1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. sheohar
  5. urea scarcity in shivhar bihar farmers upset shopkeepers charging more asj

शिवहर में यूरिया की किल्लत, किसान परेशान, अधिक कीमत वसूल रहे दुकानदार

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
किसान
किसान

शिवहर : जिले में यूरिया खाद की कृत्रिम किल्लत से जिले के किसान परेशान हैं. बाजारों में 300 से लेकर 350 रुपये तक यूरिया खाद बेची जा रही है. जबकि सरकारी मूल्य 266 रुपये है. जिले में कूल 165 खुदरा एवं थोक उर्वरक विक्रेता हैं. इसमें 113 उर्वरक विक्रेता पॉश मशीन के साथ सक्रिय हैं. छह थोक विक्रेता सक्रिय हैं. थोक विक्रेताओं में कामिनी इंटरप्राइजेज शिवहर, रोशन खाद बीज भंडार कुशहर, जय माता दी वृंदावन, जय लक्ष्मी दुकान, द्वारिका नाथ प्रसाद शिवहर एवं किसान मित्र शिवहर थोक विक्रेता आदि शामिल हैं. इनके यहां से खुदरा विक्रेताओं को उर्वरक उपलब्ध करायी जाती है. जिले में 30592 हेक्टेयर में खरीफ फसल की खेती की गयी है, इसमें 25000 हेक्टेयर में धान की खेती की गयी है. शेष में मक्का, अरहर, सूरजमुखी व सब्जी आदि की खेती है. कुल 62148 किसान निबंधित हैं. अभी खेत में यूरिया की दरकार है, जबकि खाद की कालाबाजारी हो रही है. एक आधार कार्ड पर 10 से अधिक बोरा यूरिया की निकासी की जाती है. जबकि किसान को एक बोरा ही दिया जाता है. पॉस मशीन से भी गड़बड़ी की जा रही है. वहीं खुदरा विक्रेता द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर उर्वरक भी बेची जा रही है.

चार दुकानों का लाइसेंस निलंबित

जिला कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार राव ने चार उर्वरक दुकानदारों का लाइसेंस निलंबित कर दिया है. उक्त कार्रवाई कृषि निदेशक पटना के पत्र के आलोक में जांच के उपरांत की गयी है. उर्वरक खुदरा विक्रेताओं द्वारा गैर आधार लेन-देन एवं गैर आधार बिक्री करने तथा काल्पनिक नाम का उपयोग कर उर्वरक की बिक्री करने की सूचना साक्ष्य सहित प्राप्त हुई है. उक्त कार्रवाई आरएस इंटरप्राइजेज दोस्तीया, मिश्रा खाद बीज भंडार नरवारा, विकास कृषि समाधान केंद्र, सुरगाही एवं साहू खाद बीज भंडार अदौरी के विरूद्ध की गयी है. इन दुकानदारों ने एक ही आधार पर कई तिथियों में किसानों को यूरिया वितरण कर दिया, जिसमें अनियमितता सामने आयी व कार्रवाई की गयी.

छापेमारी दल गठित

शिवहर डीएम अवनीश कुमार सिंह एवं निदेशक बिहार पटना के निर्देश के आलोक में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा उर्वरकों की कालाबाजारी जमाखोरी और मुनाफाखोरी पर रोक लगाने के लिए जिला स्तर अनुमंडल स्तर एवं प्रखंड स्तर पर छापामारी दल का गठन किया गया है. टीम नियमित रूप से विभिन्न प्रकार के उर्वरकों की उचित मूल्य पर बिक्री हेतु संबंधित दुकानों की छापामारी करेंगे तथा राज्य स्तर पर प्राप्त प्रपत्र में प्रतिवेदन नियमित रूप से उपलब्ध कराएंगे. जिला स्तर पर डीएओ अशोक कुमार राव सहायक निदेशक कृषि अभियंत्रण रिशु कुमार सहायक निदेशक पौधा संरक्षण चंद्रदीप कुमार को छापामारी दल में शामिल हैं. वहीं अनुमंडल स्तर पर कृषि निरीक्षक अरविंद कुमार रवि, कृषि निरीक्षक प्रभात कुमार सहायक कृषि पदाधिकारी वनस्पति अरुण कुमार शामिल हैं. प्रखंड स्तर के छापेमारी दल में संबंधित प्रखंड कृषि पदाधिकारी संबंधित पंचायत के कृषि समन्वयक शामिल है. सभी औचक निरीक्षण एक क्रम में गंभीर अनियमितता का दोषी पाये जाने पर कार्रवाई कर प्रतिवेदन प्रपत्र कार्यालय को देना सुनिश्चित करेंगे.

कहते हैं जिला कृषि पदाधिकारी

जिला कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार राव ने बताया कि मुजफ्फरपुर एवं मोतिहारी में रेक प्वाइंट है, जहां से उर्वरक शिवहर लाने में व्यवसायियों को अतिरिक्त खर्च करना पड़ता है, इसके कारण व्यवसाय थोड़ी परेशानी में अवश्य हैं. किंतु उर्वरक की कमी नहीं है. जिले में 7000 एमटी उर्वरक का आवंटन है. अगस्त माह में 734 एमटी उर्वरक उपलब्ध कराया गया है. जिसके विरुद्ध वितरण की प्रक्रिया पूरी की गयी है, कहां की उर्वरक वितरण में किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें