1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. sunil gavaskar took a big pledge on 72nd birthday working for the treatment of children with congenital heart disorder avd

Happy Birthday Sunil Gavaskar : गावस्कर ने 72वें जन्मदिन पर लिया बड़ा प्रण, लोगों से कर दी ऐसी अपील

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Happy Birthday Sunil Gavaskar
Happy Birthday Sunil Gavaskar
twitter

Happy Birthday Sunil Gavaskar : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सनील गावस्कर आज अपना 72वां जन्मदिन मना रहे हैं. लिटिल मास्टर को बर्थडे पर सुबह से फैन्स शुभकामनाएं दे रहे हैं. भारत सहित दुनियाभर के क्रिकेटर भी इस दिग्गज क्रिकेटर को जन्मदिन की बधाई दे रहे हैं.

लेकिन अपने 72वें जन्मदिन पर गावस्कर ने ऐसा प्रण लिया है, जिसे जानकर लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं. दरअसल उन्होंने अपने बर्थडे पर प्रण किया है कि वैसे छोटे बच्चों के चेहरों पर मुस्कान लाना चाहेंगे, जो जन्म से ही हृदय रोग से परेशान हैं.

मालूम हो गावस्कर का 'हार्ट टू हार्ट' फाउंडेशन पिछले कुछ वर्षों से श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पतालों के साथ जुड़कर काम कर रहा है. इसके जरिये ‘99 प्रतिशत की सफलता दर' के साथ लगभग 16,000 बच्चों की मुफ्त सर्जरी की गयी हैं.

गावस्कर ने अपने जन्मदिन पर कहा, हार्ट टू हार्ट फाउंडेशन' की स्थापना कुछ साल पहले जन्मजात हृदय विकार (सीएचडी) के साथ पैदा हुए बच्चों के बारे में जागरूकता पैदा करने और बिना किसी खर्च के उनका इलाज कराने में मदद करने के लिए धन जुटाने के मकसद से की गयी थी.

सीएचडी पीड़ित बच्चों की मदद के लिए फाउंडेशन बनाने का विचार कहां से आया, इस बारे में पूछे जाने पर ‘लिटिल मास्टर' ने कहा, भारत में तीन लाख से अधिक बच्चे सीएचडी के साथ पैदा होते हैं. उनमें से लगभग एक तिहाई अपना अगला जन्मदिन देखने के लिए जीवित नहीं रहते हैं.

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, फाउंडेशन श्री सत्य साईं संजीवनी के तीन अस्पतालों के साथ सहयोग कर रहा है. इसमें एक नया रायपुर, छत्तीसगढ़ में है तो वही दूसरा हरियाणा के पलवल और तीसरा नयी मुंबई के खारघर में है. इन अस्पतालों में बच्चे और माता-पिता की सर्जरी और ‘कैथ इंटरवेंशन' को पूरी तरह से मुफ्त में किया जाता हैं.

उन्होंने बताया, ये अस्पताल फिलहाल एक महीने में लगभग 400 सर्जरी करते हैं. हमने ‘मदर एंड चाइल्ड हेल्थ केयर' कार्यक्रम के तहत, अब तक लगभग 95000 माताओं और उनके बच्चों की मदद की है.

उन्होंने अपने क्रिकेट करियर से जुड़े वाकये को याद करते हुए कहा, उन्हें भी एक बार जीवन मिला था. जब मेरे डेब्यू मैच में सर गारफील्ड सोबर्स से मेरा एक आसान कैच छोड़ दिया था. उस समय मैं 12 रन पर बल्लेबाजी कर रहा था. मैंने उस मैच में अर्धशतक लगाया और फिर भारत के लिए 17 साल तक खेलने का मौका मिला.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें