25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

टोंटो : दबंगों के भय से चार साल से आंगनबाड़ी केंद्र बंद, पोषाहार भी नहीं बंटा

केंद्र की सेविका भय से तीन साल तक भटकती रही, खाते से निकाल लिये थे छह लाख रुपये

चाईबासा. टोंटो ग्राम के रतन पाट टोला स्थित आंगनबाड़ी केंद्र में बुधवार को पूर्व मुखिया बाबूराम लागुरी की अध्यक्षता में बैठक हुई. बैठक में चार साल से बंद आंगनबाड़ी केंद्र व वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पर चर्चा की गयी. साथ ही बताया कि प्रभारी सेविका सीता लागुरी चार साल से एक बार भी केंद्र नहीं आयी हैं और ना ही पोषाहार बांटा है. ग्रामीणों ने बताया कि दिव्यांग कोटे से चयनित सेविका जयंती लागुरी ने जान को खतरा होने के कारण उसने सेंटर छोड़ दिया. आंगनबाड़ी 2016 में बना था. उस समय वही सेविका थी. आंगनबाड़ी चलाने के लिए उसके खाते में करीब छह लाख रुपये भी आये थे, जिसे दबंगों ने उड़ा लिया था. हालांकि, उसमें 20 हजार मात्र खाता में छोड़ दिया था. इसके बाद वह तीन साल तक जान के खतरे के डर से इधर- उधर भटकती रही. बाद में दो लाख वापस कराया गया. यह मामला कोर्ट में भी चल रहा है. अब उसे टोपाबेड़ा की सेविका का प्रभार मिला है, जबकि सहायिका शांति लागुरी की दो वर्ष पूर्व कैंसर से मृत्यु होने के बाद नयी सहायिका का चयन नहीं हो पाया है. इससे गर्भवती महिलाएं व नवजात शिशुओं को सरकार द्वारा दी जाने वाले लाभ से वंचित हैं.

महीने में एक बार हो रहा टीकाकरण

इधर, हंस फाउंडेशन से चयनित बितनी बोदरा द्वारा महीने में एक दिन एएनएम के साथ टीकाकरण होता है. इस विषय पर पूर्व मुखिया बाबूराम लागुरी ने कहा कि चार साल से बंद आंगनबाड़ी केंद्र का सीडीपीओ प्रभारी टोंटो, बीइइओ से लेकर उच्च स्तरीय पदाधिकारियों से भी पत्राचार किया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. चार साल में पोषाहार का उठाव हुआ या नहीं हुआ. इसकी सूचना टोंटो के बीडीओ को दी गयी थी. उन्होंने आचार संहिता खत्म होने के बाद विषय को देखने को कहा है. पूर्व मुखिया ने सभी गांव-टोले के ग्रामीणों के साथ पाइपलाइन के माध्यम से पानी पहुंचाने को लेकर ड्राइंग के साथ निरीक्षण किया.

बैठक में ये थे शामिल

महती लागुरी, एस बोदरा, संजय लागुरी, रांदाय लागुरी, फूलमती लागुरी, लाली लागुरी, बीतनी बोदरा, सुनीता लागुरी, सुनीका लागुरी, तुरी लागुरी, प्रताप तामसोय, बिनोद लागुर, बिरंग लागुरी आदि.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें