1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. madhubani
  5. makhana processing unit in madhubani ready by august phed minister said taste of mithila taste the world asj

अगस्त तक तैयार हो जायेगा मधुबनी में मखाना प्रोसेसिंग यूनिट, पीएचइडी मंत्री ने कहा- विश्व चखेगा मिथिला का स्वाद

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
शिलान्यास
शिलान्यास
प्रभात खबर

अंधराठाढ़ी. प्रखंड के मत्स्य नगर भगवतीपुर रुद्रपुर में रविवार को पीएचईडी मंत्री रामप्रीत पासवान ने मखाना प्रोसेसिंग केन्द्र का शिलान्यास किया. यह यूनिट लघु सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय भारत सरकार की स्फूर्ति योजना के तहत लगाया जाएगा. इसकी प्राकलित राशि 3 करोड़ 3 लाख रुपये है. जबकि अलग से 27 लाख रुपया सखी संस्था की तरफ से लगाया जाएगा.

मौके पर मखाना प्रोसेसिंग के डायरेक्टर दरभंगा, जिला मत्स्य पदाधिकारी डा. राजीव रंजन सिंह, एमएसएमई अवर सचिव विवेक माथुर, एमएसएमई सेक्शन ऑफिसर ज्योति कुमारी, पीपीडीसी आगरा एलेंगो, रिसर्च फाउंडेशन भोपाल के अरविंद मुग्दल, डीआईओ विजय शंकर, आयुष्मान फाउंडेशन पूर्णिया, ओपल पटना और क्रॉफ्टवाला संस्था के प्रतिनिधि मौजूद थे.

साथ ही अंधराठाढ़ी, हरलाखी, मधवापुर, बेनीपट्टी, फुलपरास, खुटौना और झंझारपुर मत्स्य सहकारी समिति के सचिव शामिल हुए. कार्यक्रम का संचालन डीआईओ निशांत कुमार ने किया. मौके पर मंत्री रामप्रीत पासवान ने कहा कि मखाना प्रोसेसिंग यूनिट प्रधानमंत्री मोदी के लोकल फ़ॉर वोकल की दिशा में एक शानदार अभियान साबित होगा.

ोंने कहा कि उत्पादन और प्रोसेसिंग के साथ-साथ मखाना उत्पाद की ब्रांडिग यहां से की जाएगी. यह मधुबनी के लिए गौरव की बात है. इससे क्षेत्र के मखाना उत्पादक किसानों को अब उनके उत्पाद का अच्छा मूल्य मिलेगा. अब मधुबनी के मखाना का स्वाद विदेशों में भी चखा जाएगा. जिससे मिथिला को अलग पहचान मिलेगी.

सखी संस्था की सचिव सुमन सिंह ने कहा कि यह यूनिट बिहार के सबसे उन्नत तकनीकी युक्त प्रथम ग्रामीण मखाना प्रोसेसिंग यूनिट बनने जा रहा है. जहां प्रतिवर्ष 2500 टन मखाना प्रोसेसिंग का लक्ष्य है. जिसमें मखाना का गुड़ी धोने, भुनने, पोपींग करने, फ्लेवर्ड के साथ-साथ पैकेजिंग करके स्वत: तैयार होगा. इस केन्द्र से जिले के लगभग आठ सौ लोग सीधे जुड़कर विभिन्न प्रकार से लाभान्वित होंगे.

उन्होंने कहा कि मखाना प्रोसेसिंग केन्द्र इसी साल जुलाई में बनकर तैयार हो जाएगा. वहीं अगस्त महीने से सीजन का मखाना पोपींग शुरुआत हो जाएगी. मौके पर सरपंच राजेन्द्र यादव, संटू चौधरी, रंजन झा, मत्स्य सचिव राजदेव मुखिया, नागेंद्र मुखिया, रामबाबू मुखिया, अशोक मुखिया और सखी की रश्मि सिन्हा, मंजू, आभा, प्रकाश मिश्रा सहित दर्ज़नों मखाना उत्पादक किसान, महिला और ग्रामीण शामिल थे.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें