1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. cyclone yaas toofan latest update three lakh population lost contact with capital patna bihar weather update avh

बिहार में Cyclone Yaas बरपा गया कहर, राजधानी पटना से तीन लाख की आबादी का टूटा संपर्क

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bihar News
Bihar News
Prabhat Khabar

चक्रवाती तूफान यास का कहर भले ही अब थम गया है, लेकिन दो दिनों के दौरान इसने जो तबाही मचायी, उसका मंजर अभी भी लोगों के जेहन में ताजा है. वैशाली जिले में यास के कहर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले तीन दिनों से राघोपुर प्रखंड की तीन लाख की आबादी का राजधानी पटना व जिला मुख्यालय हाजीपुर से संपर्क टूटा हुआ है. आवागमन के एक मात्र साधन पीपापुल के एप्रोच रोड के क्षतिग्रस्त हो जाने व नदी में नाव के परिचालन पर लगी रोक की वजह से राजधानी व जिला मुख्यालय से राघोपुर प्रखंड के लोग कट गये हैं. इसकी वजह से लोगों को कई तरह की परेशानी झेलनी पड़ रही है.

मालूम हो कि बीते शुक्रवार को चक्रवाती तूफान यास की वजह से हुई मूसलाधार बारिश में रुस्तमपुर, जमीनदारी घाट एवं पटना जिले के गयासपुर गंगा नदी पर बने पीपा पुल का पहुंचपथ क्षतिग्रस्त हो गया था. इसके कारण गाड़ियों की आवाजाही बंद हो गया. ठेकेदार ने पीपा पुल पर बैरियर लगा दिया. मजबूरन लोग अपने सिर पर सामानों की लेकर पीपा पुल पार कर रहे हैं. चक्रवाती तूफान की वजह से जारी अलर्ट की वजह से अंचल कार्यालय राघोपुर द्वारा 27 मई से 30 मई तक नदी में नाव के परिचालन पर रोक लगायी गयी है. वहीं पुल निर्माण निगम द्वारा 26 मई से 30 मई तक सभी पीपा पुल को बंद कर दिया गया है. राघोपुर की तीन लाख आबादी के लिए आवागमन के सारे साधन बंद हैं. ऐसे में अगर किसी कोरोना संक्रमित या गंभीर रूप से बीमार मरीज को बेहतर इलाज की जरूरत पड़ गयी, तो वह भी उसे उपलब्ध नहीं हो सकेगा.

चार नाव को परिचालन की मिली अनुमति- लोगों को हो रही परेशानी को देखते अनुमंडल कार्यालय हाजीपुर द्वारा राघोपुर के रुस्तमपुर एवं जेटली घाट पर चार नाव चलाने की अनुमति दी गयी है. सीओ राणा अक्षय प्रताप सिंह ने बताया कि जेटली घाट पर रंजीत राय, महेंद्र राय, रविंद्र राय एवं बृजराज राय को चलाने की अनुमति दी गयी. सीओ ने बताया कि नाविक को नाव पर दो नाविक, लाइफ जैकेट रखने एवं कोरोना गाइडलाइन के पालन करने का निर्देश दिया गया है. साथ ही क्षमता से अधिक सवारी नहीं बैठाने तथा सूर्यास्त से पहले एवं सूर्यास्त के बाद नाव का परिचालन गंगा नदी में नहीं करने का भी सख्त निर्देश दिया गया है.

वहीं बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अभियंता अरविंद कुमार ने बताया कि सभी पीपा पुल के एप्रोच रोड का मरम्मत का काम किया जा रहा है. 1 जून से सभी पीपा पुल पर परिचालन शुरू कर दिया जाएगा.

Posted By : Avinish kumar mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें