28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Patna : लू से पटना में एक और की हुई मौत, रोज सैकड़ों लोग पहुंच रहे अस्पताल

बिहटा के नेऊरा में मंगलवार को लू लगने से एक अधेड़ व्यक्ति की मौत हो गयी. वहीं, पिछले 24 घंटे में गर्मी व लू लगने से बीमार आठ मरीजों को पीएमसीएच, आइजीआइएमएस व गार्डिनर रोड अस्पताल में भर्ती किया गया है.

प्रभात खबर टीम, पटना/बिहटा : प्रचंड गर्मी का असर लोगों के स्वास्थ्य पर लगातार पड़ रहा है. बिहटा के नेऊरा में मंगलवार को लू लगने से एक अधेड़ व्यक्ति की मौत हो गयी. उसकी पहचान नहीं हो सकी है. वहीं, पिछले 24 घंटे में गर्मी व लू लगने से बीमार आठ मरीजों को पीएमसीएच, आइजीआइएमएस व गार्डिनर रोड अस्पताल में भर्ती किया गया है. मालूम हो कि पिछले तीन दिनों में जिले में हीटवेव से सात लोगों की मौत हो गयी है. जानकारी के अनुसार नेऊरा थाना क्षेत्र के नेऊरा बगीचा के पास मंगलवार को एक अधेड़ का शव मिला. सूचना मिलने के बाद नेऊरा थानाध्यक्ष राजेश कुमार पांडे दलबल के साथ मौके पर पहुंचे. खबर लिखे जाने तक शव की पहचान नहीं पायी. थानाध्यक्ष राजेश कुमार पांडे ने बताया कि संभावना है कि अधेड़ की मौत लू लगने से हुई है. फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

पीएमसीएच में एक मरीज आइसीयू में

इस गर्मी के कारण लोग लगातार बीमार हो रहे हैं. वर्तमान में मेडिसिन, न्यूरो और बच्चा वार्ड पूरी तरह से फुल हो गये हैं. बीते 24 घंटे में पीएमसीएच में तीन, गार्डिनर में एक और आइजीआइएमएस में चार मरीज भर्ती किये गये हैं. वहीं अरवल जिले के लोदीपुर गांव के रहने वाले 77 वर्षीय रामजन्म शर्मा को लू लगने के बाद गंभीर हालत में पीएमसीएच में लाया गया, जहां उसे आइसीयू वार्ड में भर्ती किया गया है. परिजनों ने बताया कि वह घर से खाना खाने के बाद खेत में गये थे और अचानक बेहोश होकर गिर गये. जिला अस्पताल ने पीएमसीएच रेफर कर दिया.

उल्टी, बुखार, दस्त व लू के लक्षण वाले 167 मरीज पहुंचे

मंगलवार को पीएमसीएच, आइजीआइएमएस और न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल के ओपीडी में कुल करीब 5600 से अधिक मरीज इलाज कराने पहुंचे. इनमें 167 मरीजों बेचैनी, पेट में दर्द, नींद नहीं आना, उल्टी, दस्त, सिर दर्द और बुखार से पीड़ित थे. जांच के बाद डॉक्टरों ने गर्मी से होने वाली बीमारी की पुष्टि की. पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ आइएस ठाकुर ने बताया कि अस्पताल में हीट स्ट्रोक के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं. सभी का समुचित इलाज किया जा रहा है. आइसीयू में 77 वर्षीय एक मरीज को गंभीर हालत में भर्ती कराया गया है. इसके अलावा शिशु वार्ड व इमरजेंसी वार्ड में भी भर्ती मरीजों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अस्पताल में आने वाले मरीजों के इलाज के लिए सभी प्रकार की दवाएं उपलब्ध हैं. कोई गंभीर मरीज होता है, तो स्पेशल वार्ड में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें