राइजिंग स्टार की उपविजेता मैथिली ठाकुर के गीतों पर मंत्रमुग्ध हुए श्रोता

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

दरभंगा (कमतौल) : मिथिला की बेटी राइजिंग स्टार की उपविजेता मैथिली ठाकुर ने जाले प्रखंड अंतर्गत अहियारी उत्तरी पंचायत के धार्मिक तीर्थ स्थल अहल्यास्थान में दसवें राजकीय महोत्सव के पहले दिन बुधवार को एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्तुति से उपस्थित हजारों श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया. यूं कहें कि मैथिली ने मैथिली भक्ति संगीत से श्रोताओं को सराबोर कर दिया, अतिश्योक्ति नहीं होनी चाहिए.

मैथिली ठाकुर ने अपनी प्रस्तुति में मैथिली, हिंदी गायिकी की शानदार प्रस्तुति से श्रोताओं को झूमा डाला. उसने 'जुड़ाबे लगली है सासु अपनी नयनमा' जैसे परिछन से गायन की शुरुआत की. छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाइके' पर श्रोताओं की भरपूर तालियां बटोरी. हिंदी गाने दमादम मस्त कलंदर अली का पहला नंबर, रामजी से पूछे जनकपुरी की नारी, बता दे बबुआ, लोगवा देत काहे गाली, बता दे बबुआ...की प्रस्तुति कर महोत्सव के अवसर पर पधारे अतिथियों और दर्शकों की खूब वाह वाही लूटी.

मैथिली ठाकुर की प्रस्तुति देखने के लिए काफी संख्या में लोगों की भीड़ जुटी हुई थी. इससे पहलेसांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने 'मोरा अंगना में उगि गेल चान रे, ए पहुना एहि मिथिले में रहू ना, जनक किशोरी मोरी भेलखिन बहिनिया मिथिला के नाते रामजी भेलखिन पहुनमा, सादगी तो हमारी जरा देखिए एतबार आपके वादे पर कर लिया, जैसे गीत गाकर श्रोताओं की वाहवाही लूटी थी. इससे पहले बजरंग म्यूजिकल के कलाकार रघुबीर ने 'चलु चलु यो मीता मिथिला धाम (गाम) अपना', सीमा प्रसाद ने 'पायो जी मैंने रामरतन धन पायो, जगदम्बा घर में दियरा बारी ऐली हे, जैसे गीतों से माहौल भक्तिमय बनाये रखा. विपिन मिश्रा के शंख वादन ने भक्तिमय माहौल को और भक्तिमय बना दिया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें