1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. ac cng buses in patna as bsrtc recruitment of drivers and conductors in patna news skt

भीषण गर्मी के बीच पटना के लोगों को मिलेगी एसी CNG बसों से राहत, जानिये कब से सड़कों पर उतारेगी BSRTC

25 नयी एसी सीएनजी बसें अगले माह पटना शहर की सड़कों पर दौड़ेंगी. बीएसआरटीसी की सिटी बसों के बेड़े में ये बसें शामिल होंगी. बीएसआरटीसी नये ड्राइवर और कंडक्टर की बहाली भी करेगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पटना की सड़कों पर अगले माह दौड़ेंगी 25 नयी एसी CNG बसें
पटना की सड़कों पर अगले माह दौड़ेंगी 25 नयी एसी CNG बसें
prabhat khabar

पटना शहर की सड़कों पर 25 नयी एसी सीएनजी बसें दौड़ेंगी. इनके लिए टेंडर पूरा हो गया है और कंपनी को सप्लाई ऑर्डर भी दिया जा चुका है. दो कंपनी मिलकर इन बसों की आपूर्ति करेगी. अगले माह अंत तक बीएसआरटीसी की सिटी बसों के बेड़े में ये बसें शामिल हो जायेंगी.

वर्तमान में 70 सीएनजी बसें 

शहर की सड़कों पर दौड़ने वाली ये पहली एसी सीएनजी बसें होंगी. वर्तमान में 70 सीएनजी बसें शहर की सड़कों पर दौड़ रही हैं. इनमें 50 नयी हैं जबकि 20 पुरानी डीजल बसों में सीएनजी कीट लगा कर उन्हें सीएनजी में बदला गया है, लेकिन इनमें से कोई भी एसी नहीं है.

शहर में दौड़ेंगी 145 नयी सीएनजी बसें

शहर में 145 नयी सीएनजी बसें दौड़ेंगी. इनमें 120 नॉन एसी बसें जबकि 25 एसी बसें होंगी. इनमें 75 बसें बीएसअारटीसी के द्वारा लायी जायेंगी जिनमें 25 एसी और 50 नॉन एसी होगी. 50 सीएनजी बसें प्राइवेट बस ऑपरेटर्स के द्वारा लायी जा रही हैं. बसें आ चुकी हैं और इनके एवज में हर बस मालिक को डीटीओ के द्वारा 7.5 लाख रुपये का अनुदान स्वीकृत हुआ है. इस माह के अंत तक इनका शहर में परिचालन शुरू हो जायेगा. चरणबद्ध ढंग से शहर से प्राइवेट पीली सिटीराइड बसों को बाहर करने की मुहिम का यह अंग है.

दिव्यांग स्पेशल बसों के लिए छठी बार टेंडर :

20 दिव्यांग स्पेशल सीएनजी बसें आ रही हैं जिनमें दिव्यांगों को उनके ट्रायसाइकिल समेत ले जाने की व्यवस्था होगी. सामान्य यात्री भी इन बसों का इस्तेमाल कर सकेंगे.

बीएसआरटीसी करेगा नये ड्राइवर और कंडक्टर की बहाली

बीएसआरटीसी के बसों में ड्राइवर और कंडक्टर की बहाली के लिए एक प्राइवेट एजेंसी ने विज्ञापन निकाला है. ड्राइवर पद पर नियुक्ति के लिए आवेदन के पास वैद्य ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए, जबकि कंडक्टर के लिए मैट्रिक पास होना और एंड्रॉयड मोबाइल चलाना आना जरूरी है. इच्छुुक आवेदक बांकीपुर प्रतिष्ठान में सुबह 10 से शाम चार बजे तक एजेंसी के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं.

POSTED BY: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें