26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

व्यापारी से लूटपाट मामले में चार आरोपित गिरफ्तार, हंगामा

व्यापारी से 65 हजार रुपये व मोबाइल लूट की घटना में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है.

अरनिया (जंदाहा).

जंदाहा-समस्तीपुर एनएच 322 जंदाहा थाना के जंदाहा बाजार कुशवाहा चौक स्थित टेंपो स्टैंड के समीप बीते गुरुवार की देर शाम एक मालवाहक वाहन पर लोड सात गाय एवं पांच गाय के बछड़ा तथा व्यापारी से 65 हजार रुपये व मोबाइल लूट की घटना में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने वाहन भी बरामद कर लिया है. इस मामले में कटिहार जिला के कोढा थाना के रामपुर निवासी मानिक लाल हसदा ने आठ लोगों के विरुद्ध नामजद एवं अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी थी. दर्ज प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि मानिक लाल हासदा अपने मैजिक माल वाहक वाहन से अपने उपचालक शीश मोहम्मद एवं व्यापारी पश्चिम बंगाल के मालदा जिला निवासी रियाजुल के साथ बीते गुरुवार को छपरा डोरीगंज मेला गया था. वहां से सात गाय एवं पांच गाय के बछड़ा वाहन पर लोड कर वापस लौट रहा था. जंदाहा कुशवाहा चौक स्थित टेंपो स्टैंड के पास एक बाइक पर सवार दो व्यक्ति एवं करीब दो दर्जन लोगों ने वाहन को रोक लिया और दो लाख रुपये की मांग की. सभी को गाड़ी से उतार कर उनके साथ गाली गलौज एवं मारपीट की गयी. मारपीट के क्रम में ही व्यापारी से 65 हजार रुपये एवं मोबाइल छीन लिया. इसके बाद वाहन पर लोड सात गाय एवं पांच गाय के बछड़ा को लेकर सभी भाग निकले. घटना की सूचना पुलिस को दी गयी. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

आक्रोशित लोगों ने किया थाने का घेराव :

बीते गुरुवार की देर शाम जंदाहा बाजार के कुशवाहा चौक टेंपो स्टैंड के समीप एक मालवाहक वाहन पर लोड गाय एवं गाय के बछड़ा की लूट तथा व्यापारी से रुपये छीन लेने के आरोप में चार लोगों की गिरफ्तारी के विरोध में शनिवार को आक्रोशित लोगों ने जंदाहा थाना का घेराव किया. जंदाहा पुलिस ने इसकी सूचना वरीय पदाधिकारियों को दी. सूचना मिलते ही महुआ एसडीपीओ सुरभ सुमन काफी संख्या में पुलिस जवानों के साथ मौके पर पहुंची और आक्रोशित लोगों को समझा कर शांत कराया. इस मामले में नगर पंचायत के वार्ड पार्षद दीपक कुशवाहा ने बताया कि इस घटना में उनके भाई मोहन कुशवाहा को नामजद आरोपित बनाने से लोगों में आक्रोश है. कहा कि घटना के समय उनका भाई मोहन घटनास्थल के पास मौजूद नहीं था. लूट मामले में उसे आरोपित करने की सूचना पर समर्थकों के साथ थाना पर गये थे. आरोप लगाया कि पुलिस ने उसकी शिकायत नहीं सुनी और धक्का देकर भगा दिया. थाना अध्यक्ष शंभू नाथ सिंह ने बताया कि आरोपी के समर्थकों ने मोहन कुशवाहा का नाम हटाने के लिए दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा था. पुलिस ने वार्ड पार्षद के साथ धक्कामुक्की नहीं की है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें