18.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeधर्मAstro Tips: कुंडली में सूर्य की मजबूती दिलायेगी मान-सम्मान, कब मिलेगी नौकरी, जानें ज्योतिषाचार्य से समाधान

Astro Tips: कुंडली में सूर्य की मजबूती दिलायेगी मान-सम्मान, कब मिलेगी नौकरी, जानें ज्योतिषाचार्य से समाधान

Astro Tips: सूर्यग्रह को सभी ग्रहो का राजा कहा गया है. सूर्य को बेहतर बनाने के लिए पिता की सेवा करनी चाहिए. पिता की सेवा करने से सूर्य मजबूत होता है. जबकि चंदमा को शुभ बनाने के लिए मां की सेवा करनी चाहिए.

Astro Tips: ज्योतिष शास्त्र में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से जीवन की हर परेशानी दूर की जा सकती है. ये उपाय करियर, नौकरी, व्यापार, पारिवारिक कलह सहित कई अन्य कार्यों में भी सफलता दिलाते हैं. नीचे दिए गए विभिन्न समस्याओं के निवारण के लिए आप एक बार ज्योतिषीय सलाह जरूर ले सकते है. यदि आपकी कोई ज्योतिषीय, आध्यात्मिक या गूढ़ जिज्ञासा हो, तो अपनी जन्म तिथि, जन्म समय व जन्म स्थान के साथ कम शब्दों में अपना प्रश्न [email protected] या WhatsApp No- 8109683217 पर भेजें. सब्जेक्ट लाइन में ‘प्रभात खबर डिजीटल’ जरूर लिखें. चुनिंदा सवालों के जवाब प्रभात खबर डिजीटल के धर्म सेक्शन में प्रकाशित किये जाएंगे.

Q- घर में कुबेर का स्थान कौन-सा है? – प्रीति दास रांची

उत्तर और पूर्व के मध्य के कोने को कुबेर का स्थान बाहते हैं, जो शून्य से नब्बे डिबी के मध्य का हिस्सा है. इस भाग कता जाल है. इसको हल्का, साफ, चमकदार व जलयुक्त रखने से घर में सुख-खति और समृद्धि का वास रहता है. इस दिशा में चमकीले फर्म आनंद का कारक बनते है और फाउंटेन की उपस्थिति आर्थिक संकल प्रदान करती है, यह कोना प्रार्थना फया, उपासना गुरु या मंदिर का माना जाता है. यहां स्टोर रूमर्गिज नहीं बना सकते. वहां जूते-चप्पल रखने से बचना चाहीए, इस कोने में गंदगी जीवन में तनाव का कारण बन सकती है, ऐसा वास्तु के नियम कहते हैं.

Q- अगर जन्म तारीख व समय ही न पता हो तो कैसे जानें कि व्यक्ति का मंगल खराब है? -प्रदीप कुमार, सासाराम

अगर दिन में कामुक विचार परेशान करते हो और बहुत सारे यौन संबंध बनाने की इच्छा होती हो, हथियार आकर्षित करते हों और उनों हासिल करने की तमन्ना हो, अपराधी हीरो जैसे बानी अच्छे लगते हॉ. बात-चात में खून उबाल मारता हो, भाई से कहासुनी लगातार होती हो, दोस्त दुश्मन जैसे काम करते की, शरीर में आलस्य रहता हो, तो के समस्त स्थितियां व्यक्ति का मंगल खराब होने को चुराली कराती है. इन्हें आदेश में प्रत्युत्तर नहीं देना चाहिए और प्रेम विवश से पाले सौ बार सोचना चाहिए.

Q- काम नहीं बन रहा है? किरण कुमारी, पटना

धनु लगन की कुंडली और वृश्चक राशि है. शुक्र की महादशा और राहु का अंतर चल रहा है. यह समय मानसिक और शारीरिक परेशानियो से युक्त है. वाणी पर संयम रखे. शुक्र आपके कुंडली में नीच के है. शुक्र का उपचार करें.

Q- मेरा बच्चा किस क्षेत्र में बेहतर करेगा? रुपाली, दानापुर

सिंह लगन की कुंडली और राशि सिंह है. चंदमा की महादशा और चंदमा का अंतर चल रहा है. स्थिरता की कमी है. शिक्षा के क्षेत्र मे बेहतर करेगे. पूर्णिमा का व्रत और शनि देव के मंत्रों का जाप करें.

Also Read: सूर्योपासना: सूर्य की आराधना से शरीरबल के साथ प्राप्त होता है आत्मबल, जानें 108 अंक का सूर्य से संबंध
Q- नौकरी में परेशानी बनी हुई है? वेदिका, बाइपास

वृषभ लगन की कुंडली और मकर राशि है. मार्च से अगस्त 2024 में नौकरी को लेकर अच्छा अवसर मिलेगे. सूर्य की पूजा करें. गरु के मंत्रों का जाप करें.

Q- शादी के बाद भी पारिवारिक परेशानी बनी हुई है? संदीप कुमार, पटना सिटी

मकर लगन की कुंडली और सिंह राशि है. मांगलिक होने की वजह से परेशानियां बनी हुई है. पूर्णिमा वत करें. समय ठीक नहीं है.

Q- मैं मानसिक रूप से बहुत परेशान हूं: रश्मी रिवा मध्यप्रदेश

आपका व्रुश्चिक लग्न और शतभिषा नक्षत्र के तीसरे चरण में हुआ है, इस लग्न का अधिपती मंगल है. ये प्रथम भाव (लग्न) मे स्थित् है. आपका राशि कुंभ है. प्रेम संबंधों में आप अधिक आक्रामक हैं। लेकिन कई बार आपकी प्रवृत्ति अपने सिवा दूसरों की राय की परवाह न करने की होती है, ऐसे में अपने चाहने वालों को ठेस पहुंचने की संभावना रहती है. आपके सप्तम भाव के स्वामी, शुक्र द्वितीय भाव में हैं. आपका वैवाहिक जीवन संतुलित रहेगा. आपके स्वभाव समान होने से घर में कुछ कलह का वातावरण रहने की संभावना है.

मेरी शादी कब तक होगी? प्रियंका कुमारी, गोरखपुर

आपका जन्म मेष लग्न में हुआ है, इस लग्न का अधिपती मंगल है, ये आठवां भाव (आयु भाव) में स्थित है. आपका राशि मिथुन है . आपकी कुंडली में मंगल दोष है. आपकी कुंडली में चंद्रमा और गुरु शिक्षा के कारक हैं. आप उच्च शिक्षा पूरी करेंगी. प्रेम संबंधों में आप ईमानदार हैं. आपकी मासूमियत और ईमानदारी दूसरों को आकर्षित करती है. लेकिन आप में मौजूद आवेग और दबदबा दिखाने की प्रवृत्ति के कारण प्रेम संबंधों में समस्याएं आती हैं. आपके सप्तम भाव के स्वामी, शुक्र षष्ठ भाव में हैं. आपका वैवाहिक जीवन चुनौतीपूर्ण होगा. आपकी कुंडली में मंगल दोष होने के साथ शुक्र ग्रह भी कमजोर है. आपकी शादी देर से होगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें