1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. construction of four lane from patna aiims to bettiah start from this year these districts including saran vaishali get benefit rdy

पटना एम्स से बेतिया तक फोरलेन का निर्माण इसी साल से होगा शुरू, सारण, वैशाली समेत इन जिलों को मिलेगा फायदा

इस सड़क का निर्माण 2023 तक और इस मार्ग में पड़ने वाले जेपी सेतु के समानांतर नये फोरलेन पुल का निर्माण 2025 तक होने की संभावना है. इससे राज्य के पटना, सारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, पूर्वी और पश्चिम चंपारण जिलों को सीधा लाभ होगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
फोरलेन का निर्माण
फोरलेन का निर्माण
prabhat khabar

पटना एम्स से बेतिया तक करीब 167 किमी लंबाई में एनएच 139 डब्ल्यू फोरलेन सड़क का निर्माण इस साल शुरू होगा. यह सड़क पटना एम्स से शुरू होकर सोनपुर (एनएच-19 बाइपास) होते हुए वैशाली-मानिकपुर-साहेबगंज-अरेराज होते हुए बेतिया (एनएच-727) में मिलेगी. इसके लिए अधिकांश भूमि अधिग्रहण हो चुका है. फिलहाल अरेराज से बेतिया के बीच भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है. सड़कों का निर्माण 2023 तक और इस मार्ग में पड़ने वाले जेपी सेतु के समानांतर नये फोरलेन पुल का निर्माण 2025 तक होने की संभावना है. इससे राज्य के पटना, सारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, पूर्वी और पश्चिम चंपारण जिलों को सीधा लाभ होगा.

निर्माण एजेंसी का बहुत जल्द चयन किया जायेगा

सूत्रों के अनुसार फोरलेन सड़क का निर्माण पांच चरणों में होगा. पहले चरण में पटना एम्स से बकरपुर (सोनपुर), दूसरे चरण में बकरपुर (सोनपुर) से मानिकपुर, तीसरे चरण में मानिकपुर से साहेबगंज, चौथे चरण में साहेबगंज से अरेराज और पांचवें चरण में अरेराज से बेतिया सड़क का निर्माण होगा. पांचवें चरण में अरेराज से बेतिया करीब 10 किमी सड़क पूर्वी चंपारण जिला और करीब 31 किमी सड़क पश्चिम चंपारण जिला अंतर्गत है. अब पहले से चौथे चरण की सड़क बनाने के लिए टेंडर के माध्यम से निर्माण एजेंसी का बहुत जल्द चयन किया जायेगा. गौरतलब है कि नये एनएच को पिछले साल ही केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने मंजूरी दे दी थी.

मीठापुर-महुली सड़क से होकर 2024 में शुरू होगा आवागमन

पटना. राज्य में करीब 8.86 किमी लंबाई में मीठापुर-महुली फोरलेन एलिवेटेड सड़क से होकर 2024 से आवागमन शुरू होने की संभावना है. इस सड़क का निर्माण करीब 668 करोड़ रुपएये की लागत से चल रहा है, जिसमें करीब 60 फीसदी काम हो चुका है. इस पर आवागमन शुरू होने से यह पटना से गया, गया से बिहारशरीफ, बिहारशरीफ से बख्तियारपुर और बख्तियारपुर से पटना एनएच-83, एनएच-82, एनएच-31 और एनएच-30 से संपर्कता प्रदान करेगा.

सूत्रों के अनुसार मीठापुर बस स्टैंड के पास चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान के पीछे से सिपारा फ्लाइओवर (एनएच-30) तक और परसा से महुली तक जमीन पर और सिपारा से परसा तक 5.53 किमी एलिवेटेड निर्माण होगा. साथ ही इसमें सर्विस रोड भी बनाया जायेगा. सिपारा फ्लाइओवर से सिपारा गुमटी के बीच सात पुल व चार पुलिया बनेंगी. इस सड़क को बनाने में रेलवे की तरफ से जो समस्या आ रही थी, उसका समाधान भी हो चुका है. अब मीठापुर फ्लाइओवर के दक्षिण-पश्चिमी किनारे को रामगोविंदसिंह माहुली हॉल्ट से जोड़ने वाली यह सड़क बनने से पटना जिला सहित आसपास के इलाके के लोगों को सीधा लाभ होगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें