1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. fighting with each other has nothing to do with the method of worship cm nitish said freedom for all to follow their religion rdy

एक-दूसरे से झगड़ने का पूजा पद्धति से कोई संबंध नहीं, CM नीतीश बोले-सभी को अपने धर्म का पालन करने की आजादी

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि एक-दूसरे से झगड़ा करने का पूजा करने से कोई संबंध नहीं है. अगर कोई भी किसी कम्युनिटी का है और आपस में इस तरह का विवाद करता है, तो मान लीजिए उसको धर्म से कोई मतलब नहीं है. इसका मतलब है कि वो सही आदमी नहीं है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बात करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार.
सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बात करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार.
प्रभात खबर

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा कि कोई भी किसी धर्म को माननेवाला है, उसका अपना-अपना तरीका है. सब लोग अपने-अपने ढंग से अपना त्योहार मनाएं, लेकिन इसको लेकर के आपस में विवाद नहीं करना चाहिए. सब अपने-अपने धर्म का पालन कीजिए, इसको लेकर कहीं कोई रोक नहीं है. जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से नीतीश कुमार ने कहा कि अगर आप सचमुच पूजा में विश्वास करते हैं, तो ठीक से पूजा कीजिए. एक-दूसरे से झगड़ा करने का पूजा करने से कोई संबंध नहीं है. अगर कोई भी किसी कम्युनिटी का है और आपस में इस तरह का विवाद करता है, तो मान लीजिए उसको धर्म से कोई मतलब नहीं है. इसका मतलब है कि वो सही आदमी नहीं है.

प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए: सीएम

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में सांप्रदायिक सौहार्द्र बनी रहे, इसको लेकर राज्य सरकार पूरी तरह सजग है. मुख्यमंत्री ने कहा कि जब किसी समुदाय, धर्म के त्योहार का अवसर आता है, तो प्रशासन पूरी तौर पर अलर्ट रहता है, ताकि कोई गड़बड़ी न कर सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का एक-एक चीज पर कॉन्सेसनेस है. हमलोग चाहते हैं कि सभी लोगों में प्रेम और भाईचारे का भाव रहना चाहिए.

सभी को अपने धर्म का पालन करने की आजादी : मुख्यमंत्री

लाऊडस्पीकर पर नमाज को लेकर देश के कुछ हिस्सों में जारी विवाद के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब से हमें काम करने का मौका मिला है, तब से ही आपस में किसी तरह का विवाद न हो, झंझट न हो, इसको लेकर हमलोग काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पहले बिहार में कितना विवाद होता था, लेकिन हमलोगों ने लोगों में जागरूकता लाकर इसको बिल्कुल समाप्त करने की लगातार कोशिश की है. यहां पर ऐसा कुछ नहीं है, लेकिन अलर्टनेस है. उसके लिए ज्यादा चिंता मत करिए. हमलोग सबकी इज्जत करते हैं, हमलोग किसी को अपमानित नहीं करते हैं.

मंत्रियों की बयानबाजी की जानकारी नहीं, पूछ लेंगे

कुछ मंत्रियों द्वारा की जा रही बयानबाजी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें इसकी जानकारी नहीं है. अगर जानकारी मिलेगी, तो हम उनसे तुरंत पूछ लेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे पास कहीं से कोई जानकारी मिलती है, तो तत्काल पूछ लेते हैं. ऐसा कुछ नहीं है, कोई भूल से कुछ बोल दिया हो, तो उसकी बात अलग है.

बिहारी बाबू, बंगाली बाबू नहीं, सब हिंदुस्तानी बाबू हो जाइए

शत्रुघ्न सिंहा के बंगाली बाबू के रूप में लोकसभा उपचुनाव में मिली सफलता के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहारी बाबू और बंगाली बाबू क्या है, सब हिंदूस्तानी बाबू हो जाइए. यह सबसे अच्छा है. इसमें कोई दिक्कत नहीं है.

उपचुनाव में हार कोई खास बात नहीं

उपचुनाव के नतीजे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक जगह बाइइलेक्शन में हमलोगों की हार हो गयी, तो यह कोई खास बात नहीं है. इससे पहले दो बाइइलेक्शन हमलोग भी जीते हैं. यह आम चुनाव नहीं था. हमलोग तो एनडीए के उम्मीदवार के प्रचार के लिए गये ही थे, सब लोगों ने प्रचार किया था. वहां क्या हुआ, अभी जानकारी नहीं है कि हार क्यों हुई. आपस में बातचीत करने से पूरी जानकारी मिलेगी कि मामला क्या था. जनता मालिक है, उसको जो मन करे, उसे वोट दे. इस पर कभी कमेंट नहीं करते हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें