1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. omicron in bihar cases found read patna and all district corona update of bihar news skt

Omicron: बिहार के किन जिलों में मिले ओमिक्रॉन केस, जानें अधिकतर रिपोर्ट में क्या बड़ी जानकारी आई सामने

बिहार में ओमिक्रॉन के दो दर्जन से अधिक मरीज अब सामने आये हैं. राजधानी पटना में सबसे अधिक मामले पाए गये हैं. वहीं अन्य जिलों के ऐसे मरीज मिले हैं जो बाहर से अपने घर लौटे हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार में ओमिक्रॉन के मामले
बिहार में ओमिक्रॉन के मामले
File

बिहार में कोरोना के मामले अब तेजी से बढ़ गये हैं. कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron In Bihar) के 27 मरीज अब और पाए गये हैं. इससे पहले 1 मरीज ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित पटना में पहले भी पाए गये थे. लेकिन अब इस वेरिएंट के 27 मरीजों की पुष्टि ने सूबे में हड़कंप मचा दिया है. रविवार को जिन जांच सैंपलों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है उनमें आधा से अधिक पटना के हैं. इसके अलावा अन्य जिलों के मरीजों की सैंपल में इसकी पुष्टि हुई है.

आइजीआइएमएस की लैब से रविवार को 32 कोरोना सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट सामने आई. इनमें 27 सैंपलों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है. ओमिक्रॉन वेरिएंट के सबसे अधिक 18 मरीज पटना (Patna Omicron ) के शामिल हैं. इसके बाद मधुबनी व गया के तीन-तीन, पूर्वी चंपारण के दो व पश्चिमी चंपारण का एक मरीज है. इसके अलावा पश्चिमी चंपारण व वैशाली के दो-दो मरीजों में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है.

बिहार में ओमिक्रॉन वेरिंएट के संक्रमण (Bihar Omicron Cases) से ग्रसित जितने मरीज पाए गये हैं उनमें अधिकतर वैसे लोग हैं जो बाहर से आए हैं. 98% मरीज बाहर से पटना आये हैं. इनमें विदेश से आने वाले व देश के महानगर और अन्य शहरों से आने वाले लोग अधिक हैं. ये मरीज पटना के रास्ते अपने गृह जिला गये हैं. इन मरीजों की उम्र 17 से लेकर 72 साल तक के बीच है. हालांकि राहत की बात ये है कि इन मरीजों की हालत अभी स्थिर है और सभी आइसोलेशन में हैं. किसी भी मरीज को भर्ती करने की जरूरत नहीं पड़ी है.

बता दें कि इससे पहले भी पटना में एक ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज सामने आया था. सूबे में पहला केस सामने आने के बाद काफी हड़कंप भी मचा लेकिन राहत की बात ये थी कि ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज ने काफी सतर्कता बरती और खुद को होम आइसोलेट कर लिया. सामान्य दवाओं का सेवन करके ही बेहद ही कम समय में ओमिक्रॉन का मरीज निगेटिव हो गया था.

Published By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें