22.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeधर्मKundli Dosh: कुंडली में ग्रहों की अशुभता को कैसे करें ठीक, जानें कारण और उपाय

Kundli Dosh: कुंडली में ग्रहों की अशुभता को कैसे करें ठीक, जानें कारण और उपाय

Kundli Dosh ज्योतिष के अनुसार, ग्रहों की अशुभता से बचने के लिए इनके उपाय करने चाहिए। इन उपायों को करने से ग्रहों की शुभता बढ़ती है और व्यक्ति को जीवन में सुख-समृद्धि प्राप्त होती है

ज्योतिष में ग्रहों को हमारे जीवन पर विशेष प्रभाव रखने वाले माना जाता है। इनकी स्थिति और गति से हमारे जीवन में होने वाली घटनाओं का निर्धारण होता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह अशुभ हो तो उसे जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। तो आइए जानते हैं किन उपायों से ग्रहों की अशुभता को दूर किया जा सकता है.

सूर्य

सूर्य को सभी ग्रहों का राजा माना जाता है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को मानसिक तनाव, आंखों की समस्या, हृदय रोग आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए रविवार के दिन सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए, पिता की सेवा करनी चाहिए और हर दिन सूर्य भगवान का ध्यान करना चाहिए.

चंद्रमा

चंद्रमा मन और माता का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को मानसिक उथल-पुथल, मित्रों से धोखा, सांस की बीमारी आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए पूर्णिमा के दिन चंद्रमा को जल चढ़ाना चाहिए, मां की सेवा करनी चाहिए और सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए.

मंगल

मंगल साहस, ऊर्जा और क्रोध का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को रक्त संबंधी रोग, झगड़े-लड़ाई, दुर्घटना आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए, तामसी भोजन से बचना चाहिए और समय-समय पर रक्तदान करना चाहिए.

बुध

बुध बुद्धि, वाणी और व्यापार का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को याददाश्त की कमी, त्वचा संबंधी रोग, धन हानि आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा करनी चाहिए, हरी सब्जियों का दान करना चाहिए और छोटे बच्चों को उपहार देना चाहिए.

गुरु

गुरु ज्ञान, शिक्षा और विवाह का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को उच्च शिक्षा में बाधा, पेट संबंधी रोग, विवाह में समस्या आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए, पीली वस्तुओं का दान करना चाहिए और आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों की मदद करनी चाहिए.

शुक्र

शुक्र सुख-सुविधा, प्रेम और सौंदर्य का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को सुख-सुविधाओं में कमी, चरित्र की कमजोरी, शुगर की बीमारी आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए शुक्रवार के दिन लक्ष्मी जी की पूजा करनी चाहिए, महिलाओं का सम्मान करना चाहिए और सफेद वस्तुओं का दान करना चाहिए.

शनि

शनि दंड का कारक है। इसकी अशुभता से व्यक्ति को कोर्ट-कचहरी के चक्कर, कठिन परिश्रम, तन, मन और धन की हानि आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए शनिवार के दिन शनि देव की पूजा करनी चाहिए, तेल, छाता और कंबल का दान करना चाहिए।

राहु और केतु

राहु और केतु छाया ग्रह हैं। इनकी अशुभता से व्यक्ति को तनाव, आरोप, रोग, धन हानि, ब्रेकअप, तालाक आदि परेशानियां हो सकती हैं। इसके उपाय के लिए भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए, गलत संगत से बचना चाहिए, साफ-सफाई का ध्यान रखना चाहिए और दूसरों की बुराई से बचना चाहिए.

निष्कर्ष

ज्योतिष के अनुसार, ग्रहों की अशुभता से बचने के लिए इनके उपाय करने चाहिए। इन उपायों को करने से ग्रहों की शुभता बढ़ती है और व्यक्ति को जीवन में सुख-समृद्धि प्राप्त होती है.

ज्योतिषाचार्य संजीत कुमार मिश्रा

ज्योतिष , वास्तु एवं रत्न विशेषज्ञ

8080426594/9545290847

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें