Advertisement

Industry

  • Jun 26 2018 4:38PM

Harley Davidson के फैसले से ट्रेड वार छेड़ने वाले डोनाल्ड ट्रंप के छूट गये पसीने, जानिये क्यों...?

Harley Davidson के फैसले से ट्रेड वार छेड़ने वाले डोनाल्ड ट्रंप के छूट गये पसीने, जानिये क्यों...?

वॉशिंगटन : अमेरिकी दोपहिया वाहन कंपनी हार्ले डेविडसन ने यूरोपीय संघ के ऊंचे आयात शुल्क से बचने के लिए मोटरसाइकिलों के उत्पादन के कुछ हिस्से को अमेरिका से बाहर स्थानांतरित करने का एलान किया. हार्ले डेविडसन की इस घोषणा से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हैरान हैं. ट्रंप ने कहा कि वह वाहन निर्माता कंपनी द्वारा उठाये गये इस कदम से हैरान हैं. ट्रंप ने भारत द्वारा हार्ले डेविडसन पर अधिक शुल्क लगाने का मुद्दा उठाया था, जो कि दोनों देशों के बीच उत्पन्न व्यापार तनाव का हिस्सा है.

इसे भी पढ़ें : डोनाल्ड ट्रंप ने हार्ले डेविडसन पर हार्इ इंपोर्ट डूयूटी को लेकर भारत पर साधा निशाना

हार्ले डेविडसन की अमेरिका के बाहर भारत, ब्राजील और ऑस्ट्रेलिया में विनिर्माण इकाइयां हैं. हार्ले डेविडसन ने सोमवार को अमेरिकी प्रतिभूति एवं एक्सचेंज आयोग (एसईसी) को भेजी जानकारी में कहा कि यूरोपीय संघ द्वारा अमेरिका से आयात पर लगाये गये नये जवाबी शुल्क के कारण अमेरिका से यूरोपीय संघ को निर्यात की जाने वाली मोटरसाइकिल पर औसतन करीब 2,200 डॉलर की बढ़ोतरी होगी. यूरोपीय संघ ने आयात शुल्क 6 फीसदी से बढ़ाकर 31 फीसदी कर दिया है.

कंपनी ने कहा कि नये कर बोझ से बचने के लिए हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल के कुछ उत्पादन को अमेरिका से यूरोपीय संघ में किसी स्थान पर ले जायेगा. हालांकि, कंपनी ने इस बात के संकेत नहीं दिये कि वह इस किस देश में उत्पादन इकाई स्थापित करेगी. कंपनी के इस फैसले से ट्रंप हैरान है, जो लगातार हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल के आयात पर अधिक शुल्क लगाये जाने का विरोध करते रहे हैं.

ट्रंप ने ट्वीट में कहा कि मैंने उनके लिए कड़ी लड़ाई लड़ी हैऔर अंतत: उन्हें यूरोपीय संघ में बिक्री पर शुल्क नहीं देना होगा. इससे व्यापार में हमें काफी नुकसान होगा, टैक्स को लेकर धैर्य रखें. व्हाइट हाउस ट्रंप की व्यापार नीति का समर्थन करता है. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव साराह सेंडर्स ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राष्ट्रपति की व्यापार और आर्थिक नीतियों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था को काफी फायदा हुआ है. देश में विनिर्माण क्षेत्र में तीन लाख नौकरियों का सृजन हुआ. बेरोजगारी 3.8 फीसदी के 2000 के बाद के सबसे निम्न स्तर पर है, जबकि विनिर्माण क्षेत्र का विश्वास एतिहासिक ऊंचाई पर है.

Advertisement

Comments

Advertisement