22.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

NO BALL ने कब-कब दिग्गज टीमों को है छकाया, जानिए वे पल जब पलट गया मैच

इंटरनेशनल क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज के लिए नो-बॉल फेंकना एक अभिशाप से कम नहीं है. एक नो बॉल कई बार जीती हुई बाजी को भी पलट चुका है. गेंदबाजों को इसके बाद बहुत ज्यादा आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ता है. हम पांच ऐसे ही नो-बॉल के बारे में बता रहे हैं, जिसने मैच को पलट दिया.

दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेल क्रिकेट में गेंदबाज कभी भी नो-बाल या वाइड बॉल नहीं फेंकना चाहता. लेकिन कई मौके पर नो-बॉल और वाइड बॉल ने पूरे मैच को बदल दिया है. कई पूर्व क्रिकेटर्स ने नो बॉल का एक पाप के रूप में भी परिभाषित किया है. नो बॉल फेंकने के बाद विपक्षी टीम को एक रन तो मिलता ही है, अगली गेंद पर बल्लेबाज को फ्री हिट भी मिलता है और गेंदबाज को एक अतिरिक्त गेंद डालती होती है. एक नो बॉल कई नुकसान लेकर आता है, क्योंकि फ्री हिट में बल्लेबाज केवल रन आउट हो सकता है. हम यहां आपको पांच ऐसे ही नो बॉल के बारे में बता रहे हैं, जिसने पूरे मैच को बदल दिया.

पाकिस्तान के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड की महंगी नो-बॉल

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच 2015 की सीरीज के पहले टेस्ट में इंग्लैंड के शीर्ष दो तेज गेंदबाजों में से एक स्टुअर्ट ब्रॉड के नाम क्रिकेट इतिहास का सबसे महंगा नो-बॉल शामिल है. इस मैच में पाकिस्तान के शोएब मलिक ने ब्रॉड की गेंद पर आसान सा कैच दिया, तब इसे नो-बॉल करार दिया गया. उस समय शोएब मलिक 40 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे. रिप्ले में भी यह साफ दिखा कि ब्रॉड का अगला पैर क्रीज से काफी आगे निकल गया था. मलिक ने 245 रनों की लंबी पारी खेली और अपनी टीम को 500 रन के पार ले गये.

Also Read: India vs Sri Lanka: अर्शदीप सिंह ने दूसरे टी20 में पांच नो बॉल फेंककर अपने नाम किया यह शर्मनाक रिकॉर्ड
सकलैन मुश्ताक को नो बॉल पर मिला था विकेट, चकमा खा गये अंपायर

ओल्ड ट्रैफर्ड में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच टेस्ट मैच के दौरान एक ऐसा वाकया हुआ, जिसे अंपायर भी पकड़ नहीं पाये. पाकिस्तान के सकलैन मुश्ताक ने खेल के अंतिम क्षणों में डोमिनिक कॉर्क को आउट किया. मौजूदा फिल्ड अंपायर डेविड शेफर्ड ने स्वीकृति में अपनी उंगली उठाई. हालांकि, रिप्ले से पता चला कि सकलेन अपनी क्रीज से काफी आगे निकल गये थे और निसंदेह उन्होंने नो बॉल फेंकी थी. उस समय डीआरएस की सुविधा नहीं थी और सकलैन ने एक महत्वपूर्ण विकेट चटकाया.

नो-बॉल जिसने मोहम्मद आमिर की प्रतिष्ठा को बर्बाद कर दिया

पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर ने 2010 में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच एक टेस्ट मैच के दौरान लॉर्ड्स में क्रिकेट में अब तक सबसे खराब नो-बॉल फेंकी. यह पूरी तरह उद्देश्यपूर्ण तरीके से फेंका गया था और स्पॉट फिक्सिंग की घटना में शामिल होने के लिए आमिर को 5 साल के लिए क्रिकेट से निलंबन और 6 महीने की जेल की सजा मिली थी. इस नो बॉल ने उनके करियर को पूरी तरह बर्बाद कर दिया. मोहम्मद आमिर ने वह नो-बॉल पहले दिन के तीसरे ओवर में एलिस्टर कुक के लिए फेंकी थी. गेंदबाज का दाहिना पैर स्पष्ट रूप से क्रीज से कम से कम एक फलांग आगे था. टीवी रिप्ले में ऐसा दिखा था.

होबार्ट में शैनन गेब्रियल की नो-बॉल

ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच पहले टेस्ट मैच के पहले दिन होबार्ट में ऑस्ट्रेलियाई पारी के 13वें ओवर ने दर्शकों को चौंका दिया. अपने पिछले ओवर में एक विकेट लेने वाले वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शैनन गेब्रियल ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को एक अविश्वसनीय नो-बॉल फेंकी. रिप्ले में दिखा कि यह अब तक की सबसे बड़ी नो-बॉल हो सकती है, क्योंकि गेब्रियल क्रीज से डेढ़ फुट से अधिक आगे निकल गये थे. गेब्रियल ने अपनी उस नो-बॉल के लिए सोशल मीडिया पर काफी आलोचनाओं का सामना किया.

अर्शदीप सिंह ने नो-बॉल की हैट्रिक ली

श्रीलंका के खिलाफ चल रहे दूसरे टी20 के दौरान , भारत के युवा बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने एक टी20 इंटरनेशनल में सबसे अधिक नो-बॉल वाले गेंदबाजों की सूची में अपना नाम जोड़ा. उन्होंने अपने पहले ओवर की पांचवीं पिच पर ओवरस्टेप किया और नो-बॉल के साथ अपने शुरुआती स्पैल की शुरुआत की. उसी डिलीवरी को बाद में अर्शदीप ने दो बार और फेंका, जिससे श्रीलंकाई बल्लेबाज कुसल मेंडिस ने अर्शदीप को एक चौका और एक छक्का लगाकर फ्री हिट का फायदा उठाया. इसके लिए अर्शदीप की काफी आलोचना हुई थी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें