1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. hajipur
  5. crores of scams in the sight of hajipur show cause from the then nazir of bidupur block asj

हाजीपुर के नजारत में बड़ा घोटाला, बिदुपुर प्रखंड के तत्कालीन नाजिर से शो-कॉज

इतनी बड़ी रकम की हेराफेरी की जानकारी मिलने के बाद प्रखंड प्रशासन सकते में है. बीडीओ ने इस मामले में तत्कालीन नाजिर बाल कृष्ण राय से शो-कॉज कर रुपये जमा कराने का निर्देश दिया है. ऐसा नहीं करने पर राशि गबन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने चेतावनी दी गयी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पैसा
पैसा
फाइल

हाजीपुर. बिहार के हाजीपुर में एक बड़ा घोटाला सामने आया है. यह घोटाला कोई लाख दो लाख का नहीं बल्कि कए करोड़ से अधिक का बताया जा रहा है. जिले के बिदुपुर प्रखंड नजारत में जांच के दौरान करीब एक करोड़ चार लाख 33 हजार 282 रुपये 91 पैसे की हेराफेरी पकड़ी गयी है. इतनी बड़ी रकम की हेराफेरी की जानकारी मिलने के बाद प्रखंड प्रशासन सकते में है. बीडीओ ने इस मामले में तत्कालीन नाजिर बाल कृष्ण राय से शो-कॉज कर रुपये जमा कराने का निर्देश दिया है. ऐसा नहीं करने पर राशि गबन के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने चेतावनी दी गयी है.

रिटायर्ड हो चुका है तत्कालीन नाजिर 

बता दें कि तत्कालीन नाजिर बाल कृष्ण राय छह महीने पहले रिटायर हो गये हैं और हाजीपुर में मकान बनाकर रहते हैं. शो-कॉज में बीडीओ ने असमायोजित अभिश्रय एवं सामाजिक सुरक्षा रोकड़ बही के साथ-साथ सामान्य रोकड़ बही में भी राशि का अंतर पाये जाने की बात कही है. बीडीओ ने कहा है कि असमायोजित अभिश्रय सामान्य रोकड़ बही में एक करोड़ 48 लाख 76 हजार 197 रुपये 91 पैसे के एवज में मात्र 44 लाख 73 हजार 515 रुपये का प्रभार दिया गया है. शेष एक करोड़ चार लाख दो हजार 686 रुपये 91 पैसे का कोई प्रभार नहीं दिया गया है.

पैसे तत्काल प्रखंड नजारत में जमा करने का निर्देश

वहीं, सामाजिक सुरक्षा रोकड़ बही की कुल सात पंजियों में 99 लाख 81 हजार 80 रुपये में से 32 हजार छह सौ रुपये का कोई हिसाब नहीं पाया गया है. इस तरह से बीडीओ ने एक करोड़ चार लाख 33 हजार 282 रुपये 91 पैसे तत्काल प्रखंड नजारत में जमा करने का निर्देश दिया है.

एफआइआर दर्ज की जायेगी

बीडीओ किरण कुमारी ने बताया कि अगर तत्कालीन नाजिर बाल कृष्ण राय ने उक्त राशि प्रखंड नजारत में जमा कर प्रभार नहीं दिया, तो उनके विरुद्ध सरकारी राशि का गबन करने के आरोप में एफआइआर दर्ज की जायेगी. इसके साथ सरकारी राशि की रिकवरी भी की जायेगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें