ अलीमुद्दीन खान, हृदय रोग विशेषज्ञ

प्रभात खबर शरीर में अॉक्सीजन देने का काम करता है. समाज के सभी वर्गों को संतुलित करने से साथ-साथ यह अखबार शिक्षा से लेकर प्रतिभाओं को निखारने तक में अहम भूमिका निभाता है. अपना सामाजिक दायित्व भी बखूबी निभाता है.

-डॉ सैय्यद रजी

प्रभात खबर की पूरी टीम को बधाई देते हुए गर्व हो रहा है यह अखबार हिंदुस्तानी जम्हूरियत की रक्षा का अलमबरदार है. यह तालीमी जागरूकता फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. लगातार नंबर वन रहते हुए यह 25वीं वर्षगांठ पूरा करने जा रहा है.

-मौलाना अबु हुरैरा, पेश-ए-इमाम, मक्का मस्जिद

जब से मैं शहर में आया हूं, प्रभात खबर का नियमित पाठक हूं. यह मेरी दिनचर्या में शामिल हो गया है. अखबार को नियमत रूप से पढ़ता हूं, क्योंकि यह समाजिक जिम्मेदारियों को निभाने का काम करता है. धर्म, शिक्षा, रोजगार आदि खबरों को प्रमुखता दी जाती है.

-काजी मुश्ताक अहमद, पेश-ए-इमाम, कादरी मस्जिद

प्रभात खबर जमशेदपुर की शान है. यहां सभी धर्मों के लोग पूरे भारत से आकर रहते हैं. सभी की तहजीब, संस्कृति, रहन-सहन और जुबान अलग–अलग है, लेकिन प्रभात खबर ने एक दूसरे के बीच दूरी कम कर लाेगों को जोड़ने का काम किया है. इसकी पूरी टीम को बधाई.

-काजी सउद आलम, प्रमुख, इमारत-ए-शरिया जमशेदपुर

टाटा ने इस शहर को बसाने के लिए जो सपना देखा था, प्रभात खबर ने उसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभायी. मंदिरों के आयोजनों की खबरें हों या मस्जिदों में नमाजों की अदायगी या फिर चर्च-गिरजा घरों की एक्टिविटी सब कुछ इस अखबार के माध्यम से मिलती है.

-हसन इमाम मल्लिक, चीफ हैंडबॉल कोच, टाटा स्टील

नियमित रूप से प्रभात खबर का पाठक रहा हूं. इस अखबार में सभी मजहब व मिल्लत के बारे में इत्मिनान बख्शी खबरें मिलती हैं. समाजिक कार्यक्रम हाें या फिर शिक्षा, सभी काे प्रभात खबर प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है. इसमें हर खबर दिख जाती है, जिसके लिए यह जाना जाता है.

-माेहम्मद सफदर, समाजसेवी

प्रभात खबर झारखंड का एेसा अखबार है, जिसे संपूर्ण और विश्वनीय अखबार कहा जाता है. खबरें बहुत अासान भाषा में होती हैं. यह खबरों की निष्पक्षता और गुणवत्ता के लिए जाना जाता है. क्राइम से लेकर विभिन्न समाज की सभी प्रमुख खबरें अखबार में मिल जाती हैं.

-हाजी फिराेज खान, अध्यक्ष, इत्तेहादुल मुस्लमिन

मीडिया जम्हूरियत की बुनियाद है. प्रभात खबर हिंदी अखबार है, लेकिन इस की भाषा इतनी सरल और आसान है कि हर अरबी, फारसी और उर्दू पढ़नेवाला इसे मुक्कमल तरीके से पढ़ लेता है. उन्हें किसी तरह की दिक्कत इस अखबार काे पढ़ने में नहीं हाेती है.

-अजमेरी खान, समाजसेवी

कंम्प्यूटर और आधुनिक तकनीक में लाइब्रेरियों और किताबों पर नवजवानों का एक बड़ा तबका पिछड़ रहा है. अब डिजिटल दुनिया में प्रवेश कर गये हैं, लेकिन प्रभात खबर ने इस युग में अखबारों और किताबों के अस्तित्व की चुनौतियों को स्वीकारा है.

-इम्तियाज अहमद, महासचिव, मुस्लिम लाइब्रेरी

प्रभात खबर मुस्लिम समुदाय के हर आयाेजन का हिस्सा है. छाेटी-बड़ी खबरें प्रमुखता के साथ प्रकाशित की जाती हैं. किसी भी सूचना काे घर-घर तक पहुंचाने का प्रभात खबर एक मजबूत माध्यम है, जिसे लाेग स्वीकार कर पहली पसंद के रूप में लेते हैं. इसकी पूरी टीम को हार्दिक बधाई.

-रियाज शरीफ, एआइएमआइएम

मेरी मादरी जुबान उर्दू है, लेकिन प्रभात खबर हिंदी अखबारों में नंबर एक अखबार है. यह पूरे राज्य काे लीड करनेवाला अखबार है. इसके स्थायी पाठकाें की संख्या लाखाें में है. कभी शहर से बाहर रहें तो इ-पेपर से शहर की जानकारियां आसानी से मिलती हैं.

-डॉ अफसर काजमी, एचओडी, उर्दू विभाग, करीम सीटी कॉलेज

25 वर्ष पूरे करने पर प्रभात खबर आैर उसकी पूरी टीम काे बधाई. मैं प्रभात खबर का नियमित पाठक हूं. ईद, बकरीद से लेकर हमारे सभी त्योहारों की बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारियां प्रभात खबर में प्रकाशित होती हैं. दुआ है कि यह अखबार इस शहर के अमन व अमान को कायम रखने में एसे ही भूमिका निभता रहे.

-सगीर अहमद अंसारी, प्रमुख, माेमिन-ए-कांफ्रेंस

मैं माध्यमिक स्कूल में था, तब से प्रभात खबर का पाठक हूं. सुबह अखबार नहीं देखने पर एेसा लगता है कि कुछ भूल गया हूं. फिर इसे पढ़ता हूं. सामाजिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए हम सभी की खबरों को प्रभात खबर प्रमुखता से प्रकाशित करता है.

-आफताब अहम सिद्दकी, महासचिव, एआइएमआइएम

मैं प्रभात खबर का स्थापना काल से पाठक हूं. खबरों के चयन में प्रभात खबर ने कभी भी पक्षपात नहीं किया. गंगा-जमुनी तहजीब को बढ़वा देने में प्रभात खबर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. इसकी विश्वनीयता का सबसे बड़ा कारण है कि यह सभी वर्गों की नुमाइंदगी करता है.

-कारी इसहाक अंजुम, पेश-ए-इमाम, कीताडीह मस्जिद

सुबह की नमाज के बाद मुझे प्रभात खबर पढ़ने का मौका मिलता है. इसके तेवर गजब के हैं. यह सभी वर्गों की खबरों और सामाजिक गतिविधियों को प्रमुखता से प्रकाशित करता है. कई कार्यक्रमों को आयोजित करने का मौका मिला, उसकी खबरें पूरी तरह प्रकाशित हुईं. मै बचपन से ही प्रभात खबर का पाठक हूं.

-मो नौशाद आलम, अध्यक्ष, जुगसलाई कब्रिस्तान कमेटी

प्रभात खबर के 25 साल पूरे होने पर इसकी पूरी टीम को मुबारकबाद. मैं उस वक्त से पढ़ रहा हूं, जब इसका प्रकाशन रांची से हुआ करता था. प्रभात खबर ने जमशेदपुर में आकर अपना एक मजबूत जनाधार बनाया. आज यह नंबर वन अखबार है.

-हसन रिजवी, अध्यक्ष, रुहानी मर्कज

अरबी, फारसी और उर्दू के अतिरिक्त मैं चारों वेदों को भी जानता हूं. इसलिए इस अखबार के अध्ययन से चार चांद लग जाते हैं. यह सभी वर्गों और समाज की साझा सांस्कृतिक धरोहर है. इसकी भाषा इतनी सरल है कि इसे हर काेई आसानी से पढ़-समझ सकता है. यह सभी वर्ग का अखबार है.

-मौलाना हन्नान चतुर्वेदी, शिक्षक, मदरसा फैजुल उलूम

आम लोगों की आवाज है प्रभात खबर. सड़क से संसद तक पहुंचती है इसकी आवाज. सभी जानकारियां सफागोई से लिखी जाती हैं. अखबारों में मेरी पहली पसंद प्रभात खबर है. जब भी दूसरे शहर में रहता हूं, तो पहले प्रभात खबर ही खोजता हूं. यह मेरी दिनचर्या का हिस्सा बन गया है.

-रूहुल जमील अहमद, अध्यक्ष, झारखंड मोमिन वेलफेयर सोसाइटी

पूरे राज्य में सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला प्रभात खबर जमशेदपुर में अपनी 25वीं वर्षगांठ मना रहा है. इस अखबार ने सभी मजहब के जलसों, जुलूसों और कार्यक्रमों को निष्पक्षता के साथ प्रकाशित कर समाज को जोड़ा. मैं सुबह की नमाज के बाद प्रभात खबर जरूर पढ़ता हूं.

-एसएम हैदर, महासचिव, हुसैनी मिशन वेलफेयर साेसयटी

प्रभात खबर संयुक्त बिहार-झारखंड में हिंदी पत्रकारिता का सिरमौर है. एक ऐसे समय में जब हमारा मीडिया संतुलित नहीं है और सवाल खड़े करने से कतरा रहा है, प्रभात खबर ने न केवल निष्पक्षता कायम रखी है.

-प्रो याहिया इब्राहिम, विभागाध्यक्ष अंग्रेजी, करीम सिटी कॉलेज जमशेदपुर

प्रभात खबर की सबसे बड़ी खूबी है कि यह हर किसी के साथ खड़ा रहता है. यही सबसे अलग बनाता है. अखबार में हर खबर काे प्रमुखता प्रदान की जाती है. सूचनात्मक खबराें का प्रकाशन अवश्य किया जाता है, जिससे लाेग इसे एक बार जरूर पढ़ना चाहते हैं.

-डॉ अफराेज शकील, समाजसेवी

प्रभात खबर सभी संगठनाें का प्रतिनिधित्व करता है. हर समाज की गतिविधियां इसमें दिखती हैं. व्यापार, राजनीति आैर खेल की खबराें काे काफी महत्व दिया जाता है. यही कारण है कि यह मुस्लिम समुदाय में पढ़ा जाता है. खबराें में न ताे किसी तरह का भेदभाव हाेता है.

-माेहम्मद नाैशाद

Post by : Prirtish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें