28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

अनियंत्रित ऑटो व बाइक की आमने-सामने की टक्कर में सात जख्मी

अनियंत्रित ऑटो व बाइक की आमने-सामने की टक्कर में सात जख्मी

चिकित्सक उपलब्ध नहीं रहने पर आधे घंटे तक रही अफरा-तफरी

प्रतिनिधि, औराई

थाना क्षेत्र के रामखेतारी गांव स्थित रुन्नीसैदपुर औराई मुख्य सड़क पर गुरुवार की रात ऑटो और बाइक की आमने-सामने टक्कर हो गयी. आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये. गंभीर स्थिति में घायलों को स्थानीय लोगों ने औराई सीएचसी लाया. सीएचसी में इलाज की समुचित व्यवस्था नदारत रहने एवं एंबुलेंस के अभाव में परिजनों ने पहले जमकर हंगामा किया. ड्यूटी पर तैनात मात्र एक आयुष चिकित्सक इरशाद अहमद को आक्रोशित लोगों ने खदेड़ा व गाली गलौज की. हाथापाई होने पर अस्पताल का शीशा फुटकर बिखर गया. चिकित्सक को गेट के अंदर भागना पड़ा. आक्रोशित परिजनों ने गेट का शीशा तोड़ दिया. चिकित्सक के साथ मारपीट की. सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष रूपक कुमार, रौशन मिश्रा समेत तमाम पुलिस बल की सहायता से लोगों को खदेड़ा गया. स्थिति पर काबू पाया गया. करीब आधे घंटे तक अस्पताल परिसर रणक्षेत्र बना रहा. प्राथमिक उपचार के बाद बाइक सवार तीनों ज़ख्मियों को एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया. ऑटो सवार तीन जख्मी का इलाज सीएचसी में चल रहा है.

बताया जाता है कि दिल्ली से गरीब रथ ट्रेन से उतरकर इन लोगो ने घर तक पहुंचने के लिए ऑटो भाड़ा मुजफ्फरपुर में किया था. अनियंत्रित बाइक और ऑटो की टक्कर में सभी गंभीर रूप से घायल हुए. घायलों में परसामा के बाइक सवार मनोज दास, गोविंद दास, पंकज दास को एसकेएमसीएच रेफर किया गया है. जबकि ऑटो पर सवार कटरा थाना क्षेत्र के कटाई गांव के तजमुल इस्लाम, अब्दुल मन्नान, शगुफ्ता प्रवीण समेत तीन लोगों का इलाज स्थानीय सीएचसी में तत्काल चल रहा है.

लोगों ने आरोप लगाया कि जब सभी जख्मी अस्पताल पहुंचे तो वहां कोई चिकित्सक बहुत देर तक नहीं थे. रात्रि में कभी भी एमबीबीएस डॉक्टर ऑन ड्यूटी नहीं रहते है. आयुष चिकित्सक हल्की बीमारी के मरीजों को भी एसकेएमसीएच रेफर कर पल्ला झाड लेते हैं. आक्रोशित लोगों का कहना था कि अस्पताल के प्रभारी कभी-कभार अस्पताल पहुंचते हैं. अस्पताल के प्रबंधक जैसे तैसे सीएचसी को चलाकर प्रत्येक दिन खानापूर्ति करते हैं. रोस्टर के अनुसार चिकित्सक अस्पताल में ड्यूटी नहीं करते हैं, एमबीबीएस चिकित्सक मर्जी के अनुसार आते और जाते हैं. पूरे अस्पताल को आयुष चिकित्सकों के सहारे छोड़ दिया गया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें