1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand news animal smuggling in gumla via chhattisgarh villagers caught 3 animal smugglers blocked the road for hours in protest smj

छत्तीसगढ़ के रास्ते गुमला में होती पशु तस्करी, ग्रामीणों ने 3 पशु तस्करों को पकड़कर घंटों किया सड़क जाम

छत्तीसगढ़ के रास्ते गुमला में हो रही पशु तस्करी का ग्रामीणों ने विरोध करना शुरू कर दिया है. सोमवार की देर रात गुमला के कोंडरा गांव के ग्रामीणों ने पशु लदे पिकअप वैन सहित 3 पशु तस्करों को पकड़ा है. पशु तस्करी के विरोध में ग्रामीणों ने कोंडरा-चटकपुर मुख्य मार्ग को घंटो जाम रखा.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
3 पशु तस्करों को घेरे बैठे गुमला के कोंडरा गांव के ग्रामीण. विरोध में घंटों किया सड़क जाम.
3 पशु तस्करों को घेरे बैठे गुमला के कोंडरा गांव के ग्रामीण. विरोध में घंटों किया सड़क जाम.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (दुर्जय पासवान, गुमला) : गुमला जिला अंतर्गत रायडीह प्रखंड के सुरसांग थाना स्थित कोंडरा गांव में सोमवार की देर रात को ग्रामीण, विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल के लोगों ने पशु तस्करों को पकड़ा. एक पिकअप वैन में पशुओं को ठूंस कर छत्तीसगढ़ के रास्ते गुमला लाया गया था. ग्रामीणों ने पिकअप सहित पशुओं को जब्त कर लिया. इस दौरान 3 पशु तस्करी को पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया. इधर, पशु तस्करी के विरोध में ग्रामीणों ने कोंडरा-चटकपुर मुख्य मार्ग को घंटों जाम किया. थाना प्रभारी के समझाने के बाद ग्रामीणों ने जाम खत्म किया.

ग्रामीणों ने बताया कि गाड़ी में पशुओं को ठूंस कर लादा गया था. इस कारण कई पशु घायल थे. ग्रामीणों ने 3 पशु तस्करों को भी पकड़ा. इनमें गुमला थाना के कतरी गांव निवासी जफान खान, उसमान खान व कोटाम गांव के मोहम्मद फारूक अंसारी है. ग्रामीण इन तीनों पशु तस्करों को रात को बांधकर रखे. इसके बाद सुरसांग थाना की पुलिस को सौंप दिया.

इन दिनों बढ़ रहे पशु तस्करी के विरोध में ग्रामीणों ने दो घंटे तक कोंडरा-चटकपुर गांव का मुख्य मार्ग जाम कर दिया. 6- 7 गांव के ग्रामीणों ने सड़क जाम किया. सभी लाठी-डंडा से लैस थे. ग्रामीणों ने कहा कि 3 महीना पहले पशु तस्करी पर रोक लग गयी थी. फिर अचानक कैसे पशुओं की तस्करी शुरू हो गयी.

ग्रामीणों ने पुलिस से पशु की तस्करी पर रोक लगाने की मांग की है. साथ ही कहा कि अब भी पशु तस्करी पर पुलिस रोक नहीं लगाती, तो ग्रामीण खुद कार्रवाई करते हुए पशु को जब्त करेंगे और पशु तस्करों को पकड़ेंगे. ग्रामीण के उग्र रूप को देखते हुए सुरसांग थाना प्रभारी संदीप राज ने ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए कहा कि थाना क्षेत्र में किसी प्रकार से गोवंशी पशु की तस्करी नहीं होगी. पुलिस पूरी तरह से इसपर नजर रखेगी. गोवंशी पशु तस्करी से जुड़े लोगों को चिह्नित कर कार्रवाई किया जायेगा.

इधर, थाना प्रभारी श्री राज के समझाने के बाद ग्रामीण मुख्य सड़क से हटे. ग्रामीण द्वारा सौंपे गये पिकअप वैन के साथ 12 पशु व 3 पशु तस्कर को पुलिस ने हिरासत में लेकर सुरसांग थाना पहुंचे. इस मामले को लेकर थाना में पशु क्रूरता अधिनियम एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

छत्तीसगढ़ के रास्ते से होते ही तस्करी

गुमला जिला का सीमावर्ती क्षेत्र छत्तीसगढ़ राज्य है जो रायडीह प्रखंड सटता है. गुमला में छत्तीसगढ़ राज्य से पशु की तस्करी होती है. पहले गरीब मजदूरों के माध्यम से पशुओं को चोरी- छिपे हांकते हुए गुमला में प्रवेश कराया जाता था, लेकिन रायडीह से सटे गांव के लोग जब पशु तस्करी के खिलाफ खड़े हुए, तो अब चोरी-छिपे रात के अंधेरे में गाड़ियों में ठूंस कर पशुओं की तस्करी करायी जा रही है. बजरंग दल के संयोजक मुकेश सिंह ने कहा कि प्रशासन पशु तस्करी पर रोक लगाये.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें