25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शराब तस्करों पर पुलिस की पैनी नजर, 91 दिनों में 27, 126 लीटर शराब जब्त

91 दिनों में 27, 126 लीटर शराब जब्त

सुपौल.

अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे सुपौल, सहरसा व मधेपुरा जिले में पुलिस की लगातार छापामारी से तस्करों में हड़कंप मचा है. नेपाल के साथ-साथ पश्चिम बंगाल, दिल्ली, हरियाणा, अरूणाचल प्रदेश व झारखंड से कोसी इलाके में शराब की खेप पहुंच रही है. फिलहाल चुनाव को लेकर 01 जनवरी से 31 मार्च तक चलाए गए विशेष अभियान में पुलिस ने कुल 27 हजार 126 लीटर शराब, 540 किलो गांजा और 56 मिली ग्राम हीरोइन जब्त कर एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. जिसमें 14 हजार 639 लीटर देसी व 12 हजार 477 लीटर विदेशी शराब शामिल है. इस दौरान पुलिस ने शराब सेवन व तस्करी के मामले में 01 हजार लोगों को गिरफ्तार भी किया है. यह सिर्फ पुलिस की सफलता है. अगर एसएसबी व उत्पाद विभाग की सफलता को भी जोड़ दिया जाये तो यह आंकड़ा तीना गुणा बढ़ जायेगा. कोसी के इलाके में शराबबंदी कानून को बेहतर ढंग से लागू करने के लिए वरीय अधिकारी लगातार निगरानी कर रहे हैं. बावजूद शराब तस्करों व शराबियों का मनोबल कम होता नहीं दिख रहा है. पिछले कुछ समय से पुलिस जिस तरह से शराब तस्करों व शराबियों पर नकल कसने के लिए कार्य कर रही है. अगर इसी तरीके से नियमित रूप से कार्य होता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब कोसी का यही इलाका पूरी तरह नशा मुक्त इलाका हो जाएगा. लेकिन आंकड़े पर गौर करें तो यहां के लोग शराब के काफी शौकीन माने जा सकते हैं.

सहरसा में विदेशी व सुपौल में देसी की है डिमांड

आंकड़े बताते हैं कि कोसी प्रमंडल के सहरसा जिला में जहां शराबी विदेशी शराब को अधिक पसंद कर रहा है. वहीं अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे सुपौल जिला के युवा देशी शराब का शौकीन है. बताया जा रहा है कि नेपाली देशी शराब अंग्रेजी शराब की ही तरह होता है. यह शराब नेपाल की खुली सीमा रहने से शराब शौकीन को आसानी से उपलब्ध हो जाता है. वहीं मधेपुरा जिला के लोग देशी और विदेशी दोनों शराब का सेवन कर रहे हैं.

तमकुलहा में पुलिस को मिली बड़ी सफलता

27 फरवरी को सुपौल जिले के जदिया थाना क्षेत्र के तमकुलहा टपोरी टोला में पुलिस को बड़ी सफलता मिली. इस दौरान पुलिस ने 5076 बोतल कुल 1465 लीटर विदेशी शराब के साथ एक टेम्पो, एक कार व एक पिकअप जब्त किया. इतना ही नहीं पुलिस ने शराब की बड़ी खेप ले जा रहे एक तस्कर को भी गिरफ्तार किया.

कोसी नदी के रास्ते नेपाल से पहुंचती है शराब

शराब तस्करों के लिए कोसी नदी सबसे सेफ जोन बना हुआ है. हालांकि पुलिस व एसएसबी की सक्रियता से इसमें थोड़ी कमी आयी है. लेकिन पूरी तरह अंकुश नहीं लगा है. पुलिस व एसएसबी को कई बार बड़ी सफलता भी हाथ लगी. लेकिन पुलिस व एसएसबी के जवानों को देख तस्कर कोसी नदी में छलांग लगा भाग निकले.

जारी रहेगा अभियान : एसपी

शराब की तस्करी पर अंकुश के लिए सुपौल जिले में विशेष अभियान चलाया जा रहा है. इस दौरान देशी व विदेशी सहित लगभग 14 हजार लीटर शराब की बरामदगी हुई है. कुल 673 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. चुनाव को लेकर विशेष अभियान जारी है.

शैशव यादव, पुलिस अधीक्षक

बरामद शराब व गांजा का आंकड़ा

सहरसा

देसी – 3698 लीटर

विदेशी – 5649 लीटर

सुपौल

देसी – 8812 लीटर

विदेशी – 5447 लीटर

मधेपुरा

देसी – 2129 लीटर

विदेशी – 1381 लीटर

आंकड़ा गांजा

सहरसा – 37 किलो

सुपौल – 496 किलो

मधेपुरा – 06 किलो

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें