1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. online dakhil kharij bihar land record now easy to access as new website for jamin ki jankari skt

Bihar: अब मोबाइल पर भी देख सकेंगे अपनी जमीन का रिकाॅर्ड, सभी समस्याओं का एक क्लिक से होगा समाधान

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने जमीन से जुड़ी सभी प्रकार की समस्या के समाधान और दस्तावेज की प्रतिलिपि संबंधी किसी भी जरूरत को पूरा करने के लिए एकल विंडो सिस्टम तैयार कर दिया है़. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा ऑनलाइन दाखिल- खारिज के लिए बने सॉफ्टवेयर में सुधार कर दिया गया है़.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
वेबसाइट को रिलांच करते राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम सूरत कुमार.
वेबसाइट को रिलांच करते राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम सूरत कुमार.
prabhat khabar

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने जमीन से जुड़ी सभी प्रकार की समस्या के समाधान और दस्तावेज की प्रतिलिपि संबंधी किसी भी जरूरत को पूरा करने के लिए एकल विंडो सिस्टम तैयार कर दिया है़ राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा दाखिल- खारिज (Dakhil-Kharij) के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिये लिए बने सॉफ्टवेयर में सुधार कर दिया गया है़

नये कलेवर और डिजाइन के साथ अब वेबसाइट

जमाबंदी की स्थिति ऑनलाइन देखने में आ रही दिक्कतें भी दूर कर दी है़ं खास बात यह है कि मोबाइल पर भी आसानी से यह काम करेगा़ मंत्री राम सूरत कुमार और अपर मुख्य सचिव विवेक सिंह द्वारा शनिवार को ऑनलाइन सेवाएं देने के लिए बनायी गयी वेबसाइट (biharbhumi.bihar.gov.in) को नये कलेवर और डिजाइन के साथ रिलांच किया गया़

बदलाव की थी जरूरत

एनआइसी के राज्य सूचना विज्ञान पदाधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि शुरू में इस सॉफ्टवेयर को झारखंड से लिया गया था, किंतु धीरे -धीरे उसमें बिहार की जरूरतों के हिसाब से जरूरी संशोधन किया गया़. अब इसे पूरी तरह से राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के लिए कस्टमाइज्ड कर दिया गया है़ . ऑनलाइन दाखिल-खारिज(online dakhil kharij) सेवा की शुरुआत 2017 में शुरू की गयी थी़ तभी से सॉफ्टवेयर में कई तरह के बदलाव की जरूरत महसूस हो रही थी़

सॉफ्टवेयर में सभी जरूरी सुधार

विभागीय अधिकारियों ने सरकार तक को इस संबंध में अवगत कराया था़. वेबसाइट की स्पीड बहुत कम थी़. दस्तावेज अपलोड करने में बहुत समय खर्च हो जा रहा था़. एप्लीकेशन की स्थिति क्या है यह जानने के लिए लोगों को बहुत समय देना पड़ता था़. एनआइसी ने सभी परेशानियों पर पहले शोध किया फिर सॉफ्टवेयर में सभी जरूरी सुधार कर दिये़.

ये हैं नयी सुविधाएं

नयी वेबसाइट से अब ऑनलाइन म्यूटेशन, एलपीसी, परिमार्जन आदि सभी सुविधाएं घर बैठकर मिलेंगी़. कोई भी व्यक्ति अपनी जमीन से जुड़े रिकाॅर्ड को देख सकेगा़. जमाबंदी पंजी की स्थिति क्या है़. उसके तैयार होने की तारीख कितनी है, यदि आवेदन के बाद भी रिकॉर्ड अपडेट नहीं हुआ है, ताे कारण के साथ यह जानकारी भी मिलेगी़. म्यूटेशन को आवेदन करने के बाद विभाग ने क्या कार्रवाई की. इसकी रोजाना अपेडट जानकारी उपलब्ध होगी़. यही नहीं म्यूटेशन में किसी तरह की गड़बडी है, तो उसके सुधार में भी देरी नहीं होगी़.

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग मंत्री ने कहा

बिहार के लोगों को बताते हुए खुशी हो रही है कि राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग का साॅफ्टवेयर फास्ट हो गया है़. सारी विषयों की जानकारी अब मोबाइल से भी आसानी से देखा जा सकता है़. लोगों की सारी शिकायतें दूर हो जायेंगी़. क्षेत्र भ्रमण के दौरान लोगों ने जो- जो शिकायत- समस्या बतायी थी, उसको ध्यान में रखकर इसे तैयार किया गया है़.

राम सूरत कुमार, मंत्री राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग

अपर मुख्य सचिव ने कहा

विभाग लंबे समय से इस बात पर मंथन कर रहा था कि लोगों को सिंगल विंडो सिस्टम के तहत सुविधाएं मिलें. आज यह व्यवस्था शुरू हो गयी है़. विभाग की वेबसाइट पर लोगों को सारी सुविधाएं मिलेंगी़. साथ ही इसकी मॉनीटरिंग भी की जायेगी ताकि परिणाम बेहतर- से- बेहतर लिये जा सकें.

विवेक कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें