1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. police lathicharge in gumla district of jharkhand during lockdown

Gumla : लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी कर खरीद रहे थे कटहल, पुलिस ने बरसायी लाठियां

By Mithilesh Jha
Updated Date
45 कटहल खरीदने के लिए जुट गये थे 50 खरीदार. आपाधापी मची, तो पुलिस को भंजनी पड़ी लाठियां.
45 कटहल खरीदने के लिए जुट गये थे 50 खरीदार. आपाधापी मची, तो पुलिस को भंजनी पड़ी लाठियां.
दुर्जय पासवान

दुर्जय पासवान

गुमला : झारखंड (Jharkhand) के गुमला जिला (Gumla District) में सुबह नौ बजे परमवीर अलबर्ट एक्का स्टेडियम (Paramveer Albert Ekka Stadium) में कटहल खरीदने को लेकर लोग आपस में उलझ गये. भीड़ लगी, तो पुलिस ने तड़ातड़ लाठियां बरसा दी. लॉकडाउन (Lockdown) और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के दौर में कटहल बेचने पहुंचे किसान को लोगों ने घेर लिया. किसान परेशान, हताश व डरा हुआ था. हर कोई कटहल खरीदना चाह रहा था, लेकिन उसके पास उतने कटहल थे नहीं. इसलिए लोगों में आपाधापी मच गयी थी.

किसान एक बोरा कटहल बेचने के लिए बाजार पहुंचा था. उसके ऊपर आफत टूट पड़ी, जब भारी संख्या में लोग वहां कटहल खरीदने पहुंच गये. गुमला के एसडीओ जीतेंद्र कुमार देव की पहल पर ग्राहकों को कतार में खड़ा किया गया. इसके बाद स्थिति सामान्य हुई. 15 मिनट में किसान का कटहल हाथोंहाथ बिक गया. एक पीस कटहल 20 रुपये से 50 रुपये प्रति पीस तक बिका.

Gumla : लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी कर खरीद रहे थे कटहल, पुलिस ने बरसायी लाठियां

हुआ यूं कि सुबह साढ़े आठ बजे पालकोट प्रखंड के किसान भीखा साहू अपने बेटे के साथ गुमला बाजार पहुंचे. एक बोरा कटहल व कुछ सब्जी लेकर. जैसे ही वह कटहल की बोरी लेकर स्टेडियम में लगी बाजार में घुसे, सब्जी खरीदने पहुंचे कुछ लोगों की नजर उन पर पड़ी. कटहल देखते ही लोगों ने उन्हें घेर लिया.

किसान भीखा ने जैसे ही कटहल की बोरी खोली, लोग पैसे लेकर उनके सामने खड़े हो गये. उनके पास 45 कटहल थे, लेकिन खरीदारों की संख्या 50 से अधिक थी. सबसे पहले कटहल खरीदने के लिए ग्राहक आपस में ही उलझ गये. तभी वहां पुलिस के जवान पहुंच गये. ग्राहकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खरीदारी करने की अपील कर रहे थे.

खरीदार मानने के लिए तैयार ही नहीं थे. किसान को ग्राहकों ने परेशान करना शुरू कर दिया. अंत में पुलिस के जवान ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठी भांजनी शुरू कर दी. परंतु, कटहल खरीदने की जिद ऐसी थी कि लोग लाठी खाकर भी किसान से अलग नहीं हो रहे थे. अंत में एसडीओ जीतेंद्र कुमार देव पहुंचे. उन्होंने लोगों को समझाया. सभी को कतार में खड़ा किया और 15 मिनट के अंदर कटहल खत्म हो गये.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें