25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बीएसएल प्रबंधन की कठोर नीति से ठेकेदार त्रस्त : संघ

11 सूत्री मांगों को ले बोकारो संयुक्त ठेकेदार संघ ने दिया विराट महाधरना

बोकारो. बोकारो संयुक्त ठेकेदार संघ की ओर से सेक्टर-04 नगर सेवा भवन के समक्ष ठेकेदारों के 11 सूत्री मांगों को लेकर विराट महाधरना दिया गया. अध्यक्षता जगदीश चौधरी व संचालन संयोजक सुनील कुमार महतो ने किया. वक्ताओं ने कहा कि प्लांट के सभी ठेकेदार प्रबंधन की कठोर नीति से त्रस्त है. दिन प्रतिदिन प्रबंधन की ओर से काॅन्टेक्टर के ऊपर गलत नीति लगाकर उन्हें बेरोजगार करने की साजिश रची जा रही है. कहा कि यदि प्रबंधन ठेकेदारों की 11 सूत्री मांगों पर अविलंब सकारात्मक पहल नहीं करती है, तो बोकारो संघ प्रशासनिक बिल्डिंग के समक्ष जोरदार प्रदर्शन करेगा. जून महीने का बढ़ोतरी पेमेंट ठेकेदार नहीं करेंगे. महाधरना में बड़ी संख्या मे बोकारो स्टील प्लांट, नगर सेवा भवन, बीपीएससीएल, प्रोजेक्ट के ठेकेदार भाग लिये. महाधरना को समर्थन देने में समाजसेवी अनिल कुमार सिंह, राजेंद्र विश्वकर्मा, डीडी सिंह, प्रमोद मिश्रा, नवलेश कुमार, कमलेश राय, विजय कुमार झा, संजय मिश्रा, सुभाष लाल, आनंद तिवारी, अरुण शर्मा, देवेंद्र सिंह, जेपी सिंह, विनोद सिन्हा,अरुण जायसवाल, मोफिज अंसारी, अंबूज शर्मा, अल्लाउद्दीन अंसारी, संजय चौधरी, संतोष कुमार पहलवान, सोमनाथ पांडेय, रामनाथ यादव, मलय ठाकुर, अवधेश कुमार सिंह, मनीष सिंह, सुनील कुमार सिंह, आरके सिंह, कैलाश महतो, छोटेलाल, अनिल कुमार ठाकुर, दिनेश महतो सहित करीब 500 ठेकेदार शामिल थे. वहीं, धरना स्थल पर पहुंचे बोकारो विधायक बिरंची नारायण ने कहा कि ठेकेदारों का मांग जायज है, इसके लिये विधानसभा और सासंद ढ़ुलू महतो के साथ दिल्ली इस्पात मंत्रालय में भी मांग को रखकर अविलंब हल करेगें. कांग्रेस नेत्री श्वेता सिंह ने कहा कि ठेकेदारों के आंदोलन के साथ है. बीएसएल प्रबंधन ठेकेदारों की मांगों पर अविलंब सकारात्मक पहल करें. बीएसएल विस्थापितों के साथ भी लगातार अन्याय कर रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें