1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. devon conway raises virat kohlis tension before wtc finals debut test breaks the records of ganguly dhawan and ranjit singh avd

WTC फाइनल से पहले कॉनवे ने बढ़ायी विराट कोहली की चिंता, डेब्यू टेस्ट में गांगुली, धवन और रणजीत सिंह के रिकॉर्ड को तोड़ा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
WTC फाइनल से पहले कॉनवे ने बढ़ायी विराट कोहली की चिंता
WTC फाइनल से पहले कॉनवे ने बढ़ायी विराट कोहली की चिंता
twitter

England vs New Zealand 1st : विराट कोहली की अगुआई में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (world test championship final) और इंग्लैंड फतह (India Tour on England) करने के लिए टीम इंडिया साउथम्पटन पहुंच चुकी है. लेकिन इंग्लैंड की धरती पर कदम रखते ही विराट कोहली की टेंशन बढ़ गयी है. कोहली की चिंता कोई और नहीं बल्कि इंग्लैंड के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट मैच में दोहरा शतक बनाने वाले डेवोन कॉनवे ने बढ़ायी है.

कॉनवे ने लॉर्ड्स के ऐतिहासिक ग्राउंड पर रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी. सलामी बल्लेबाज के रूप में बल्लेबाजी करने आये कॉनवे ने दो दिनों तक जमकर इंग्लैंड के गेंदबाजों की धुनाई की और 347 गेंदों में 22 चौके और एक छक्के की मदद से 200 रन बनाये.

इस दौरान उन्होंने दुनियाभर के कई दिग्गज खिलाड़ियों को पीछे छोड़ दिया. कॉनवे ने डेब्यू टेस्ट की पहली ही पारी में दोहरा शतक जमाकर 25 साल पहले 1996 में लॉर्ड्स में ही सौरव गांगुली के 131 रन के रिकॉर्ड को तोड़ दिया. वहीं रणजीत सिंह जी के 125 साल पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया. रणजीत सिंह ने 1896 में अपने डेब्यू टेस्ट में 154 रन बनाये थे.

कॉनवे ने धवन के 8 साल पुराने रिकॉर्ड को भी छोड़ा पीछे

कॉनवे ने दोहरे शतकीय पारी के दौरान टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के 8 साल पुराने रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ दिया. धवन ने 2013 में मोहाली में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करते हुए 187 रन बनाये थे.

डेब्यू टेस्ट पारी में 200 या उससे अधिक रन बनाने वाले कॉनवे दुनिया के 6ठे खिलाड़ी

डेब्यू टेस्ट पारी में 200 या उससे अधिक रन बनाने वाले कॉनवे दुनिया के 6ठे बल्लेबाज बन गये हैं. इंग्लैंड के टिप फोस्टर ने 1903-04 में 287 रन की पारी खेली थी. उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के जैक्स रूडोल्फ ने 2003 में नाबाद 222 रन बनाये थे. वेस्टइंडीज के लॉरेंस रोवे ने 1971/72 में 214 रन बनाये थे. न्यूजीलैंड के मैथ्यू सिंक्लेयर ने 1999/00 में 214 रन बनाये थे. वहीं श्रीलंका के ब्रेंडन कुरुप्पु ने 1987 में नाबाद 201 रन की पारी खेली थी.

दरअसल टीम इंडिया को 18 जून से लेकर 22 जून तक साउथम्पटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला खेलना है. आईसीसी के सबसे बड़े टूर्नामेंट में भिड़ंत से पहले कॉनवे की इस पारी ने निश्चित रूप से भारतीय कप्तान विराट कोहली को सोचने पर मजबूर कर दिया होगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें