1. home Home
  2. religion
  3. surya grahan 2021 date and time solar eclipse will negatively impact on these zodiac sign know the time sutak kaal sry

Surya Grahan 2021: दिसंबर में लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, सावधान हो जाएं इन राशि वाले लोग

साल 2021 का आखिरी सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 को लगने जा रहा है. यह वलयाकार सूर्यग्रहण भारतीय समयानुसार दोपहर 1.42 बजे शुरू होगा और शाम 6.41 बजे खत्म हो जाएगा. यह ग्रहण इन राशियों के लिए शुभ नहीं है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Surya Grahan 2021: Solar eclipse will negatively impact on  these zodiac sign
Surya Grahan 2021: Solar eclipse will negatively impact on these zodiac sign
Prabhat Khabar Graphics

साल 2021 का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने में अब सिर्फ 10 दिन बाकी हैं. 4 दिसंबर 2021 को लगने जा रहा है. यह ग्रहण वैसे तो आंशिक सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) है और इसका सूतक काल भी मान्‍य नहीं होगा. लेकिन यह ग्रहण कुछ राशि के जातकों के लिए बहुत भारी साबित होगा. सूर्य ग्रहण को अशुभ घटना माना जाता है. सूर्य ग्रहण के दौरान शुभ व मांगलिक कार्यों की मनाही होती है. इस दौरान मंदिर के कपाट भी बंद कर दिए जाते हैं.

करीब चार घंटे रहेगा ग्रहण

सूर्य ग्रहण सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर शुरू हो जाएगा, जो लगभग चार घंटे बाद दोपहर 03 बजकर 07 मिनट पूरा होगा. यह वलयाकार सूर्यग्रहण भारतीय समयानुसार दोपहर 1.42 बजे शुरू होगा और शाम 6.41 बजे खत्म हो जाएगा. यह ग्रहण इन राशियों के लिए शुभ नहीं है.

ये राशि वाले रहें बचकर

मेष (Aries): मेष राशि के जातकों लिए ये सूर्य ग्रहण अशुभ है. यह सूर्य ग्रहण उनकी सेहत पर बुरा असर डालेगा. इसके चलते वे किसी बीमारी की चपेट में आ सकते हैं या किसी दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं.

तुला (Libra): तुला राशि के लोगों पर सूर्य ग्रहण अशुभ प्रभाव डालेगा. गुस्‍सा करने से बचें. किसी को अपशब्‍द कहना नुकसान करा सकता है. ग्रहण सेहत पर भी बुरा असर डालेगा.

धनु (Sagittarius): धनु राशि के जातकों के लिए सूर्य ग्रहण बेवजह की भागदौड़ लेकर आएगा. इस दौरान खर्चे बढ़ेंगे. कामों को पूरा करने के लिए खासी मेहनत करनी पड़ेगी. यात्रा हो सकती है.

मान्य होगा सूतक काल?

चार दिसंबर को लगने का जा रहे सूर्य ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा क्योंकि ये उपछाया ग्रहण होगा. साल का आखिरी सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई पड़ेगा, इसे भारत में नहीं देखा जा सकेगा. ज्योतिष अनुसार, पूर्ण ग्रहण पर ही सूतक काल मान्य होता है. आंशिक या उपछाया पर ये नियम लागू नहीं होते हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें