1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. delhi government to release 4000 members of tabligi jamaat arvind kejriwal corona virus maulana saad

COVID-19 : केजरीवाल सरकार ने 4000 तबलीगी जमात के सदस्‍यों को छोड़ने का दिया आदेश, जानें क्‍या है मामला

By ArbindKumar Mishra
Updated Date

नयी दिल्‍ली : दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने देश में कोरोना वायरस के प्रसार के लिए जिम्‍मेदार माने जा रहे तबलीगी जमात के 4000 सदस्‍यों को छोड़ने का आदेश दे दिया है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि अरविंद केजरीवाल सरकार ने जमात के उन 4,000 सदस्यों को छोड़ देने के आदेश दिए, जिन्होंने केंद्रों में आवश्यक पृथक-वास अवधि पूरी कर ली है.

इसके अलावा खबर है‍ कि मरकज मामले में जिन लोगों के नाम दर्ज हैं और जांच के लिए जिनकी आवश्यकता है, तबलीगी जमात के उन सभी सदस्यों को दिल्ली पुलिस की हिरासत में भेजा जाएगा. तबलीगी जमात के जिन सदस्यों की मरकज मामले में जांच के लिए आवश्यकता नहीं है, उन्हें उनके गृह राज्यों में वापस भेजा जाएगा.

दिल्ली के गृह मंत्री सत्येन्द्र जैन ने यह आदेश जारी किए. आदेश में यह भी कहा गया है कि निजामुद्दीन मरकज की घटना में इनमें से तबलीगी जमात के जिन सदस्यों के नाम दर्ज किये गये हैं और जांच के लिये उनकी जरूरत है, उन्हें दिल्ली पुलिस की हिरासत में भेजा जाएगा.

उन्होंने कहा, शेष सभी को उनके गृह राज्य भेज दिया जाए इसके लिए दिल्ली सरकार के गृह विभाग को राज्यों के रेजीडेंट कमिश्नर से संपर्क करने को कहा गया है. सरकार के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में पृथक केन्द्रों में तबलीगी जमात के कम से कम 4000 सदस्य हैं.

इनमें से 900 लोग दिल्ली के हैं इसके अलावा अधिकतर लोग तमिलनाडु और तेलंगाना से हैं. उन्होंने कहा कि उनकी वापसी के लिए परिवहन की व्यवस्था करने के लिए दिल्ली सरकार अन्य राज्यों की सरकारों के साथ संपर्क में है.

मालूम हो दिल्‍ली में कोरोना वायरस के प्रसार के लिए दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तबलीगी जमात को जिम्‍मेदार माना था. उन्‍होंने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा था कि दिल्‍ली में कोरोना वायरस के आंकड़ों में आयी तेजी के लिए जमात के लोग जिम्‍मेदार हैं.

दूसरी ओर स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी कुछ दिनों पहले कहा था कि कोरोना के जितने नये केस सामने आये, उनमें से 65 फीसदी केस जमात से जुड़े हैं. दिल्ली स्थिति निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन में हिस्सा लेने आये लोग देश के करीब 14 राज्यों में पहुंचे, जिसके बाद संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया था कि असम, अंडमान निकोबार, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में जमात के लोग पहुंचे थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें