1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. hooliganism of officers in gumla district of jharkhand sdo and dto took fine beats two youth and threatened to implicate in false case mtj

ये अफसरों की गुंडागर्दी नहीं तो और क्या है! एसडीओ व डीटीओ ने फाइन काटा, पिटाई की और झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एसडीओ व डीटीओ ने फाइन काटा, पिटाई की और झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी. चोट खाये युवक ने लगाया आरोप.
एसडीओ व डीटीओ ने फाइन काटा, पिटाई की और झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी. चोट खाये युवक ने लगाया आरोप.
Durjay Paswan

गुमला (दुर्जय पासवान) : इसे अफसरों की गुंडागर्दी नहीं तो और क्या कहेंगे! वाहन चेकिंग कर रहे दो अधिकारियों ने फाइन काटा. जुर्माना वसूला और उसके बाद दो युवकों को लाठी से पीट दिया. युवकों ने इसका विरोध किया, तो अफसरों ने झूठे केस में फंसाने की धमकी देनी शुरू कर दी. मामला झारखंड के उग्रवाद प्रभावित जिला गुमला का है.

जिला परिवहन विभाग ने रविवार (11 अक्टूबर, 2020) को गुमला शहर के सिसई रोड स्थित छठ तालाब के समीप वाहन जांच अभियान चलाया. इसी दौरान दो युवकों के वाहन का चालान काटा. इनसे जुर्माने की वसूली की और बाद में लाठी से इन्हें पीटा भी. युवकों ने वरीय अधिकारियों से शिकायत करने की बात कही, तो एक अधिकारी ने युवक को झूठे केस में फंसाने की धमकी दी.

घटनास्थल पर मौजूद पत्रकार ने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना लिया, तो उसके मोबाइल फोन से वीडियो को जबरन डिलीट करवा दिया. अनुमंडल पदाधिकारी (एसडीओ) ने उस पत्रकार का प्रेस कार्ड भी जब्त कर लिया. वाहन जांच के दौरान जिस शख्स को पीटा गया, उसमें एक कांग्रेस सेवा दल का नगर अध्यक्ष है. उसका नाम है राजा.

राजा के शरीर पर चोट के गंभीर निशान हैं. पीठ व बांह में बाम उखड़ गया है. राजा ने बताया कि उसे लाठी से पीटा गया. हाथ से भी मारा गया. पिटाई से उसके कान सुन्न हो गये थे. कुछ देर तक तो कुछ सुनाई भी नहीं दे रहा था. वहीं, बादल साहू नामक छात्र ने हेलमेट नहीं पहना था. इसके एवज में उसने एक हजार रुपये जुर्माना भरा. इसके बाद भी उसे अधिकारी ने पीटा.

परिवहन नियम का उल्लंघन करने पर कई लोगों के चालान काटे गये.
परिवहन नियम का उल्लंघन करने पर कई लोगों के चालान काटे गये.
Durjay Paswan

दोनों युवकों ने एसडीओ रवि आनंद व डीटीओ विजय सिंह बिरूवा पर पिटाई करने का आरोप लगाया है. वहीं, दोनों अधिकारियों ने किसी को भी पीटने की बात से इनकार किया है. यहां तक कि मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों ने भी कहा कि किसी को नहीं पीटा गया है. छात्र बादल साहू ने कहा कि उसने हेलमेट नहीं पहना था. उससे एक हजार रुपये लिये गये. जब उसने जुर्माना की राशि के बारे में जानकारी मांगी, तो उसे पीट दिया गया.

उधर, गुमला के एसडी रवि आनंद ने किसी की पिटाई करने से साफ इनकार किया है. हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि एक पत्रकार का कार्ड उन्होंने अपने पास रख लिया है. उन्होंने कहा कि प्रेस कार्ड की अवधि खत्म हो जाने की वजह से उसे उन्होंने जब्त किया है. यह कार्ड कल वापस कर देंगे. उन्होंने कहा, ‘मैंने किसी को नहीं पीटा. न ही किसी की पिटाई किये जाने की मुझे जानकारी है.’

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें