1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. araria
  5. 43 new patients of corona infection found in the last 24 hours in araria one died

अररिया में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 43 नये मरीज मिले, एक की मौत

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 43 नये मरीज मिले, हुई एक की मौत
बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 43 नये मरीज मिले, हुई एक की मौत

अररिया: जिले में कोरोना संक्रमण का मामला लगातार बढ़ रहा है. बीते कल जहां जिले में कोरोना प्रभावितों की संख्या 635 थी. वहीं शनिवार को ये बढ़ कर 678 पर जा पहुंचा है. बीते 24 घंटों के दौरान जिले में 518 लोगों ने अपना जांच करायी है. इसमें कोरोना संक्रमण के 43 नये मामले सामने आये हैं. बीते एक महीने के दौरान जहां रोग के संदेह में 6619 लोगों ने कोरोना संबंधी अपना जांच करायी है. इसमें 557 लोग संक्रमित पाये गये हैं. इस तरह जांच कराने वाले 12 लोगों में एक कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. इस बीच जिले में कोरोना से ठीक होने वाले लोगों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ा है. बीते एक माह के दौरान संक्रमण की चपेट में आये 310 लोग स्वस्थ भी हुए हैं. कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की बढ़ती संख्या निश्चित ही संतोषजनक है. लेकिन इस बीच कोरोना से होने वाली मौत के मामलों में बढ़ोतरी देखी गयी है. बीते माह संक्रमण की वजह से चार लोगों की मौत हुई है.

शनिवार को रानीगंज प्रखंड में कोरोना से हुई एक मौत के बाद कोरोना से अब तक मरने वालों की संख्या बढ़ कर सात हो गयी है. कोरोना की वजह से कुछ और लोगों की मौत के मामले भी सामने आये हैं. लेकिन प्रशासन इसकी पुष्टि करने से अब तक बचता रहा है. जिले में कोरोना से मौत के बढ़ते मामले स्वास्थ्य व जिला प्रशासन के लिये चिंता का विषय है. गौरतलब है कि जिले में जारी लॉकडाउन संक्रमण के प्रसार पर अंकुश लगा पाने में अब तक सिरे से नाकाम रहा है. लॉकडाउन के बीच जिस तरह संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. इससे लॉकडाउन की प्रासांगिकता पर सवाल उठना लाजमी है. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिये प्रशासनिक स्तर पर कई प्रयास किये जा रहे हैं. लेकिन इसकी प्रभावशीलता अब तक सीमित बनी हुई है.

संक्रमण की संभावनाओं को कम करने के लिये शुरू से ही लोगों के व्यवहार परिवर्तन पर जोर दिया जा रहा है. इसके लिये कई स्तरों पर जागरूकता अभियान का संचालन किया जा चुका है. तो जिलाधिकारी वैक्तिगत रूप से कई बार लोगों से अपने घरों में रहने, आवश्यक होने पर ही घरों से बाहर निकलने व इस दौरान मास्क व सोशल डिस्टेसिंग के अनुपालन का अनुरोध कर चुके हैं. कई मर्तबा अधिकारी भी लोगों से मास्क व सोशल डिस्टेसिंग के अनुपालन की अपील करते देखे गये हैं. लेकिन अब भी जहां-तहां लोगों की लापरवाही अपने चरम पर बनी हुई है.

बहुत हद तक लोगों का गैर जिम्मेदाराना रवैया भी संक्रमण के प्रसार में सहायक साबित हो रहा है. लिहाजा कुछ एक जगहों पर लॉकडाउन के अनुपालन को लेकर प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के सख्त रवैया को भी जायज ठहराया जा सकता है. दीगर है कि इस अनचाहे खतरे से आने वाले कुछ दिनों तक हमें निजात मिलने की कोई संभावना कहीं नहीं दिख रही है. लिहाजा सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना और सरकारी दिशा निर्देशों का शत प्रतिशत अनुपालन आम लोगों की भी महत्वपूर्ण जवाबदेही है. आने वाले समय में इसे लेकर हमारी मुश्किलें बढ़ने की संभावनाओं से भी इनकार नहीं किया जा सकता है. ऐसे में खासा सतर्क रह कर ही हम अपना व अपने परिवार को इस वैश्विक महामारी की चपेट से दूर रख सकते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें