24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

केके पाठक की मेहनत ने दिखाया रंग, बिहार में 60 फीसदी से अधिक छात्रों की उपस्थिति वाले स्कूलों की बढ़ी संख्या

तीन जनवरी 2024 की निरीक्षण रिपोर्ट के अनुसार 60 प्रतिशत से अधिक बच्चों की उपस्थिति वाले स्कूलों की संख्या 67.60 प्रतिशत रही है. स्कूलों में करीब पांच महीने में उपस्थिति दोगुनी हो गयी है. राज्य के 43 हजार 417 स्कूलों में दिसंबर माह में निरीक्षण किया गया है.

पटना. राज्य के सरकारी स्कूलों में शिक्षा विभाग की ओर से प्रतिदिन निरीक्षण शुरू होने के बाद से न केवल शिक्षकों की उपस्थिति सुधरी है, बल्कि विद्यार्थियों की संख्या में भी वृद्धि हुई है. राज्य के स्कूलों में जुलाई 2023 से निरीक्षण कार्य शुरू किया गया था. निरीक्षण के पांच माह पूरे होने के बाद स्कूलों की प्रतिदिन की समीक्षा रिपोर्ट के अनुसार स्कूलों 60 प्रतिशत से अधिक बच्चों की उपस्थिति वाले स्कूलों की संख्या में वृद्धि हुई है.

पांच महीने में उपस्थिति दोगुनी हो गयी

एक जुलाई की निरीक्षण रिपोर्ट के अनुसार 34.19 प्रतिशत स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति 60 प्रतिशत से अधिक और 75 प्रतिशत से कम रही थी. वहीं तीन जनवरी 2024 की निरीक्षण रिपोर्ट के अनुसार 60 प्रतिशत से अधिक बच्चों की उपस्थिति वाले स्कूलों की संख्या 67.60 प्रतिशत रही है. स्कूलों में करीब पांच महीने में उपस्थिति दोगुनी हो गयी है. राज्य के 43 हजार 417 स्कूलों में दिसंबर माह में निरीक्षण किया गया है.

पटना जिले की स्थिति सबसे बेहतर

इसमें सबसे अधिक पटना जिले के 3489 स्कूलों में 60 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति वाले स्कूलों की संख्या में सबसे अधिक 67 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. शिक्षा विभाग की ओर से प्रतिदिन स्कूलों का निरीक्षण होता है, उसी के आधार पर रिपोर्ट तैयार की जाती है. एक जुलाई से तीन दिसंबर के बीच शिक्षकों की उपस्थिति भी काफी सुधरी है.

128 शिक्षक बिना सूचना के गायब पाये गये

दिसंबर माह में हुए निरीक्षण में 128 शिक्षक बिना सूचना के गायब पाये गये थे. गायब रहने वाले शिक्षकों का उस दिन का वेतन काटने का निर्देश है. अनुपस्थित होने वाले शिक्षकों की संख्या में भी काफी कमी आयी है. एक जुलाई को स्कूलों में हुए निरीक्षण में 588 शिक्षक बिना कारण बताये स्कूलों से अनुपस्थित रहे थे.

15 जनवरी से स्कूलों में पदस्थापित होंगे नवनियुक्त शिक्षक

बीपीएससी द्वारा दूसरे चरण में नियुक्त विद्यालय अध्यापकों को 13 जनवरी को गांधी मैदान में नियुक्ति पत्र दिया जायेगा. इसके बाद सभी नये अध्यापकों को 15 जनवरी से स्कूलों में पदस्थापित करने की प्रक्रिया शुरू की जायेगी. अध्यापकों को स्कूल आवंटन सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जा रहा है.

Also Read: बिहार के विश्वविद्यालयों-कालेजों के खाते में पड़े 2000 करोड़ पर केके पाठक का एक्शन, सभी VC को भेजा ये निर्देश

नये शिक्षक जनवरी के अंतिम सप्ताह लेंगे कक्षा

जानकारी के अनुसार विद्यालय में योगदान के बाद नये शिक्षक जनवरी के अंतिम सप्ताह में कक्षा लेना शुरू करेंगे. जिला कार्यक्रम पदाधिकारी राजकमल ने बताया कि जिस दिन शिक्षक योगदान करेंगे, उसी दिन से उनका वेतन बनना शुरू हो जायेगा. नये शिक्षक स्कूलों में जनवरी के अंतिम सप्ताह से अध्यापन कार्य शुरू करेंगे.

जिले में ही मिलेगा तदर्थ नियुक्ति पत्र

गांधी मैदान में 13 जनवरी से पूरे राज्य भर से 25 हजार शिक्षक ही शामिल होंगे. इस दिन सभी शिक्षकों को मुख्यमंत्री द्वारा तदर्थ नियुक्ति पत्र प्रदान किया जायेगा. इसी दिन जिलों में भी नियुक्ति पत्र वितरण समारोह आयोजित होगा. शहर में मुख्यमंत्री द्वारा तदर्थ नियुक्ति पत्र प्रदान करने के बाद जिलों में आयोजित हो रहे कार्यक्रम में अन्य शिक्षकों को 13 जनवरी की तिथि में तदर्थ नियुक्ति पत्र प्रदान किया जायेगा. जिलों में आयोजित कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि सहित विभागीय पदाधिकारी मौजूद रहेंगे.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें