1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. dowry case in laws took daughter in law out of house fir registered victim pleaded for justice grj

Jharkhand Crime News: दहेज के लिए बहू को घर से निकाला, FIR दर्ज, पीड़िता ने लगायी न्याय की गुहार

गुमला की पीड़िता ने दहेज को लेकर गुमला कोर्ट में अपने पति देवेंद्र नाग सहित ससुराल के तीन अन्य लोगों के खिलाफ परिवाद दायर किया था. इसके आलोक में गुमला महिला थाना में केस दर्ज किया गया है. पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Crime News: झारखंड पुलिस
Jharkhand Crime News: झारखंड पुलिस
ट्विटर

Jharkhand Crime News: गुमला जिले में पति एवं ससुरालवालों ने रंगभेद व दहेज को लेकर बहू को घर से निकाल दिया. ससुरालवालों द्वारा एक चार पहिया वाहन एवं दो लाख रुपये नकद की भी मांग की गयी है. यह मामला गुमला शहर का है. इस संबंध में पीड़िता ने पूर्व में गुमला कोर्ट में अपने पति देवेंद्र नाग सहित ससुराल के तीन अन्य लोगों के खिलाफ परिवाद दायर किया था. इसके आलोक में गुमला महिला थाना में केस दर्ज किया गया है. पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

शादी के एक सप्ताह बाद से प्रताड़ना शुरू

दर्ज केस में कहा गया है कि इसिका प्रिया की शादी हिंदू रीति-रिवाज से ओडिशा के सुंदरगढ़ जिला अंतर्गत ग्राम हाथीमुंडा निवासी लालमैन गोप के पुत्र देवेंद्र नाग के साथ हुई थी. शादी के समय इसिका के पिता ने इसिका के ससुराल वालों को 2.51 लाख रुपये नकद एवं एक बाइक बतौर दहेज दिया था. शादी के बाद पारंपरिक तरीके से इसिका की विदाई हुई और वह अपने पति देवेंद्र नाग सहित ससुराल वालों के साथ अपनी ससुराल चली गयी, परंतु ससुराल में महज एक सप्ताह के बाद ही ससुरालवालों ने इसिका के रंग को लेकर भेदभाव करना शुरू कर दिया. कहने लगे कि यह लड़की काफी काली है. यह हमारे परिवार में रहने लायक नहीं है. सास के उकसाने पर इसिका का पति देवेंद्र नाग और भैंसुर सुरेंद्र नाग भी हमेशा काली कहकर उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे. एक दिन ससुरालवालों ने एक मारूति वैगनआर एवं दो लाख रुपये नकद लाने की मांग करने लगे. इसिका ने इसका विरोध किया तो ससुरालवालों ने इसिका को 10 अगस्त 2012 को गाड़ी में बैठाकर घर भेज दिया.

देवर की शादी में शामिल होने नहीं दिया

वर्ष 2012 के अगस्त माह में इसिका अपने मायके पहुंचकर अपने घरवालों को सभी बातें बतायी. इस पर इसिका के माता-पिता ने इसिका के ससुराल वालों से काफी आरजू-मिन्नत की. ससुराल वाले अपनी जिद पर अड़े रहे. जिस पर इसिका अपने मायके में ही रहने लगी. कुछ समय बाद इसिका को पता चला कि उसके छोटे देवर की शादी होने वाली है तो इसिका अपनी ससुराल गयी, परंतु उसे घर में घुसने तक नहीं दिया गया. इसके दूसरे दिन इसिका वापस गुमला चली आयी.

थाना में समझाया, इसके बाद भी प्रताड़ित किया

प्रताड़ना से तंग आकर इसिका ने गुमला महिला थाना में ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी तो पुलिस ने ससुराल वालों को गुमला थाना बुलाया. जहां थाना में इसिका के ससुराल वालों को काफी समझाया गया. इसके बाद ससुराल वाले इसिका को अपने साथ रखने के लिए राजी हो गये और अपने साथ लेकर चले गये, परंतु एक माह बाद ही ससुराल वाले फिर से इसिका को अपने मायके से एक वैगनआर एवं दो लाख रुपये नगद लाने की बात कहकर प्रताड़ित करने लगे और एक दिन इसिका से कहा कि तुम्हारे घर वालों ने हमारा डिमांड पूरा नहीं किया. अब हमारा तुमसे कोई रिश्ता नहीं. अब मैं दूसरी शादी करने जा रहा हूं. इसके बाद ससुराल वालों ने इसिका को गुमला पहुंचा दिया. अब इसिका के फोन करने के बाद भी उसके ससुराल वाले उससे बात तक नहीं कर रहे हैं. इसिका ने गुमला कोर्ट में अपने पति देवेंद्र नाग सहित ससुराल के तीन अन्य लोगों के खिलाफ नामजद परिवाद दायर किया है. इसके आलोक में गुमला महिला थाना में केस दर्ज किया गया है.

रिपोर्ट : जगरनाथ/अंकित

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें