1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. disaster authority has remained a strategy to deal with the possible floods in the corona period

काेरोना काल में संभावित बाढ़ से निबटने को आपदा प्राधिकरण बना रहा रणनीति

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
काेरोना काल में संभावित बाढ़ से निबटने को आपदा प्राधिकरण बना रहा रणनीति
काेरोना काल में संभावित बाढ़ से निबटने को आपदा प्राधिकरण बना रहा रणनीति

पटना : कोरोना के इस दौर में संभावित बाढ़ में लोगों के जान-माल की सुरक्षा कैसे की जाये, सरकार ने इस पर मंथन शुरू कर दिया है. बाढ़ से प्रभावित लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों तक कैसे लाया जाये और सोशल डस्टिेंसिंग का पालन भी हो इसको लेकर तैयारी की जा रही है. इसको लेकर बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एसओपी बना रहा है, जो जून में ही बन जायेगा.

मानक तय होने पर मुखिया सहित अन्य लोगों को मानकों से अवगत कराया जायेगा, ताकि अधिक से अधिक लोग जागरूक हो सकें. जुलाई में बाढ़ का बढ़ता है कहर बिहार में जुलाई में बाढ़ का प्रकोप बढ़ता है. ऐसे में अगर अचानक से बाढ़ आ जाये तो कोरोना काल में लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर निकालकर लाना सरकार के लिए बड़ी चुनौती होगी. इसी उद्देश्य से प्राधिकरण भी एसओपी बना रहा है.

एसओपी के लिए तीन ड्राफ्टिंग कमेटी बनायी गयी है. अगले सप्ताह में इसे सरकार के स्तर पर इसकी मंजूरी मिल जाने की संभावना है. प्राधिकरण के अनुसार एसओपी बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग से सलाह ली जा रही है. साथ ही, बाढ़ में आश्रय स्थल तक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पहुंचाने को लेकर तैयारी की जा रही है.

वहीं, सामुदायिक किचेन में खाना देने को लेकर भी एसओपी में निर्णय लिया जायेगा. कोटबाढ़ अवधि में कोरोना का जोखिम कैसे कम हो, इसके लिए हर संभव कार्रवाई की जायेगी. कोरोना काल में बाढ़ राहत व बचाव का काम कैसे हो, इस पर एक गाइडलाइंस बनाया जा रहा है. इसकी औपचारिक मंजूरी के बाद मुखिया सहित अन्य जनप्रतिनिधियों को भी जागरूक किया जायेगा. व्यास जी, उपाध्यक्ष, बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण.

सात जिलों में, आठ एनडीआरएफ टीम की होगी तैनाती

9वीं बटालियन एनडीआरएफ कमांडेंट विजय सिन्हा ने बताया कि संभावित बाढ़ के खतरे को लेकर बाढ़ से प्रभावित सात जिलों को लेकर खास चर्चा की गयी.राज्य सरकार ने पहले फेज में सात जिलों को बाढ़ से बचाने के लिए चयनित किया है. एनडीआरएफ मुख्यालय के तरफ से आदेश मिलने के बाद आठ टीम को भेजा जायेगा.

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के पहले फेज में कटिहार, बेतिया, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, गोपालगंज, सुपौल और पटना में हैं. उन्होंने कहा कि छह जिलों में एक-एक एनडीआरएफ टीम होगी. इसके अलावा पटना में दो टीमें तैनात होंगी. इसके अलावे बिहार के तीन और जिले को भी बाढ़ संभावित जिले की सूची में रखा गया है. जिनमें सहरसा, अररिया, किशनगंज हैं. इन जिलों के लिये मुख्यालय से आदेश मिलने के बाद टीम को भेजा जायेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें