25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

छपरा शहर के कई इलाकों में नहीं हुआ पीएनजी का कनेक्शन

नगर निगम क्षेत्र के लोगों का पीएनजी गैस पाइपलाइन का कनेक्शन लेकर खाना बनाने का सपना फिलहाल सपना ही दिखता नजर आ रहा है. अभी तक शहर के कई इलाकों में कनेक्शन का पाइप नहीं पहुंचा है. लोकसभा चुनाव के शुरू होने के साथ ही कार्यकारी एजेंसी में बेचैनी बढ़ी और काम शुरू किया, लेकिन गति इतनी धीमी है कि आनेवाले दो माह में भी लोगों को कनेक्शन नहीं मिल पायेगा.

छपरा नगर निगम क्षेत्र के लोगों का पीएनजी गैस पाइपलाइन का कनेक्शन लेकर खाना बनाने का सपना फिलहाल सपना ही दिखता नजर आ रहा है. अभी तक शहर के कई इलाकों में कनेक्शन का पाइप नहीं पहुंचा है. लोकसभा चुनाव के शुरू होने के साथ ही कार्यकारी एजेंसी में बेचैनी बढ़ी और काम शुरू किया, लेकिन गति इतनी धीमी है कि आनेवाले दो माह में भी लोगों को कनेक्शन नहीं मिल पायेगा. यह भी डर सता रहा है कि कहानी चुनाव खत्म होते ही काम भी बंद नहीं हो जाये. जब नगर निगम क्षेत्र में पीएनजी गैस पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू हुआ था. तब यह भी दावा किया गया था कि शहर में काम खत्म होने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में कनेक्शन दिया जायेगा पर यहां तो शहरी क्षेत्र में भी काम पूरा नहीं हुआ है. जानकारी के अनुसार छपरा शहर में 36067 घरों मैं कनेक्शन देना था, जिनमें 21640 घरों में कनेक्शन जल्द देने की बात कही गयी थी. लगभग 10 हजार आवेदन प्राप्त हुए थे. इसमें भी 8500 घरों में जीआइ पाइपिंग और मीटर इंस्टालेशन का कार्य हो जाने का दावा किया गया था और कई घरों में पाइपलाइन से गैस आते ही इन घरों में लगा कनेक्शन चालू हो गया था, लेकिन उन उपभोक्ताओं में नाराजगी है, जिनके क्षेत्र में अभी तक पाइपलाइन नहीं पहुंची है या घरों में कनेक्शन नहीं दिया गया है. दावा यह भी किया गया था कि जिले के सभी प्रखंडों में प्रत्येक गांव के हर घर में पाइपलाइन के माध्यम से रसोई गैस पहुंचेगी, जिसमें लगभग तीन लाख कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया है. सिलिंडर से सुरक्षित है पीएनजी कनेक्शन : यह सुविधा बहाल हो जाती है, तो उपभोक्ताओं को कई लाभ होगा हालांकि कई मुहल्ले में यह सुविधा चालू हो गयी है जैसा की बताया जा रहा है. इतना ही नहीं अधिक कीमत वाला गैस सिलिंडर ले जाने और ले आने आदि की परेशानी से भी उपभोक्ता बच जाते. इतना ही नहीं सिलिंडर से ज्यादा सुरक्षित पीएनजी गैस कनेक्शन है. इसमें घर में आग लगने पर सिलिंडर के ब्लास्ट होने आदि की संभावना कम है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें