1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand finance minister rameshwar oraon write a letter to nitin gadkari for gumla bypass road grj

Jharkhand News: गुमला बाइपास सड़क व पंचायत चुनाव को लेकर क्या बोले झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव

वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि गुमला बाइपास सड़क का मुद्दा उठने के बाद उन्होंने मुख्य अभियंता जेपी सिंह से संपर्क करने का प्रयास किया था, पर जब से वे मुख्य अभियंता बने हैं. उनसे बात नहीं हो पा रही है. क्यों सड़क अब तक पूरी नहीं बनी है. इस पर वे अभियंता से बात करेंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News: सर्किट हाउस में बातचीत करते मंत्री रामेश्वर उरांव
Jharkhand News: सर्किट हाउस में बातचीत करते मंत्री रामेश्वर उरांव
प्रभात खबर

Jharkhand News: झारखंड के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा है कि गुमला शहर की लाइफलाइन बाइपास सड़क नहीं बनना चिंता की बात है. बाइपास सड़क गुमला शहर के लिए सबसे बड़ा मुद्दा है. इसके बाद भी सड़क नहीं बन रही है. इसके लिए वे खुद गंभीर हैं. इस संबंध में वे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर बाइपास सड़क की स्थिति से अवगत करायेंगे. उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव की तैयारी पूरी कर ली गयी है. शनिवार को वे गुमला सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे.

हर हाल में बनेगी गुमला सड़क

वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि गुमला बाइपास सड़क का मुद्दा उठने के बाद उन्होंने मुख्य अभियंता जेपी सिंह से संपर्क करने का प्रयास किया था, पर जब से वे मुख्य अभियंता बने हैं. उनसे बात नहीं हो पा रही है. क्यों सड़क अब तक पूरी नहीं बनी है. इस पर वे अभियंता से बात करेंगे. उन्होंने जिला बीस सूत्री के सदस्य रमेश कुमार को भूख हड़ताल नहीं करने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि सड़क हर हाल में बनेगी. इसके लिए मैं प्रयास कर रहा हूं. गुमला ही नहीं पूरे राज्य में अधिकारियों की कमी है. यह समस्या कोरोना महामारी के कारण आयी है. परीक्षा नहीं हो रही है. जिस कारण नये अधिकारी नहीं मिल पा रहे हैं. हमारी सरकार परीक्षा कराकर नियुक्ति कराने में लगी हुई है.

पंचायत चुनाव को लेकर तैयारी पूरी

कोरोना महामारी में लोगों को भोजन व कपड़ा मिले. यह पहली प्राथमिकता है. गुमला अस्पताल की जो भी समस्या है. उन समस्याओं को दूर किया जायेगा. डॉक्टरों की कमी व व्यवस्था में सुधार होगा. उन्होंने कहा कि देश के दक्षिण क्षेत्र को छोड़ दिया जाये तो पूरे राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था एक बड़ी समस्या है. उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव को लेकर तैयारी पूरी है. मौके पर नप अध्यक्ष दीपनारायण उरांव, रोशन बरवा, रमेश कुमार, अकील रहमान, आशिक अंसारी, मुरली मनोहर प्रसाद, आजाद अंसारी, रोहित उरांव विक्की, भैयाराम उरांव, पंकज सिंह सहित कई लोग थे.

पुराने भवन को तोड़कर समाहरणालय बने

अधिवक्ता अरूण कुमार ने मंत्री से कहा कि पुराने भवन को ही तोड़कर समाहरणालय भवन बने. चंदाली में समाहरणालय बनाने से कई प्रकार की परेशानी होगी. खासकर अधिवक्ताओं को हर समय कचहरी छोड़कर चार किमी दूर जाना पड़ेगा. इस संबंध में मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि कंडम घोषित समाहरणालय का निर्माण होगा. इसके लिए जगह का चयन कर स्वीकृति प्रदान करने के बाद ही काम शुरू होगा.

रिपोर्ट: जगरनाथ

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें