1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. taliban in afghanistan terror alert intelligence on indo nepal border in bihar avh

Intelligence Alert: अफगानिस्तान में तालिबानी तानाशाही का फायदा उठा सकते हैं आतंकी, कर सकते हैं भारत में घुसपैठ

खुफिया एजेंसी को इस बात की आशंका है कि अफगानिस्तान में उथलपुथल का फायदा आतंकी संगठन व समूह उठा सकते हैं. इंडो-नेपाल बॉर्डर से आतंकी भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कर किसी आतंकी घटना तक को अंजाम दे सकते हैं,

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
india nepal border news
india nepal border news
Facebook

अफगानिस्तान में तख्ता पलट के बाद सत्ता पर तालिबानी कब्जे के बीच वहां से हो रहे पलायन के मद्देनजर एसएसबी ने इंडो-नेपाल बॉर्डर पर सख्ती बढ़ा दी है. नित्य बदल रहे घटनाक्रम को लेकर भारतीय खुफिया एजेंसी ने सीमा की सुरक्षा में तैनात अधिकारियों को खास तौर पर अलर्ट किया है.

खुफिया एजेंसी को इस बात की आशंका है कि अफगानिस्तान में उथलपुथल का फायदा आतंकी संगठन व समूह उठा सकते हैं. इंडो-नेपाल बॉर्डर से आतंकी भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कर किसी आतंकी घटना तक को अंजाम दे सकते हैं, लिहाजा इसको लेकर बॉर्डर पर विशेष चौकसी की जरूरत है.

खुफिया सूत्रों का यह मानना है कि तालिबान समर्थित संगठनों का कई देशों में नेटवर्क है. वे अपने प्रभाव को स्थापित व विस्तार देने के लिए उनका इस्तेमाल कर सकते हैं. पूर्व से भारत विरोधी संगठन घुसपैठ के लिए नेपाली जमीन का इस्तेमाल करते रहे हैं.

विगत कुछ वर्षों में इंडो-नेपाल बॉर्डर क्षेत्र से कई आतंकी संगठन के सदस्यों की गिरफ्तारी भी की गयी है. इसमें अफगानी नागरिक भी शामिल है. मालूम हो कि पिछले डेढ़ वर्ष से कोविड-19 को लेकर इंडो-नेपाल बॉर्डर सील है. दोनों देश के नागरिकों को फिलहाल पैदल आने-जाने की सुविधा मिली हुई है.

बॉर्डर पर सीमा पार से आने वालों की सघन तलाशी

नेपाल से भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश करने वाले हर नागरिकों की सघन तलाशी ली जा रही है. हालांकि कोविड-19 के कारण बॉर्डर पहले से ही सील है. करीब एक माह से मात्र पैदल यात्रियों को ही कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार बॉर्डर पार करने की अनुमति दी गयी है. इसके बावजूद भी खुली सीमा को देखते हुए एक देश से दूसरे देश मे जाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है.

गुप्तचर एजेंसियों से मिली इनपुट के आधार आशंका व्यक्त की जा रही है कि अफगानिस्तान से पलायन करने वाली अफगानी नागरिक, तालिबानी अथवा आईएसआई से जुड़े आतंकी नेपाल के रास्ते भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं.

एसएसबी के अधिकारियों ने बताया कि वरीय अधिकारियों के निर्देश पर इंडो-नेपाल बॉर्डर के गौर-बैरगनिया मुख्य नाका के साथ साथ भारत-नेपाल को जोड़ने वाली पथों पर जवानों को पाली के अनुसार तैनात कर चेकिंग की जा रही है. इसके अलावा जिले से सटे सीमा क्षेत्र मेजरगंज, कन्हौली, सोनबरसा, सुरसंड, भिट्ठामोड़, परिहार व बेला में भी एसएसबी के अधिकारी व जवान नाका लगाकर चेकिंग कर रहे हैं.

क्या कहते हैं अधिकारी

अफगानिस्तान में बढ़ी उथल पुथल के मद्देनजर बॉर्डर पर सख्ती बढ़ा दी गयी है. वहीं बॉर्डर पार करने वालों की सघन तलाशी ली जा रही है. ग्रामीण क्षेत्र पर भी पूरी नजर रखी जा रही है. हमारे जवान पूरी तरह से अलर्ट है. प्रत्येक गतिविधियों पर हमारी पैनी नजर बनी हुई है.

- अमित कुमार, सहायक कमांडेंट, एसएसबी 20 वीं बटालियन

Posted By : Avinish Kumar Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें