1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar news there are 64 percent tainted minister in cm nitish kumar cabinet leader of opposition tejashwi yadav submit list to bihar vidhan sabha speaker upl

Bihar News: नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल 64 फीसदी मंत्री दागी! तेजस्वी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष को सौंपी सूची

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव
Twitter

Bihar News: बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के पहले शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) विधानसभा में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दांगी मंत्रियों को लेकर नीतीश सरकार (Nitish Kumar) पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि नीतीश मंत्रिमंडल (Nitish Cabinet) में शामिल दागी मंत्रियों की सूची विधानसभा अध्यक्ष को सौंपी है.

कहा कि बिहार सरकार के 31 मंत्रियों में से 18 यानी 64 प्रतिशत मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. तेजस्वी यादव ने मंत्री रामसूरत राय पर लगे आरोपों को लेकर एक बार फिर सरकार पर हमला बोला और कहा कि सरकार अपने मंत्री को बचा रही हैं. लेकिन उनके खिलाफ सारे सबूत आज विधानसभा अध्यक्ष को दिया.

उन्होंने कहा जब मैंने सदन में दागी मंत्रियों की जिक्र किया था तो विधानसभा अध्यक्ष ने तथ्य भी मांगा था. इस वजह से मैंने वैसे मंत्रियों की सूची सौंप दी है. कहा कि एडीआर रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि 31 मंत्रियों में से 18 यानी 64 प्रतिशत मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. 18 में 14 मंत्री पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं, उन आपराधिक मामलों का व्यक्तिगत डाटा भी मैं विधान सभा अध्यक्ष को सौपने जा रहा हूं.

बता दें कि कि आज बिहार विधानमंडल के बजट सत्र का आज 19वां दिन है, सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले पोर्टिकों में राजद विधायकों ने शराबबंदी को लेकर जमकर नारेबाजी की. साथ ही बिहार के पहले मुख्यमंत्री डॉ. श्रीकृष्ण सिंह और जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत दिलाने की मांग की. आज जिस तरीके से तेजस्वी यादव ने सरकार पर हमला बोला है उससे संभावना जतायी जा रही है कि सदम में हंगामा हो सकता है.

Bihar News: बिहार में अगले साल से उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार

लोकसभा की तर्ज पर बिहार विधानसभा के सदस्यों को उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. पुरस्कार चयन समिति विधायक का नाम तय करेगी. इस पुरस्कार के तहत उन्हें प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा. एक बार यदि किसी विधायक को पुरस्कार मिल गया तो अगले साल उनके नाम पर विचार नहीं किया जाएगा. विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने इसकी घोषणा की.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें