1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. ghulam rasool baliavi counterattack on giriraj singh asj

गिरिराज सिंह पर बलियावी का पलटवार, कहा- जिनकी सत्ता खतरे में होती है उन्हीं का धर्म खतरे में होता है

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के उस बयान पर गुलाम रसूल बलियावी ने पलटवार किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत में हिंदू धर्म खतरे में है. जदयू एमएलसी ने कहा है कि जिनकी सत्ता खतरे में होती है, उन्हीं को लगता है कि उनका धर्म खतरे में है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जदयू(JDU) नेता गुलाम रसूल बलियावी
जदयू(JDU) नेता गुलाम रसूल बलियावी
File

पटना. जदयू एमएलसी गुलाम रसूल बलियावी ने कहा कि देश में कोई धर्म खतरे में नहीं है, बल्कि कुछ व्यक्तियों की कुर्सी और सत्ता जरूर खतरे में है. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के उस बयान पर गुलाम रसूल बलियावी ने पलटवार किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत में हिंदू धर्म खतरे में है. जदयू एमएलसी ने कहा है कि जिनकी सत्ता खतरे में होती है, उन्हीं को लगता है कि उनका धर्म खतरे में है.

ठेकेदारों को पहचानना बहुत जरूरी है

बलियावी ने कहा कि गिरिराज सिंह सरकार में मंत्री हैं, फायर ब्रांड नेता हैं, लेकिन किसी जुलूस में नजर नहीं आ रहे हैं, ना उनके परिवार का व्यक्ति नजर आ रहा है और वे कहते हैं कि हिंदू खतरे में है. इन ठेकेदारों को पहचानना बहुत जरूरी है. जिसका बाप कह रहा हो कि फलना धर्म खतरे में है, उसका बेटा उस जुलूस में है कि नहीं, इसकी जांच होनी चाहिए. भारत में कौन सा धर्म खतरे में है, अगर खतरे में है तो क्या इन नेताओं के बाल बच्चे इस जुलूस में नजर आए हैं या नहीं आए हैं इसकी भी जांच होनी चाहिए. मीडिया को ऐसे लोगों की फुटेज निकाल कर दिखाना चाहिए.

देश सब कुछ समझता है

बलियावी ने कहा कि देश सब कुछ समझता है. देश समझदार है और जिन को समझ में आ गया है कि देश सब कुछ समझ गया है वह कुछ और समझाने की स्क्रिप्ट लिख रहे हैं, अब देखिए वह लोग कितना कामयाब होते हैं. देश बड़ा है देश की जनता सब कुछ समझ चुकी है भड़काने वाले को भी रास्ते पर ला देगी और जो भटक रहे हैं उनको भी रास्ते पर ला देगी.

बयान बहादुरों से बिहार नहीं चलता

मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग पर बलियावी ने कहा कि बयान बहादुरों से बिहार नहीं चलता है. उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म उन्माद फैलाने की अनुमति नहीं देता है. धर्म के नाम पर कुछ लोग उन्माद फैलाते हैं. इन लोगों को समाज बहुत अच्छी तरह से पहचानता है. यदि बिहार की बात करें तो बिहार में इस तरह के उन्माद फैलाने वाले लोगों का दवा पानी बहुत अच्छे से हो जाता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें