31.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार: बगहा में मुखिया पर फायरिंग, बाल-बाल बचे, पिता की भी माओवादियों ने की थी हत्या, लोगों ने थाने को घेरा

बिहार: बगहा प्रखंड अंतर्गत बैरागी सोनबरसा के मुखिया सूरज सिंह पर जानलेवा हमला हुआ है. हमले में मुखिया बाल-बाल बच गये हैं. घटनास्थल से एक खोखा और एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ है. मामले में पुलिस ने एक आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

बिहार: बगहा प्रखंड अंतर्गत बैरागी सोनबरसा के मुखिया सूरज सिंह पर जानलेवा हमला हुआ है. हमले में मुखिया बाल-बाल बच गये हैं. घटनास्थल से एक खोखा और एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ है. मामले में पुलिस ने एक आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. चिउटाहा थानाध्यक्ष जय नारायण राम ने बताया कि मुखिया सूरज सिंह ने थाना में लिखित आवेदन दिया है. बताया कि वह बैराटपुर मेला के अध्यक्ष है. मेला की व्यवस्था उनकी देखरेख में होती है. शुक्रवार देर रात करीब 1:30 बजे मेला की व्यवस्था को देखकर अपने समर्थक मनीष कुमार, रितेश ओस्ता, पवन कुमार, सुदामा यादव के साथ घर रतनपुरवा लौट रहे थे. इसी दौरान पार्किंग स्थल पर पहले से घात लगाए 25-30 की संख्या में हथियार से लैस अपराधियों ने उन पर हमला बोल दिया.

अपराधियों में शामिल दो अपराधी उन पर गोली चला दी. हालांकि इस घटना में वे बाल-बाल बच गये. इसके बाद सभी अपराधियों ने उन्हें चारों तरफ से घेर कर उन पर लाठी-डंडों से हमला बोल दिया. इसके बाद मुखिया ने हो हल्ला करना शुरू कर दिया. तब मेला समिति के सदस्य एवं मेला के लोग घटनास्थल पर पहुंचे. लोगों को आते देखकर अपराधी फरार हो गये. हमलावरों के हमला में मेला समिति के मनीष कुमार, पवन कुमार व रितेश ओस्ता पूरी तरह से जख्मी हो गये. सभी जख्मी का स्थानीय स्तर पर उपचार हो रहा है. थानाध्यक्ष ने बताया कि मुखिया के आवेदन पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

Also Read: रामनवमी हिंसा: बिहार में केवल नालंदा-सासाराम में ही नहीं गया भी हुई थी हिंसा, कई पुलिसकर्मी घायल, जानें अपडेट

शनिवार को पंचायत के एक हजार लोग चिउटाहा थाना पर पहुंच कर आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर थाना का घेराव किया. पुलिस के समझाने के बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ और वे वापस लौट गये. थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में एक आरोपित को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

मुखिया सूरज सिंह के पिता स्व. विजय सिंह व उनके साथी उदय पाल को वर्ष 2002 में माओवादियों ने सेमरा थाना के नौतनवा स्थित उनके निजी मार्केट में दिन के करीब चार बजे गोलियों से भून डाला था. इसमें दोनों लोगों की मौत मौके पर ही हो गयी थी. स्व. विजय सिंह के सुपुत्र व बैरागी सोनबरसा मुखिया सह बैराटपुर देवी स्थान के अध्यक्ष सूरज सिंह ने बताया कि माओवादियों द्वारा दोनों लोगों की निर्मम हत्या करने के बाद माओवादियों की दर्जनों की टीम ने उसके तुरंत बाद ही उनके पैतृक घर को डायनामाइट बम से उड़ा दिया था. लेकिन, घर के परिजनों को घर से बाहर निकाल दिया था. पक्का मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गया था.

बोले एसपी

एसपी किरण कुमार गोरख जाधव ने बताया कि इस मामले में आठ लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है. एक व्यक्ति को गिरफ्तार पूछताछ की जा रही. पुलिस मामले में जांच पड़ताल कर रही है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें