17.1 C
Ranchi
Wednesday, February 28, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

पटना के गांधी मैदान में नवनियुक्त शिक्षकों को मिलेगा नियुक्ति पत्र, इन दस्तावेजों के बिना नहीं होगी एंट्री

बिहार में बीपीएससी द्वारा नवचयनित अध्यापक अभ्यर्थियों को सीएम नीतीश कुमार पटना में नियुक्ति पत्र बांटेंगे. इसके लिए तैयारी अंतिम चरण में है. शिक्षकों को इस समारोह में शामिल होने के दो जरूरी दस्तावेज लेकर आना होगा.

पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में 2 नवंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 25 हजार नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बाटेंगे. इसके लिए तैयारी अंतिम चरण में है. गांधी मैदान में प्रवेश के लिए शिक्षकों को दो दस्तावेजों की जरूरत होगी. अगर ये दो दस्तावेज उनके साथ में नहीं होंगे तो उन्हें एंट्री नहीं दी जाएगी.

गांधी मैदान में प्रवेश के लिए इन दस्तावेजों की होगी जरूरत

दरअसल, दो नवंबर को गांधी मैदान में होने वाले नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में भाग लेने वाले शिक्षकों का प्रवेश पत्र उनका औपबंधिक (प्रोविजनल) नियुक्ति पत्र एवं आधार कार्ड ही होगा. इस संबंध में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने भागलपुर, बांका, पूर्णिया, कटिहार, अररिया, किशनगंज, सहरसा, मधेपुरा एवं सुपौल जिले को छोड़कर शेष सभी जिलाधिकारियों को एक निर्देश जारी कर यह सुनिश्चित करने को कहा है कि जो भी विद्यालय अध्यापक समारोह में रहेंगे, उन्हें अपना औपबंधिक नियुक्ति पत्र और आधार कार्ड अनिवार्य रूप से अपने साथ रखना होगा. यह नहीं रहने पर उस दिन गांधी मैदान में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी. इस संबंध में शिक्षकों को अवगत कराने को कहा गया है.

विद्यालय आवंटन में निदेशकों को भी मिलेगी जिम्मेदारी

इधर, बीपीएससी द्वारा चयनित शिक्षकों का विद्यालय आवंटन साफ्टवेयर द्वारा किया जाना है. इसी कड़ी में शिक्षा विभाग ने प्राथमिक शिक्षा के उप निदेशक संजय कुमार चौधरी, माध्यमिक शिक्षा के उप निदेशक अब्दुस सलाम अंसारी, प्राथमिक शिक्षा के उप निदेशक नीरज कुमार और माध्यमिक शिक्षा के उप निदेशक अमर भूषण को प्रोग्रामर के साथ प्रति नियुक्ति करते हुए कार्य को गंभीरता पूर्वक निष्पादित करेंगे. इस कार्य के लिए रवि शंकर सिंह अपर राज्य परियोजना निदेशक शिक्षा परियोजना परिषद को नोडल पदाधिकारी नामित किया गया है.

नवनियुक्त शिक्षक सुनाएंगे गांधी मैदान में परीक्षा से ट्रेनिंग तक के अनुभव

गांधी मैदान में होने वाले इस नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में स्क्रीन पर शिक्षकों के वीडियो क्लिप भी दिखाए जाएंगे. इन वीडियो के माध्यम से नवनियुक्त शिक्षक परीक्षा से लेकर ऑरिएंटेशन ट्रेनिंग तक का अपना अनुभव बताएंगे. इस वीडियो क्लिप के माध्यम से अनुभव सुनाने वालों में बिहार और दूसरे राज्यों के शिक्षक भी शामिल रहेंगे. शिक्षा विभाग की ओर से इसकी तैयारी कर ली गई है. चयनित अध्यापकों के अनुभव वीडियो क्लिप के रूप में तैयार किये गये हैं.

Also Read: बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा के रिजल्ट का क्यों हो रहा है विरोध? क्या है अभ्यर्थियों की मांग, जानिए

वीडियो में क्या बताएंगे शिक्षक ?

ये वीडियो क्लिप महाविद्यालयों, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों, प्रखंड शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों, बिपार्ड पटना और बिपार्ड गया के साथ-साथ पटना के ओरिएंटेशन प्रशिक्षण होटलों में तैयार किए गये हैं. वीडियो क्लिप में चयनित शिक्षकों ने अपना नाम, जिला और राज्य के साथ-साथ बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित शिक्षक नियुक्ति परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कैसा महसूस कर रहे हैं, यह भी बताया है. परीक्षा, काउंसेलिंग और ऑरिएंटेशन प्रोग्राम में बायोमेट्रिक सिस्टम, सीसीटीवी कैमरा, जिला और स्कूल आवंटन में सॉफ्टवेयर के उपयोग पर उनका कैसा अनुभव रहा है. दूसरे राज्यों के चयनित अभ्यर्थी यह भी बतायेंगे कि बिहार में आकर काम करना उन्हें कैसा लग रहा है. बहरहाल, सारे वीडियो क्लिप राज्य शिक्षा शोध एवं प्रशिक्षण परिषद को रविवार की शाम तक प्राचार्यों एवं प्रशिक्षण प्रभारियों की तरफ से भेज दिये गये हैं.

Also Read: BPSC 67 Topper List: बाढ़ के अमन आनंद ने बीपीएससी में किया टॉप, देखें कटऑफ और टॉपर्स की लिस्ट

नियुक्ति पत्र मिलने के बाद भी नवनियुक्त अध्यापकों को विद्यालय आवंटन का करना होगा इंतजार

मोतिहारी के डीइओ संजय कुमार ने बताया कि नियुक्ति पत्र वितरण को लेकर तैयारी की जा रही है. जिले के डायट, बायट, बीआरसी मोतिहारी व पीपराकोठी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे अभ्यर्थियों को पटना में नियुक्ति पत्र दिया जाएगा. आवश्यकता पड़ने पर अन्य बीआरसी से भी अभ्यर्थियों को पटना भेजा जा सकता है. डीइओ ने बताया कि यह नियुक्ति पत्र औपबंधिक होगा. कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार नियुक्ति पत्र वितरण के बाद नवनियुक्त अध्यापकों को विद्यालय आवंटित किया जाएगा. नियुक्ति पत्र प्राप्त होने के बाद भी नव नियुक्त अध्यापकों को विद्यालय आवंटन का इंतजार करना पर सकता है. विद्यालय आवंटन छात्रों, इन्फ्रास्ट्रक्चर व विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों की संख्या के आधार पर सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाएगा. डीइओ कार्यालय इसके लिए एक्सरसाइज कर रहा है. इधर सोमवार को भी अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग डीपीओ स्थापना कार्यालय में हुई. डीपीओ साहेब आलम ने बताया कि छुटे हुए अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग की जा रही है.

Also Read: Bihar DA Hike: दिवाली से पहले राज्यकर्मियों को नीतीश सरकार देगी तोहफा, डीए में होगी बढ़ोतरी

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें