1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar corona update coronavirus positive women run away from jlmnch hospital bhagalpur news upl

होश आते ही अस्पताल से बाहर निकल गयी कोरोना पॉजिटिव महिला, किसी की हिम्मत नहीं की पकड़ सके

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार के अस्पतालों में होने लगी बेड की किल्लत
बिहार के अस्पतालों में होने लगी बेड की किल्लत
File

बिहार में कोरोना (Bihar me corona) कहर बेतहाशा जारी है. राज्य के कई जिलों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है. इसी बीच कोरोना से जुड़ी ऐसी कई खबरें भी आ रही हैं जो थोड़ी अजीब सी होती हैं. एक ऐसी ही घटना घटी है भागलुपर में. जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जेएलएमएनसीएच) के एमसीएच वार्ड में मंगलवार देर रात करीब 12 बजे एक कोराना पॉजिटिव महिला को भर्ती कराया गया.

महिला की तबीयत में थोड़ा सुधार हुआ. करीब साढ़े चार बजे महिला अपनी बीमार मां के पास जाने की जिद करने लगी. महिला डॉ विनय कुमार के यूनिट में भर्ती थी. महिला घर जाने की जिद करते हुए वार्ड के गेट पर आ गयी. मरीज पॉजिटिव थी, इसलिए किसी गार्ड की हिम्मत नहीं हुई की उसे रोक सके. महिला सीधे अपने घर चली गयी. मरीज के बीएचटी में लामा अस्पताल से फरार घोषित कर दिया गया.

Coronavirus in Bhagalpur: ये है सबसे बड़ी परेशानी 

अब परेशानी यह है कि महिला कोरोना पॉजिटिव है. अपने घर में जाने के लिए इसने किस वाहन का प्रयोग किया. वाहन का चालक कौन था. यह महिला रास्ते में कहां-कहां रूकी. समेत कई अहम जानकारी लेने का प्रयास अस्पताल प्रबंधन कर रहा है. पॉजिटिव होने से महिला जिससे भी मिलेगी उसे संक्रमण होने का खतरा होगा.

कोरोना नोडल पदाधिकारी डॉ हेमशंकर शर्मा ने बताया कि महिला को गंभीर हालत में लाया गया था. महिला के परिजनों ने जो मोबाइल नंबर दिया था. उस पर संपर्क करने का प्रयास किया गया. मरीज के फरार होने की सूचना अस्पताल अधीक्षक को दे दी गयी है.

Coronavirus in Bhagalpur: 540 यात्रियों की जांच में 82 लोग पॉजिटिव, टूटा रिकॉर्ड

भागलपुर स्टेशन पर अबतक चार से पांच दर्जन ही लोग कोरोना संक्रमित मिलते थे, लेकिन आंकड़ों में बढ़ोतरी अचानक से हो गयी है. बुधवार को विभिन्न ट्रेनों से उतरे यात्रियों में 540 लोगों की जांच हुई, तो इसमें 82 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. मालदा इंटरसिटी, गया-हावड़ा, सुपर एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों से पहुंचे यात्रियों की जांच की गयी. संक्रमित प्रवासियों को एंबुलेंस से आइसोलेशन वार्ड और घर भेजा गया. जंक्शन पर जांच काउंटरों की संख्या बढ़ाने के बाद जांच कराने वालों में इजाफा हुआ है.

तो बढ़ेंगी मुश्किलें

अबतक नजरअंदाज करते रहना किसी तरह से चलता रहा लेकिन अब शासन-प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया, तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है. लोग परेशानी में पड़ सकते हैं. ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों में पांच से 10 प्रतिशत लोग ही जांच कर रहे हैं. उसी में कोरोना पॉजिटिव केस का आंकड़ा चौंकाने वाला आने लगा है. ट्रेन से उतरने के बाद यात्री फुटओवर ब्रिज से निकल घर पहुंच जा रहे हैं. शासन-प्रशासन की ओर से ऐसी कोई व्यवस्था नहीं करायी गयी है कि यात्रियों को हर हाल में कोराना जांच कराना ही पड़े.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें