25.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारपटनाबिहार में जारी है डेंगू का डंक, पटना में मिले 38 नये संक्रमित, मरीजों की संख्या हुई 8411

बिहार में जारी है डेंगू का डंक, पटना में मिले 38 नये संक्रमित, मरीजों की संख्या हुई 8411

शुक्रवार को पटना व आसपास इलाके में 38 नये डेंगू के मरीज मिले. इसके साथ ही पटना जिले में डेंगू मरीजों की संख्या 8411 हो गयी है़ सबसे अधिक पाटलिपुत्र अंचल में 15, जबकि दानापुर में तीन, बांकीपुर, अजीमाबाद,कंकड़बाग व फतुहा में दो-दो, न्यू राजधानी अंचल व पटना सिटी में एक-एक नये डेंगू मरीज मिले हैं.

पटना. ठंड का मौसम शुरू होने के साथ ही डेंगू मरीजों की संख्या में लगातार कमी आ रही है. शुक्रवार को पटना व आसपास इलाके में 38 नये डेंगू के मरीज मिले. इसके साथ ही पटना जिले में डेंगू मरीजों की संख्या 8411 हो गयी है़ सबसे अधिक पाटलिपुत्र अंचल में 15, जबकि दानापुर में तीन, बांकीपुर, अजीमाबाद,कंकड़बाग व फतुहा में दो-दो, न्यू राजधानी अंचल व पटना सिटी में एक-एक नये डेंगू मरीज मिले हैं.

डेंगू के नौ नये संदिग्ध मरीज भर्ती

भागलपुर सदर अस्पताल में शुक्रवार को एलिजा जांच में डेंगू का एक कंफर्म मरीज मिला. इधर, मायागंज अस्पताल में 17 मरीजों का इलाज चल रहा था, जिसमें से चार गंभीर मरीजों को एचडीयू वार्ड में शिफ्ट किया गया है. डेंगू के नौ नये संदिग्ध मरीज भर्ती हुए. वहीं, स्वस्थ होने के बाद पांच मरीजों को डिस्चार्ज किया गया. इस समय फैब्रिकेटेड फील्ड अस्पताल में 13 मरीजों का इलाज चल रहा है. अस्पताल प्रबंधन को उम्मीद थी कि छठ तक मरीज मिलने बंद हो जायेंगे. इसके बाद बच्चों व महिलाओं के इलाज के लिए बनाये गये एमसीएच भवन में संचालित कैंसर डे केयर सेंटर को फैब्रिकेटेड अस्पताल में शिफ्ट कर दिया जायेगा. वहीं, राज्य स्वास्थ्य समिति ने एमसीएच भवन में बच्चों व महिलाओं को शिफ्ट करने का निर्देश दिया है.

डेंगू के छह नये मरीज मिले, संख्या बढ़ कर 445 हुई

कहलगांव अनुमंडल अस्पताल में शुक्रवार को 16 लोगों की डेंगू की जांच में छह लोग डेंगू पीड़ित पाये गये. अनुमंडल अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉ आनंद मोहन ने बताया कि अनुमंडल अस्पताल में अब तक 1833 लोगों की डेंगू जांच की गयी है, जिसमें अब तक 445 डेंगू पॉजिटिव पाये गये हैं.

जिले में डेंगू के चार मरीज मिले

मुजफ्फरपुर जिले में डेंगू मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही है. अब शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण में भी केस मिल ही रहे हैं. एसकेएमसीएच में शुक्रवार को जांच के दौरान डेंगू के चार नये केस की पुष्टि हुई है. वहीं दो मरीजों में डेंगू व चिकनगुनिया मिले हैं. जिला वेक्टरजनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डाॅ सतीश कुमार ने कहा कि जिले में अबतक डेंगू के 558 मरीज मिले हैं, जबकि पांच मरीज की मौत डेंगू से हो चुकी है. जिला वेक्टरजनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी ने बताया कि लैब से आयी जांच में जिले के कुल चार डेंगू के मरीज मिले हैं. एसकेएमसीएच व निजी अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती मरीजों की मॉनीटरिंग की जा रही है.

Also Read: बिहार में पॉक्सो एक्ट के कांडों की हर दिन होगी समीक्षा, सभी जिलों को निर्देश जारी

मुंगेर में दोबारा मिले डेंगू के तीन नये मरीज, कुल आंकड़ा 804

मुंगेर में मौसम के नर्म मिजाज के बीच जहां लगभग 82 दिन बाद मुंगेर में डेंगू का मामला शून्य हो गया था. वहीं इस बीच मुंगेर में शुक्रवार को दोबारा डेंगू के तीन नये मरीज एलाइजा जांच में पाये गये. इसके बाद अबतक जिले में कुल डेंगू मरीजों की संख्या 804 हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को मुंगेर में एलाइजा जांच में डेंगू के कुल तीन नये मरीज पाये गये. इसमें एक मरीज इलाज के लिये सदर अस्पताल में भर्ती हुआ. जबकि इस दौरान किसी भी मरीज को इलाज के बाद डिस्चार्ज नहीं किया गया. वहीं जिले में डेंगू के आरंभ से अबतक कुल 804 मरीज एलाइजा जांच में डेंगू संक्रमित पाये गये हैं. इसमें 110 मरीज इलाज के लिये सदर अस्पताल में भर्ती हुए हैं. जबकि इसमें से 109 मरीज अबतक इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. वहीं सदर अस्पताल में अबतक एलाइजा जांच में मिले एक डेंगू मरीज सहित संदिग्ध कुल छह मरीज इलाजरत हैं. बता दें कि जिले में एक सितंबर से डेंगू संक्रमण का आरंभ हुआ, जिसमें 82 दिनों तक यानि 21 नवंबर तक प्रतिदिन एलाइजा जांच में डेंगू के मरीज पाये गये. जबकि 22 और 23 नवंबर को एलाइजा जांच में डेंगू के एक भी मरीज नहीं मिले थे.

गुरारु के डुमरा गांव में हुई डेंगू से बचाव के लिए फॉगिंग

गया के मगध मेडिकल अस्पताल में 19 नवंबर की देर रात डेंगू से हुई एक व्यक्ति की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गुरारू के डुमरा गांव का दौरा किया. सिविल सर्जन डॉ रंजन कुमार के निर्देश के बाद जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ एमइ हक के नेतृत्व में स्वास्थ्य अधिकारियों ने गांव का दौरा कर डेंगू के दूसरे मामलों की जांच की. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने क्षेत्र में फॉगिंग की. सिविल सर्जन ने बताया कि डेंगू से हुई मौत के मामले की जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने वहां पहुंचने के बाद फॉगिंग करवायी. डेंगू के मामले मिलने के बाद उन जगहों पर डेमोफॉस लार्विसाइडल का छिड़काव करवाया जा रहा है. डेंगू सहित दूसरे मच्छर जनित रोगों से बचाव के लिए सभी को मच्छरदानी लगा कर सोने की सलाह दी गयी. मच्छरों की वजह से डेंगू सहित मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी बीमारी भी हो सकती है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें