1. home Hindi News
  2. religion
  3. chandra grahan 2021 date time kab hai how long lunar eclipse on 26 may effect on all zodiac signs rashifal mesh vrishabh mithun kark singh kanya tula dhanu vrishchik makar kumbh meen visibility in india sutak kaal smt

Lunar Eclipse/Chandra Grahan 2021: अगले सप्ताह लगेगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, सभी राशियों पर क्या पड़ेगा प्रभाव, भारत में दिखेगा या नहीं, जानें सबकुछ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Lunar Eclipse 2021 Date, Chandra Grahan 2021 Kab Hai, Timing, Effects On Rashi, Visibility In India
Lunar Eclipse 2021 Date, Chandra Grahan 2021 Kab Hai, Timing, Effects On Rashi, Visibility In India
Prabhat Khabar Graphics

Lunar Eclipse 2021 Date, Chandra Grahan 2021 Kab Hai, Timing, Effects On Rashi, Visibility In India, Sutak Kaal Time: वर्ष 2021 का पहला चंद्र ग्रहण मई महीने में लगने वाला है. 26 मई को लगने वाला ये चंद्र ग्रहण भारत के लिए उपछाया चंद्रग्रहण होगा जबकि अन्य देशों में यह पूर्ण चंद्र ग्रहण की तरह दिखेगा. भारत में इसका समय दोपहर 2 बजकर 18 मिनट से शुरू होगा जो शाम के 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा. ऐसे में आइए जानते हैं क्या है इस चंद्रग्रहण का धार्मिक व वैज्ञानिक दृष्टिकोण, इसका सूतक काल पड़ेगा या नहीं, सभी राशियों पर इसका क्या पड़ेगा प्रभाव व अन्य जानकारियां...

email
TwitterFacebookemailemail

साल का पहला चंद्रग्रहण अगले सप्ताह

साल का पहला चंद्रग्रहण अगले सप्ताह ही लगने वाला है. जिसकी तारीख 26 मई 2021 है. इसका समय दोपहर 2 बजकर 18 मिनट से शुरू होगा जो शाम के 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

भारत में कहां-कहां दिखेगा 26 मई का चंद्रग्रहण

साल 2021 का पहला चंद्रग्रहण भारत में आंशिक तौर पर दिखने वाला है अर्थात यह धूंधला रहेगा. इसे नंगी आंखों से नहीं देखा जा सकता है. यह देश के उत्तर-पूर्व हिस्से जैसे सिक्किम को छोड़ प. बंगाल की कुछ स्थानों पर समेत देश के अन्य हिस्सों में देखा जा सकेगा. वहीं, ऑस्ट्रेलिया, अंटार्कटिका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, एशिया, प्रशांत महासागर व हिंद महासागर में भी दिख सकता है.

email
TwitterFacebookemailemail

26 मई कितनी देर के लिए लगेगा चंद्र ग्रहण

26 मई को कुल 5 घंटे 01 मिनट के लिए चंद्र ग्रहण लगने वाला है. यह एक उपछाया चंद्रग्रहण होगा जो दोपहर 2 बजकर 18 मिनट से शाम 7 बजकर 19 मिनट तक दिखेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

कन्या राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Kanya Rashi)

कन्या राशि के जातकों में को इस दौरान लाभ होगा. उन्हें धन लाभ होने की संभावना है. आर्थिक रूप से आप खुद को मजबूत महसूस करेंगे. इस दौरान भगवान शिव और हनुमान जी के मंत्र का जाप करने से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

धनु राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Dhanu Rashi)

धनु राशि के जातकों में पहले के मुताबिक सेहत में सुधार देखने को मिलेगा. व्यापार व कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी, आय के अन्य श्रोत खुल सकते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

सिंह राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Singh Rashi)

सिंह राशि राशि वालों पर भी ग्रहण का बुरा प्रभाव पड़ सकता है. परिवार के किसी सदस्य का सेहत खराब होने की संभावना है. स्वास्थ्य का विशेष ध्यान देने की जरूरत होगी. कार्यक्षेत्र में अचानक से दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. इस दौरान व्यापार में धन हानि के भी आसार है.

email
TwitterFacebookemailemail

कर्क राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Kark Rashi)

कर्क राशि के जातकों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती है. एकाएक कोई बड़ी परेशानी खड़ी हो सकती है. मन में बेचैनी भी हो सकती है. जॉब व व्यापार में भी विपदा खड़ी हो सकती है.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्र ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के उपाय

मेष और कुंभ राशि के जातक ग्रहण के दौरान हनुमान जी का ध्यान करें और ऊॅं हं हनुमंते नम: का जप करें. कर्क राशि के जातक ऊॅं शब्द का उच्चारण करें. सिंह राशि के जातक सभी भगवान का ध्यान लगाएं, तुला राशि के जातक साफ-सफाई का ध्यान रखें वरना माता लक्ष्मी रूठ सकती हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

वैशाख पूर्णिमा के दिन है साल का पहला चंद्र ग्रहण

साल का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई, बुधवार को है. इसी दिन वैशाख पूर्णिमा भी है.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्रग्रहण का समय

  • ग्रहण प्रारंभ- 26 मई, बुधवार को दोपहर 3:15 मिनट पर

  • ग्रहण का मध्यकाल- 4:49 बजे पर

  • ग्रहण समाप्त- 6:23 बजे पर

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्रग्रहण से जुड़ी ये है मान्यता

मान्यता है कि ग्रहण के दौरान बाल और नाखून काटने से बचना चाहिए. इसके अलावा न तो कुछ खाना चाहिए और न ही खाना बनाना चाहिए. ग्रहण में घर के मंदिरों के कपाट बंद कर देना चाहिए. ताकि भगवान पर ग्रहण का असर ना हो सके.

email
TwitterFacebookemailemail

इस राशि पर पड़ रहा है सबसे अधिक प्रभाव

ज्योतिष गणनाओं के अनुसार इस बार पड़ने वाले चंद्र ग्रहण का सबसे अधिक प्रभाव वृश्चिक राशि पर पड़ने जा रहा है. 26 मई को लगने वाला चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र में लगने जा रहा है. चंद्र ग्रहण के दौरान वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र के लोगों को इस दिन विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है.

email
TwitterFacebookemailemail

नहीं होगा ग्रहण का सूतक काल

चूंकि भारत के समय के अनुसार यह चंद्र ग्रहण (lunar eclipse 2021) दिन के समय लगेगा इसलिए यह भारत में दिखाई नहीं देगा. ये चंद्र ग्रहण संपूर्ण भारत में नहीं दिखेगा, इसीलिए इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा. सूतक मान्य न होने की वजह से मंदिर के कपाट बंद नहीं होंगे और शुभ कार्यों पर भी रोक नहीं होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

भारत में उपछाया चंद्र ग्रहण

यह भारत में उपछाया की तरह दिखाई देगा. ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार उपछाया चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक काल मान्य नहीं होता है. साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 19 नवंबर, 2021 को लगेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्र ग्रहण के दौरान करें ये काम

चंद्र ग्रहण के दौरान अधिक से अधिक भगवान का ध्यान करना चाहिए. इस समय मंत्र जप का विशेष महत्व होता है.

email
TwitterFacebookemailemail

इन देशों में दिखाई देगा ग्रहण

26 मई को लगने वाला चंद्र ग्रहण अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर के कुछ क्षेत्रों में पूर्ण रूप से दिखाई देगा.

email
TwitterFacebookemailemail

कब लगता है चंद्र ग्रहण

वैसे तो चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) एक खगोलीय घटना है. विज्ञान की मानें तो जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीधी लाइन में आ जाते हैं तो चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे उसकी छाया में चला जाता है, और उसे चंद्र ग्रहण कहते हैं. ऐसा सिर्फ पूर्णिमा के दिन ही होता है, जब चांद पूर्ण होता है. खगोलीय घटना के अलावा ज्योतिष में भी चंद्र ग्रहण का विशेष महत्व माना जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

मिथुन राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Mithun Rashi)

मिथुन राशि के जातकों के लिए यह चंद्र ग्रहण बेहद शुभ रहने वाला है. उनके धन-लाभ का योग बन रहा है. कार्यक्षेत्र में सफलता, तरक्की मिलेगी. वाद- विवाद से दूर रहने की कोशिश करें.

email
TwitterFacebookemailemail

चन्द्र ग्रहण से जुड़ी धार्मिक मान्यताएं

चन्द्र ग्रहण हिन्दु धर्म में कई मान्यताएं हैं. लेकिन, जो चंद्र गहण नंगी आंखों से देखा नहीं जाता उसका धार्मिक महत्व नहीं होता. ऐसे में 26 मई को पड़ने वाला उपच्छाया वाले चन्द्रग्रहण खुली आंखों से देखा नहीं जा सकेगा. अत: इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

वृषभ राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Vrishabh Rashi)

मिथुन राशि के जातकों के लिए वैशाख पूर्णिमा पर लगने वाला चंद्र ग्रहण शुभ संकेत लेकर आ रहा है. इस दौरान जातक को आर्थिक लाभ होने की पूरी संभावना है. कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी. आय के नये श्रोत खुलेंगे. हालांकि, वाद-विवाद से बचे रहने की जरूरत है.

email
TwitterFacebookemailemail

मेष राशि (Chandra Grahan 2021 Effects On Mesh Rashi)

मेष राशि के जातकों को इस ग्रहण से सतर्क रहना होगा. खासकर वाहन चलाने में सावधानी बरतना होगा. किसी महत्वपूर्ण कार्य में समस्याएं पैदा हो सकती है. ऐसे में चंद्रग्रहण के दौरान ऊॅं हं हनुमंते नम: का जप करना न भूलें.

email
TwitterFacebookemailemail

पांच राशियों पर पड़ेगा बुरा प्रभाव, पांच राशि के जीवन में आयेगी खुशहाली (Chandra Grahan 2021 Rashifal)

चंद्र ग्रहण 2021 का असर सभी राशियों पर अलग-अलग पड़ेगा. मेष राशि, कर्क राशि, सिंह राशि, तुला राशि और कुंभ राशि के जातकों की परेशानियां बढ़ेंगी. वहीं, वृषभ राशि, कन्या राशि, धनु, मकर राशि और मीन राशि के जातकों के जीवन में खुशहाली आयेगी.

email
TwitterFacebookemailemail

क्या होता है उपच्‍छाया चंद्रग्रहण

दरअसल, उपच्‍छाया चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा की चांदनी हल्‍की धुंधली हो जाती है. जिससे चांद का रंग मटमैला हो जाता है. हालांकि, इस दौरान चंद्रमा के साइज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता. ऐसी स्थिति तब बनती है जब सूर्य, धरती और चांद एक सीध में नहीं हो पाते है. यदि हो जाए तो वह पूर्ण चंद्रग्रहण कहलाता है.

दरअसल, उपछाया चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा पृथ्वी की प्रच्छाया वाले क्षेत्र को बिना छूए उपच्छाया क्षेत्र से निकल जाता है. ऐसे में यह धुंधला दिखने लगता है. जिसे नंगी आंखों से नहीं देखा जा सकता.

email
TwitterFacebookemailemail

कहां-कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण

भारत में ये ज्यादातर स्थानों पर उपच्छाया चंद्रग्रहण की तरह दिखेगा. जबकि, विदेश में ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, एशिया और प्रशांत महासागर के कुछ क्षेत्रों में पूर्ण चंद्रग्रहण दिखाई देगा.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्र ग्रहण भारत में दिखेगा या नहीं

26 मई को पड़ने वाला चंद्रग्रहण भारत धुंधला दिखेगा. अर्थात यह एक उपछाया चंद्रग्रहण होगा. जबकि, अन्य देशों में यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्र ग्रहण तिथि और मुहूर्त

  • चंद्र ग्रहण का डेट: 26 मई 2021, बुधवार

  • चंद्र ग्रहण आरंभ मुहूर्त: दोपहर 2 बजकर 18 मिनट से

  • चंद्र ग्रहण समाप्ति मुहूर्त: शाम के 7 बजकर 19 मिनट तक

  • कुल अवधी: 5 घंटे 01 मिनट

  • सूतक काल: नहीं होगा मान्य

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्र ग्रहण और धर्म

दरअसल, ग्रहण एक खगोलीय घटना है जो हर साल अलग-अलग तिथियों में घटती है. आमतौर पर चंद्र ग्रहण पूर्णिमा तो सूर्य ग्रहण अमावस्या तिथि पर पड़ती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें