1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. chaibasa
  5. jharkhand cm hemant soren said steel industry will come soon in chaibasa youth will get employment smj

झारखंड CM हेमंत सोरेन बोले- चाईबासा में जल्द आयेगी स्टील इंडस्ट्री, युवाओं को मिलेगा रोजगार

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने पश्चिमी सिंहभूम में बड़े-बड़े उद्योग लगने की घोषणा की. साथ ही कहा कि चाईबासा में जल्द ही स्टील इंडस्ट्री लगेगी. इससे यहां के युवाओं को रोजगार का साधन उपलब्ध होगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चाईबासा के पिल्लई हॉल से कई योजनाओं को सौगात देने के बाद लोगों को संबोधित करते सीएम हेमंत सोरेन.
चाईबासा के पिल्लई हॉल से कई योजनाओं को सौगात देने के बाद लोगों को संबोधित करते सीएम हेमंत सोरेन.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (चाईबासा, पश्चिमी सिंहभूम) : पश्चिमी सिंहभूम में कई बड़े-बड़े उद्योग लगने वाले हैं. वहीं, चाईबासा में जल्द ही स्टील इंडस्ट्री भी आ रही है. इसके माध्यम से यहां के युवाओं के लिए रोजगार सृजन होगा. साथ ही पश्चिमी सिंहभूम के 15,600 किसानों का ऋण माफ किया जायेगा. जिसे लेकर लगभग 65 करोड़ राशि निर्धारित की गयी है. इसके अलावा पश्चिमी सिंहभूम के बंद पड़े माइंस को भी खोला जायेगा, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. उक्त बातें सीएम हेमंत सोरेन ने गुरुवार को आरओबी के उद्घाटन के बाद चाईबासा के पिल्लई हॉल में आयोजित मुख्य समारोह के दौरान कही.

लाभुकों के बीच विभिन्न योजनाओं से संबंधित परिसंपत्ति का वितरण करते सीएम हेमंत सोरेन.
लाभुकों के बीच विभिन्न योजनाओं से संबंधित परिसंपत्ति का वितरण करते सीएम हेमंत सोरेन.
प्रभात खबर.

सीएम श्री सोरेन ने अपने संबोधन में कहा कि जिले में सामाजिक और सांस्कृतिक धरोहर को बचाते हुए जल्द ही नये कारखाने खोले जायेंगे. चाईबासा में रेलवे ओवर ब्रिज की मांग काफी लंबे समय से थी. उसे आज जिले के लोगों को समर्पित किया गया है. साथ ही पिल्लई हॉल अपना नया स्वरूप लेकर फिर से अपनी सेवा चाईबासा वासियों को देने के लिए तैयार है. इससे पूर्व उन्होंने विभिन्न योजनाओं से संबंधित 128 करोड़ की परिसंपत्ति का वितरण लाभुकों के बीच किया. इसके अलावा 95 योजनाओं का शिलान्यास व उद्धाटन किया.

सीएम हेमंत सोरेन ने ACC कंपनी की ओर युवाओं के बीच नियुक्ति पत्र बांटे.
सीएम हेमंत सोरेन ने ACC कंपनी की ओर युवाओं के बीच नियुक्ति पत्र बांटे.
प्रभात खबर.

इस दौरान एसएससी कंपनी की ओर मुख्यमंत्री ने युवक-युवकों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण किया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से कैबिनेट मंत्री जोबा मांझी, सिंहभूम की सांसद गीता कोड़ा, कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर गंगाधर पांडा, एसीसी के एमडी के अलावा चाईबासा विधायक दीपक बिरुवा, जगन्नाथपुर विधायक सोनाराम सिंकू व चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव, पश्चिमी सिंहभूम डीसी अनन्य मित्तल सहित कई प्रशासनिक पदाधिकारी उपस्थित थे.

चाईबासा में रेलवे ओवर ब्रिज का उद्घाटन करते सीएम हेमंत साेरेन.
चाईबासा में रेलवे ओवर ब्रिज का उद्घाटन करते सीएम हेमंत साेरेन.
प्रभात खबर.

चाईबासा रेलवे ओवर ब्रिज का हुआ उद्धाटन

चाईबासा जेएमपी फाटक के समीप 35 करोड़ की कुल लागत से विगत एक माह से बनकर तैयार रेलवे ओवर ब्रिज (ROB) का उद्घाटन सीएम हेमंत सोरेन ने फीता काटकर किया. ROB के उद्घाटन के बाद यह ओवरब्रिज लोगों के लिए खोल दिया गया. वहीं, रेलवे की ओर से फाटक को बंद कर दिया गया है. रेलवे ओवरब्रिज का उद्घाटन हो जाने से चाईबासा-जमशेदपुर मुख्य मार्ग में फाटक के वजह से राहगीरों को हो रही परेशानी से निजात मिल गयी है. गौरतलब है कि पिछले 3 सालों से ओवरब्रिज का काम चल रहा था. वहीं, पुल विगत एक माह से बनकर पूरी तरह तैयार था.

दो घंटे विलंब से पहुंचे सीएम

चाईबासा रेलवे ओवर ब्रिज के उद्धाटन का कार्यक्रम 12.15 बजे तय था, लेकिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की तबीयत हल्की खराब होने के साथ-साथ मौसम खराब होने के कारण उन्होंने दो घंटे विलंब से रांची से उड़ान भरी. इस कारण कार्यक्रम में ढाई घंटे विलंब हुआ. वे कार्यक्रम स्थल दो घंटे विलंब से 2.25 में पहुंचे. सीएम ने 2.30 बजे आरोबी पुल का उद्धाटन किया. यहां पहुंचते ही सीएम ने मंत्री, सांसद व विधायक संग मिलकर आरओबी का उद्धाटन किया. इसके बाद पिल्लई हॉल स्थित समारोह स्थल के लिए रवाना हो गये.

अब खेल की प्रतिभा से भी विश्व में झारखंड की होगी पहचान

सीएम श्री सोरेन ने टोक्यो ओलिंपिक में शामिल राज्य के युवा खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि उन्हें अब किसी प्रकार से सुविधाओं और पुरस्कार राशि की कमी नहीं होने दी जायेगी. उन्होंने कहा कि झारखंड खनिज संपदा के लिए जाना जाता है, लेकिन खेल की प्रतिभा से भी अब इसे दुनिया पहचानेगी. सीएम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के खिलाड़ियों में ठहराव दिखता है. इसलिए राज्य के खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए सभी जिलों में खेल पदाधिकारियों की नियुक्ति की गयी है. वहीं बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को विभिन्न क्षेत्रों में नौकरियां दी जा रही है.

उन्होंने कहा कि टोक्यो ओलिंपिक में राज्य के बच्चे, खासकर लड़कियां बेहतर प्रदर्शन कर रही है. ये वो बच्चे हैं, जो कि दबे-कुचले समाज से आते हैं. इन्होंने बगैर संसाधन के अपना मुकाम हासिल किया है. इसलिए खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने और उन्हें मौका देने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है. खेल के क्षेत्र में बेहतर कार्य किया जायेगा, तो देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में नाम कमाया जा सकता है.

सुदूर क्षेत्र में इतना भव्य सभागार देख मन खुश हुआ

सीएम श्री सोरेन ने कहा कि चाईबासा जैसे सुदूर क्षेत्र में इतना सुंदर व भव्य सभागार होगा. यह देखकर काफी खुशी हो रही है. इसके लिए उन्होंने रूंगटा ग्रुप को धन्यवाद भी किया. कहा कि इसकी सुंदरता को हमेशा इसी प्रकार बनाये रखना आप सबकी जिम्मेदारी है. उन्होंने औद्योगिक संस्थान की ओर इशारा करते हुए कहा कि एक व्यावसायिक मुकाम को हासिल करने के बाद शहर में आपके द्वारा कुछ ऐसा किया जाना चाहिए, जिससे आपका नाम सदैव बरकार रहे.

जर्जर सड़कें दुरूस्त होगी, बाइपास व कॉरिडोर बनेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि चाईबासा-हाटगम्हरिया सड़क का डीपीआर 250 करोड़ का सेंशन करके भारत सरकार को भेजा गया है. साथ ही 3 करोड़ का फंड मरम्मतिकरण के लिए सेंशन हुआ है. चाईबासा बाइपास के प्रपोजल को भी मंजूरी दी गयी है. इसे भी एनएच गाइडलाइन पर बनना है. बहुत जल्द इसे भी स्वीकृति मिल जायेगी. इसके अलावा हल्दिया पोर्ट तक कॉरिडोर बनेगा. इसके साथ ही राज्य के अलग-अलग जिलों में कई आरओबी बनने हैं. सभी को सेंशन कर दिया गया है. 250 करोड़ की लागत से चाईबासा बाईपास भी जल्द बनेगा. सभी जर्जर सड़कों को भी ठीक किया जायेगा.

युवा बेरोजगार होकर घर लौट रहे, रोजगार का घोर अभाव

सीएम ने कहा कि वैश्विक महामारी काल में युवा बेरोजगार होकर वापस घर लौट रहे हैं. सभी प्रतिष्ठानें बंद पड़ी है. जिससे रोजगार का घोर अभाव हो गया है. राज्य की गरीब जनता पर पहाड़ टूट पड़ा है. इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में पोटो हो खेल मैदान बनाया जा रहा है. वहीं, बिरसा ग्रामीण रोजगार के तहत कई योजनाएं लायी जा रही है. पश्चिमी सिंहभूम जिले भर में कुलग 724 खेल मैदान बनाया जा रहा है. जिसमें 144 को पूरा कर लिया गया है. बाकी मैदान का जल्द ही निर्माण हो जायेगा. इसके अलावा राज्य सरकार किसानों का बड़े पैमाने पर ऋण भी माफ कर रही है. किसानों के लिए जिलों में फलदार पौधे लगाकर भी उनतक लाभ पहुंचाया जा रहा है.

पूर्व की कार्य योजनाओं को नया स्वरूप दिया जा रहा

पश्चिमी सिंहभूम जिला खनिज संपदा से भरा क्षेत्र है. 100 वर्षों से यहां कार्य योजनाएं बनती रही है. चाईबासा पूरी तरह खनिज संपदा से परिपूर्ण माइनिंग क्षेत्र है. पूर्व में कुछ गलतियां रही होंगी. समय-समय पर उक्त योजनाओं का सही तरीके से आकलन नहीं किया गया होगा. जिसे अब नया स्वरूप देने की कोशिश की जा रही है. कहा कि खनिज संपदा जब देश के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हो सकती है, तो राज्य के लिए क्यों नहीं. राज्य में कोई ऐसा स्थान नहीं है. जहां कोई न कोई खनिज नहीं पाया जाता है.

एसीसी को बंद होने से रोकना हम सबका दायित्व

सीएम श्री सोरेन ने कहा कि वर्ष 2013 में मेरे मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान मैंने कई युवकों को एसीसी की ओर से नियुक्तियां बांटी थी. मेरा सौभाग्य है कि दोबारा मुझे ही नियुक्ति पत्र बांटने का अवसर प्राप्त हुआ. उन्होंने कहा कि एसीसी कंपनी वर्ष 1945 से स्थापित है. जिसको बंद होने से रोकना हम सबों का दायित्व है. इतने पुराने यूनिट के प्रबंधन और जिन्होंने इसके लिए अपनी भूमि दी है उन सबकी जिम्मेदारी हैं कि ऐसे उद्योग कभी बंद न हो.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें