1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. gumla murder case update everyone knows about the gumla murder case update yet it is silent this reason for the murder is being expressed as feared srn

Gumla Murder Case : गुमला नरसंहार के बारे जानते हैं सब, फिर भी हैं चुप, पिछले 8 सालों में जिले में हुई है इतनी हत्या

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
ranjan kumar singh murdered
ranjan kumar singh murdered
photo : twitter

Jharkhand News, Gumla News, Gumla murder case update गुमला : कामडारा के पहाड़गांव आमटोली में आदिवासी परिवार के पांच सदस्यों की हत्या के पीछे डायन बिसाही की आशंका व्यक्त की जा रही है, चूंकि मृतक निकोदिन तोपनो व उसकी पत्नी जोसफिना तोपनो गांव के सबसे वृद्ध हैं. इस गांव में बीमारी व अन्य प्रकोपों को लेकर डलिया दिखाने की भी परंपरा है.

साथ ही नरसंहार की घटना के एक दिन पूर्व गांव में कुछ लोगों ने बैठक भी की है. बैठक के बाद ही नरसंहार की घटना को अंजाम देने की आशंका व्यक्त की जा रही है. हालांकि यह सभी मामले पुलिस के प्राथमिक अनुसंधान में सामने आये है, परंतु पुलिस ठोस सबूत की तलाश में जुटी है, जिससे नरसंहार के आरोपियों को पकड़ा जा सके. पुलिस के अनुसार एक ही परिवार को टांगी व लोहे के औजार से मारा गया. जब मारा जा रहा था, तब परिवार के लोग चिल्लाये होंगे.

गांव के अन्य लोग आवाज सुने होंगे. क्योंकि हत्या देर शाम की है. उस समय लोग जगे हुए थे. इसके बाद भी इतनी बड़ी घटना पर गांव के लोग चुप हैं. सबकुछ जानते हुए भी कोई कुछ बताने को तैयार नहीं है. हालांकि पुलिस ने 10 से 12 लोगों को हिरासत में लेकर कामडारा थाना में रखा गया है, जहां एक-एक कर सभी से पूछताछ की जा रही है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गांव के कुछ लोगों से गुप्त रूप ये पूछताछ की गयी है. उनलोगों ने एक दिन पहले गांव में बैठक होने की जानकारी दी है.

मासूम की हत्या से दुखी हैं लोग :

जिसने भी सुना कि पांच लोगों की हत्या हो गयी. उसमें एक मासूम को भी मार डाला गया. इससे सभी लोग दुखी हो गये. विधायक, डीसी, एसपी, एसडीपीओ समेत अन्य लोगों ने मासूम अलबिन की हत्या पर चिंता प्रकट की. कुछ लोगों ने कहा कि परिवार से इतना ही डर था, तो मासूम को कम से कम नहीं मारते. इधर, पुलिस के अनुसंधान में यह बात भी सामने आ रही है कि अपराधियों की मंशा सिर्फ निकोदिन व उसकी पत्नी जोसफिना को मारने की थी, परंतु अपराधियों को लगा होगा कि मृतक के बेटा, बहू व पोता पुलिस को बता सकते हैं. इसलिए उनलोगों को भी मार डाला गया.

कामडारा में होते रहा है नरसंहार :

कामडारा प्रखंड क्षेत्र में नरसंहार की घटना घटते रही है. इससे पूर्व 18 सितंबर 2006 को कामडारा के कुरकुरा में छह लोगों की हत्या कर दी गयी थी. उस समय पूरा राज्य हिल गया था. सरकार में हलचल मच गयी थी. वहीं दूसरी घटना 24 दिसंबर 2014 को कामडारा के मुरगीकोना गांव में सात लोगों की हत्या कर दी गयी थी. उस समय भी पुलिस महकमा हिल गया था. इसके बाद पहाड़गांव की यह तीसरी नरसंहार की घटना है, जिसमें पांच लोगों की हत्या कर दी गयी.

रिश्तेदारों ने कहा, मिलनसार था यह परिवार

रिश्तेदार सेलिन तोपनो व लीलमनी तोपनो का घर मृतक परिवार के घर के बगल में है, परंतु उनलोगों को हत्या की जानकारी नहीं मिली. इन दोनों महिलाओं ने कहा कि हमलोग सो गये थे. इस कारण इतनी बड़ी घटना की जानकारी नहीं मिली. उन्होंने यह भी बताया कि निकोदिन का परिवार गांव में सबसे शांत व मिलनसार परिवार था. किसी से उका कोई विवाद नहीं था. इसके बाद भी उनलोगों को मार डाला गया.

पुलिस की जांच में हुए खुलासे

नरसंहार के एक दिन पहले पहाड़गांव में बैठक होने की सूचना

गांव में डलिया देखने की परंपरा, डलिया देखने के बाद हुआ नरसंहार

मृतक निकोदिन तोपनो व उसकी पत्नी गांव के सबसे वृद्ध थे

Murder Statistics In Gumla : आठ वर्ष में हुईं हत्याओं की सूची

अपराध 2013 2014 2015 2016 2017 2018 2019 2020

सामान्य हत्या 47 158 148 129 124 129 116 120

डायन हत्या 00 11 10 07 11 05 03 003

दहेज हत्या 12 01 03 02 00 02 03 002

नक्सल हत्या 00 18 13 17 04 01 03 000

टोटल 59 188 174 155 139 137 125 125

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें