20.1 C
Ranchi
Saturday, February 24, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeखेलक्रिकेट35 साल बाद जम्मू-कश्मीर की चमकेगी किस्मत, खेले जाएंगे पांच अंतरराष्ट्रीय मुकाबले

35 साल बाद जम्मू-कश्मीर की चमकेगी किस्मत, खेले जाएंगे पांच अंतरराष्ट्रीय मुकाबले

भारत की सरजमीं पर खेले जा रहे लीजेंड्स लीग क्रिकेट के कुछ आयोजन जम्मू-कश्मीर में कराए जा रहे हैं. बात दें, पिछली बार 35 साल पहले जम्मू में भारत और न्यूजीलैंड के बीच एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट खेला गया था. ये मुकाबला 19 दिसंबर, 1988 में खेला गया था.

भारत की सरजमीं पर खेले जा रहे लीजेंड्स लीग क्रिकेट के कुछ आयोजन जम्मू-कश्मीर में कराए जा रहे हैं. ये खबर ने सभी क्रिकेट प्रेमियों को आश्चर्यचकित कर दिया है. बात दें, पिछली बार जम्मू में भारत और न्यूजीलैंड के बीच एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट खेला गया था. ये मुकाबला 19 दिसंबर, 1988 में खेला गया था. जिसके एक साल बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटना तेज हो गई थी. जिसको देखते हुए बीसीसीआई ने जम्मू-कश्मीर में खेल पर प्रतिबंध लगा दिया था. 35 साल बाद एक बार फिर जम्मू-कश्मीर के एमए स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेला जाएगा.

हरभजन सिंह और  आरोन फिंच की लीजेंड्स टीम होगी आमने-सामने

जम्मू-कश्मीर के एमए स्टेडियम में कुल चार मुकाबले खेले जाने हैं. , जिसका उद्घाटन मुकाबला सोमवार शाम 7 बजे होगा. उद्घाटन मुकाबले में हरभजन सिंह की कप्तानी वाली मणिपाल टाइगर्स और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर आरोन फिंच की कप्तानी वाली साउदर्न सुपरस्टार्स आमने सामने होगी. जम्मू-कश्मीर में खेले जाने वाले ये चार मुकाबले 27, 29, 30 नवंबर और 1 दिसंबर को खेले जाएंगे. जिसमें भीलवाड़ा किंग्स बनाम दक्षिणी सुपरस्टार, इंडिया कैपिटल्स बनाम गुजरात गेन्ट्स और भीलवाड़ा किंग्स बनाम अर्बनराइजर्स हैदराबाद आमने सामने होंगे.

मैंने इसे एक अवसर के रूप में देखा: रमन रहेजा

यह पूछे जाने पर कि किस बात ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए जम्मू-कश्मीर को चुनने के लिए प्रेरित किया, जबकि कई लोग यूटी की स्थिति से चिंतित हैं, लीजेंड्स लीग क्रिकेट के सह-संस्थापक और सीईओ, रमन रहेजा ने कहा, ‘यह वह जगह है जहां मैंने इसे एक अवसर के रूप में देखा.’ मुख्य रूप से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से वंचित छोटे शहरों और कस्बों में लीग मैचों की मेजबानी करने के उद्देश्य से, उन्होंने आगे कहा कि जम्मू और कश्मीर शुरू से ही उनकी सूची में पहले स्थान पर काबिज था. अपनी बात को आगे रखते हुए उन्होंने कहा, इसके अलावा, यूटी प्रशासन इस आयोजन के लिए सभी उपलब्ध सुविधाएं देने के लिए तुरंत सहमत हो गया.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें