राजद और कांग्रेस ने दूसरों के बारे में सोचा होता, तो बिहार पिछड़ा राज्य न बना होता : सुशील मोदी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्रीसुशीलकुमार मोदी ने पटना मेंबीते दिनों हुए भारी बारिश के बाद शहर के कई इलाकों में हुए जलजमावकीसमस्या पर ट्वीट कर कहा है कि हम चुनौती को अवसर में बदलेंगे. समस्याओं का समाधान भी हम ही लोग करेंगे. काम करने वालों से ही लोग अपेक्षा करते हैं. कठिन दौर से बिहार को निकाला है. इस दौर से भी पटना को निकालेंगे.

अपनेएक अन्य ट्वीटमेंसुशील मोदीने कहाहै कि महागठबंधन का सबसे बड़ा दल राजद जिनको मित्र दलों से सलाह किये बिना मुख्यमंत्री-पद का उम्मीदवार घोषित कर चुका है, उनका सामान्यज्ञान यह है कि वे जयंती और पुण्यतिथि में अंतर नहीं समझते. उनके माता-पिता के राज में विकास नहीं हुआ इसलिए वे विकास, साइंस या तकनीक को अच्छा नहीं मानते. जनता को लालटेन युग में रखने वाली पार्टी बैलेट पेपर से चुनाव चाहती है ताकि पहले की तरह हथियार के बल पर बूथलूट कर राज किया जा सके.

उन्होंने आगे कहा कि महागठबंधन में शामिल हर दल दूसरे को कुरबानी की नसीहत दे रहा है. जिन्होंने विधानसभा उपचुनाव की पांच में से चार सीटें अपने पास रख लीं, वे केवल महादलित समाज से त्याग की आशा कर रहे हैं. विधानसभा और लोकसभा की एक-एक सीट पर चुनाव लड़ने का फैसला करने वाली कांग्रेस उपदेश दे रही है कि दूसरों को "अपने बारे में कम, राज्य के हित में ज्यादा" सोचना चाहिए. राजद और कांग्रेस ने दूसरों के बारे में सोचा होता, तो बिहार उनके लंबे शासन में पिछड़ा राज्य न बना होता.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें