1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. boat accident in khagaria and saharsa more than one and a half dozen people missing two bodies found

Bihar Flood 2020: खगड़िया और सहरसा नाव हादसे में आधे दर्जन से अधिक शव मिले, लापता लोगों की तालाश जारी...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ
बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ
प्रभात खबर

खगड़िया और सहरसा में हुए नाव हादसे में डेढ दर्जन से अधिक लोगों के लापता होने की खबर है. हादसे में लापता लोगों की तलाश जारी है. खगड़िया के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के एकनियां घाट के पास मंगलवार की शाम नाव डूबने से लगभग एक दर्जन लोग लापता हो गये हैं. वहीं सहरसा के चिड़ैया ओपी के बगुलबा टोल के पास मंगलवार की शाम आंधी आने से नाव पलट गयी, जिससे महिला, पुरुष व बच्चे लापता हैं.बुधवार सुबह एनडीआरएफ की टीम ने खगडिया में 5 और सहरसा हादसे के शिकार 3 लोगों के शव को बरामद कर लिया है. वहीं लापता लोगों की तालाश जारी है.

छह शवों को निकाला गया

जानकारी के अनुसार खगड़िया में हुए नाव हादसे के बाद नाव पर सवार लगभग डेढ़ दर्जन लोग तैर कर किनारे आ गये, जबकि करीब दर्जन भर लोग नदी में बह गये. लापता लोगों में अधिकतर महिलाएं व पुरुष शामिल हैं. एसडीआरएफ की टीम ने छह शवों को निकाला है़ दो मृतक की पहचान सोसाइटी टोला निवासी कोहल यादव की पत्नी रूपम देवी तथा छोटकी यादव की पत्नी विवेका देवी के रूप में गयी है. हालांकि स्थानीय लोगों ने बताया कि शंभू यादव का पुत्र सुशांत कुमार, रंजीत यादव की पुत्री शिवानी कुमारी, दीक्षा कुमारी, रौशन यादव की पत्नवी दुलारी देवी आदि लापता हैं. लापता लोगों में मुंगेर जिले के भी तीन लोग शामिल हैं. मौके पर विधायक समेत कई आला अधिकारी मौजूद हैं.

नाव पर लगभग 25 से 30 लोग थे सवार

घटना मंगलवार शाम की है. जब सोनवर्षा टीकारामपुर के ग्रामीण मानसी बाजार में जरूरत की सामग्री खरीद कर नाव से घर लौट रहे थे. इसी दौरान तेज हवा के कारण नाव एकनियां घाट के समीप बूढ़ी गंडक में पलट गयी. मिली जानकारी के अनुसार, इंगलिश टोला, देबन टोला, सोनवर्षा, टीकारामपुर पूर्व टोला के दर्जनों लोग मानसी बाजार में जरूरत की सामग्री खरीद कर पांच किलोमीटर के समीप नाव पर सवार हुए. एकनियां घाट के समीप जैसे ही नाव पहुंची तेज हवा चलने लगी. तेज हवा के कारण नाव पलट गयी. नाव पर सवार लगभग डेढ़ दर्जन लोग तैर कर निकल गये. हालांकि, डीएम की मानें तो नाव पर लगभग 25 से 30 लोग सवार थे. डीएम आलोक रंजन घोष ने बताया कि पांच किलोमीटर के समीप से टीकारामपुर के लिए नाव खुली थी. नाव पर 25-30 लोग सवार थे. कितने लोग लापता हैं तथा कितने लोग सुरक्षित निकल पाये. सही आंकड़ा सामने नहीं आया है.

सहरसा में छह लापता

दूसरी ओर सिमरी बख्तियारपुर (सहरसा) से आ रही जानकारी के अनुसार चिड़ैया ओपी के बगुलबा टोल के पास मंगलवार की शाम आंधी आने से नाव पलट गयी, जिससे महिला, पुरुष व बच्चे लापता हैं. मृत चार वर्षीय बच्चा अलानी पंचायत की सरपंच चिड़ैया गांव निवासी सीता देवी का नाती है. ग्रामीणों ने मृत बच्चे के अलावा पांच महिलाओं व चार पुरुषों को बचा लिया गया. लेकिन छह लोग अब भी लापता हैं. नाव चिड़ैया से अलानी पंचायत के सहुरी गांव जा रही थी. ग्रामीणों के अनुसार करीब तीन बजे शाम में सहुरी गांव के लोग हाट-बाजार करने चिड़ैया आये थे. करीब छह बजे शाम में सभी चढ़कर वापस सहुरी गांव जा रहे थे. नाव बगुलबा टोल से करीब आधा किलोमीटर दूर आगे बढ़ा ही था कि आंधी-तूफान के साथ बारिश में फंस कर डूब गया.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें